Connect with us

Sports

Sourav Ganguly Jay Shah: सुप्रीम कोर्ट से मिला ग्रीन सिग्नल, सौरव गांगुली और जय शाह के BCCI में दूसरे कार्यकाल का खुला रास्ता

Published

on


Image Source : TWITTER
Sourav Ganguly and Jay Shah

Highlights

  • सुप्रीम कोर्ट ने BCCI को संविधान में संशोधन करने की दी इजाजत
  • सौरव गांगुली और जय शाह के BCCI में दूसरे कार्यकाल का खुला रास्ता
  • कोर्ट ने कूलिंग ऑफ पीरियड के नियम में बदलाव करने की दी इजाजत

Sourav Ganguly Jay Shah: सौरव गांगुली और जय शाह का बीसीसीआई में एक और टर्म के लिए बने रहने का रास्ता साफ हो गया है। यानी भारतीय बोर्ड के वर्तमान अध्यक्ष गांगुली और सचिव के पद पर अपनी भूमिका निभा रहे जय शाह अपने अपने पदों पर एक और कार्यकाल तक बने रह सकते हैं। इन दोनों शख्सियतों के कार्यकाल इस साल सितंबर में खत्म हो रहे हैं। बीसीसीआई के मौजूदा संविधान के मुताबिक गांगुली और शाह को कूलिंग ऑफ पीरियड में अगले तीन साल तक बोर्ड में काई पद नहीं मिल सकता था। इसी दिक्कत को दूर करने के लिए बीसीसीआई ने सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया था। भारत की सबसे बड़ी अदालत ने लगातार दो दिनों तक इस मामले की सुनवाई करते हुए भारतीय बोर्ड को अपने संविधान में संशोधन या बदलाव करने क अनुमति दे दी।

सुप्रीम कोर्ट ने बीसीसीआई को संविधान में संशोधन करने की दी इजाजत

पूर्व जस्टिस लोढ़ा की गाइडलान के हिसाब से बने संविधान के रूल नंबर 6 के मुताबिक कोई भी शख्स स्टेट एसोसिएशन और बीसीसीआई को मिलाकर लगातार दो कार्यकाल से ज्यादा अपने पद पर बना नहीं रह सकता या एसोसिएशन और बोर्ड से जुड़ा नहीं रह सकता। बोर्ड को इस पर आपत्ति थी लिहाजा उसने 2020 में अदालत का दरवाजा खटखटाया जिस पर अब जाकर कोर्ट ने अपना निर्णय सुनाया है। सुप्रीम कोर्ट ने भारतीय बोर्ड को संविधान के नियम 6 में बदलाव करने की इजाजत दे दी है।

सौरव गांगुली और जय शाह अगले 3 साल तक बने रह सकते हैं अपने पद पर  

बता दें कि पूर्व भारतीय कप्तान 2019 में बीसीसीआई अध्यक्ष पद पर चुने जाने से पहले बंदाल क्रिकेट बोर्ड के अध्यक्ष पद पर आसीन थे। वहीं जय शाह गुजरात एसोसिएशन से जुड़े हुए थे। यानी बोर्ड के संविधान के मुताबिक इन दोनों को तीन साल एसोसिएशन में और तीन साल भारतीय बोर्ड में गुजारने के कारण तीन साल के कूलिंग ऑफ (Cooling off) पीरियड में जाने की बाध्यता थी।

जस्टिस डीवाई चंद्रचूड़ और जस्टिस हिमा कोहली के बेंच ने बोर्ड की ओर से मामले को पेश कर रहे सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने दलील पेश की जिसपर अपना फैसला सुनाते हुए कोर्ट ने सौरव गांगुली और जय शाह को बड़ी राहत दे दी है।

अब 12 साल तक बीसीसीआई और स्टेट एसोसिएशन में रहने की इजाजत

कोर्ट के फैसले के बाद अब बीसीसीआई में तीन-तीन साल के लगातार दो कार्यकाल के बाद तीन साल के कूलिंग ऑफ पीरियड में जाना होगा। स्टेट एसोसिएशन पर भी यही नियम लागू होगा। लेकिन बोर्ड में दो कार्यकाल के बाद कोई भी शख्स किसी भी पद पर दो और कार्यकाल के लिए स्टेट एसोसिएशन से जुड़ सकता है। यानी अब अधिकतम 12 साल के कुल कार्यकाल के बाद किसी भी व्यक्ति को कूलिंग ऑफ में जाना होगा।

खास बात ये है कि भारतीय बोर्ड ने सुप्रीम कोर्ट में अपने संविधान में संशोधन करने की मांग सिर्फ अध्यक्ष और सचिव के कार्यकाल को लेकर की थी।   

Latest Cricket News





Source link

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Sports

लखनऊ सुपर जायंट्स वाली फ्रेंचाइजी ने क्विंटन डिकॉक को बनाया कप्तान, टीम ने कर दिया ऐलान

Published

on

By


ऐप पर पढ़ें

दक्षिण अफ्रीका के विकेटकीपर बल्लेबाज क्विंटन डिकॉक को उद्घाटन SA20 प्रतियोगिता के लिए डरबन सुपर जायंट्स का कप्तान बनाया गया है। ये टीम लखनऊ सुपर जायंट्स से संबंध रखती है, क्योंकि इस टीम के मालिक भी वही हैं, जो केएल राहुल की कप्तानी वाली टीम के हैं। 29 साल के डिकॉक दक्षिण अफ्रीका के एक दमदार खिलाड़ी हैं, जिन्हें कप्तानी करने का अनुभव भी है।

टी20 क्रिकेट में शीर्ष क्रम में उनकी आक्रामकता उन्हें एक डिमांडिंग प्लेयर बनाती है। 33 के औसत और 138 के स्ट्राइक रेट से उन्होंने अब तक क्रिकेट के इस प्रारूप में 8497 रन बनाए हैं। उन्होंने चार टेस्ट, आठ एक दिवसीय अंतरराष्ट्रीय और 11 टी20 अंतरराष्ट्रीय मैचों में दक्षिण अफ्रीका की कप्तानी की है। क्विंटन डिकॉक लखनऊ सुपर जायंट्स से भी जुड़े हए हैं। 

आईपीएल टीम लखनऊ सुपर जायंट्स का स्वामित्व और डरबन सुपर जायंट्स टीम का स्वामित्व समान समूह के पास है। डिकॉक ने तीनों प्रारूपों में प्रतिस्पर्धा की कठिनाई का हवाला देते हुए दिसंबर 2021 में टेस्ट क्रिकेट से संन्यास की घोषणा की। इसके अलावा वे काफी समय पहले नेशनल टीम की कप्तानी भी छोड़ चुके हैं। यही कारण है कि वे विदेशी लीगों के लिए उपलब्ध हैं। 

इंग्लैंड के टेस्ट कोच ब्रैंडन मैकुलम ने पाकिस्तान को दे दी चेतावनी, बताया कैसी रहेगी टीम की अप्रोच

डिकॉक के लिए 2022 का आईपीएल शानदार था, क्योंकि उन्होंने लगभग 150 की स्ट्राइक रेट से 508 रन बनाए थे। वहीं, सीपीएल में लगभग 130 की स्ट्राइक रेट से वे 221 रन बनाने में सफल हुए थे। हालांकि, इंग्लैंड में द हंड्रेड में उनका प्रदर्शन अच्छा नहीं रहा था और नहीं उनका T20 विश्व कप योजना के अनुसार चल सका, जहां ग्रुप स्टेज में नीदरलैंड से हारने के बाद दक्षिण अफ्रीका टूर्नामेंट से बाहर हो गया था। 



Source link

Continue Reading

Sports

इंग्लैंड के टेस्ट कोच ब्रैंडन मैकुलम ने पाकिस्तान को दे दी चेतावनी, बताया कैसी रहेगी टीम की अप्रोच

Published

on

By



इंग्लैंड की टीम के टेस्ट कोच ब्रैंडन मैकुलम ने पाकिस्तान को टेस्ट सीरीज से पहले चेतावनी दे दी है, क्योंकि अपनी टीम से अटैकिंग रहने के लिए कहा है, जो वे पिछले कुछ महीनों से करते चले आ रहे हैं।  



Source link

Continue Reading

Sports

Pro Kabaddi League: बंगाल वॉरियर्स के खिलाफ यूपी की शानदार जीत, प्रदीप नरवाल ने किया कमाल

Published

on

By


Image Source : PRO KABADDI LEAGUE
PRO Kabaddi League

Pro Kabaddi League: प्रो कबड्डी लीग के एक रोमांचक मुकाबले में यूपी योद्धा ने बंगाल वारियर्स को 33-32 से हराकर प्लेऑफ के लिए क्वालीफाई करने की अपनी स्थिति मजबूत कर ली है। यूपी की टीम फिलहाल 18 मैचों में 60 अंकों के साथ लीग टेबल में तीसरे स्थान पर है। इस मैच में शुरुआत से यूपी की टीम ने बढ़त बना रखी थी, लेकिन आखिर में बंगाल की टीम बराबरी के काफी करीब पहुंच गई। हालांकि यूपी के स्टार रेडर प्रदीप नरवाल ने कमाल का प्रदर्शन करते हुए अपनी टीम को जिता दिया।

प्रदीप नरवाल के दम पर जीती यूपी 

इस मैच में यूपी योद्धा ने पांचवें मिनट में 5-3 से बढ़त बना ली। हालांकि, वॉरियर्स ने सुपर टैकल किया और स्कोर को 5-5 से बराबर कर दिया। थोड़ी देर बाद, आशीष सांगवान ने रोहित तोमर का सामना किया। वारियर्स ने 9वें मिनट में 7-6 से बढ़त बना ली थी। हालांकि, विनोद कुमार एक रेड से चूक गए, जिससे योद्धाओं ने स्कोर 8-8 से बराबर कर लिया। योद्धाओं ने बेहतर प्रदर्शन करना जारी रखा और 15वें मिनट में 13-10 पर ऑल आउट कर दिया। योद्धाओं के आगे बढ़ने के साथ नरवाल ने टच पॉइंट लेना जारी रखा। स्टार रेडर ने एक मल्टी-पॉइंट रेड किया और अपनी टीम को हाफ-टाइम के स्ट्रोक पर 19-11 तक पहुंचाने में मदद की।

दूसरा हाफ शुरू होते ही बंगाल की टीम हुई ऑलआउट

योद्धाओं ने दूसरे हाफ के शुरुआती मिनट में ऑल आउट कर दिया और 22-11 से बड़ी बढ़त बना ली। यूपी की ओर से मनिंदर सिंह ने 23वें मिनट में 24-13 से मैच पर अपना दबदबा कायम रखा। योद्धाओं ने 27वें मिनट में 26-16 से बढ़त बना ली। मनिंदर सिंह के लिए योद्धाओं के डिफेंस को तोड़ना मुश्किल था क्योंकि यूपी की ओर से वॉरियर्स को मैट पर सिर्फ तीन सदस्यों तक सीमित कर दिया गया था।  मनिंदर ने 35वें मिनट में शानदार रेड की, लेकिन वॉरियर्स 22-32 पर बहुत पीछे रह गई। हालांकि, वॉरियर्स ने उम्मीद नहीं खोई। मनिंदर ने सुपर रेड की और उनकी टीम को 39वें मिनट में ऑल आउट करने में मदद की और 29-32 पर केवल तीन अंक पीछे रह गए।

इसके बाद एक रेड पर नरवाल ने सुनिश्चित किया कि पकड़े जाने से पहले उन्होंने एक बोनस अंक हासिल किया और यह सुनिश्चित किया कि उनकी टीम मैच के अंतिम सेकंड में 33-31 पर आगे रहे। मनिंदर ने एक और रेड मारा, जिससे अंतिम रेड से पहले योद्धा 32-33 पर सिर्फ एक अंक पीछे रह गए। लेकिन, तोमर ने सावधानी से कदम रखा और सुनिश्चित किया कि योद्धा मैच के अंत में विजेता के रूप में उभरे।





Source link

Continue Reading