Connect with us

Sports

Rishabh Pant News: जानिए ऋषभ पंत को कहां-कहां लगी चोट, क्या फिर खेल पाएंगे क्रिकेट?

Published

on


नई दिल्ली: क्रिकेट के मैदान में चोट ने कई क्रिकेटरों का का करियर खत्म कर दिया। कई खिलाड़ी तो चोट के बाद वापसी तो कर लिए लेकिन फिर उनका प्रदर्शन पुराने जैसा नहीं हो सका। ऐसे में सवाल उठ रहा है कि भारत के स्टार विकेटकीपर बल्लेबाज ऋषभ पंत की चोट के बाद उनके करियर पर क्या असर होगा। वैसे दुनिया में ऐसे तमाम उदाहरण भरे पड़े हैं जहां खिलाड़ी चोट के बाद मैदान पर शानदार वापसी की है। पंत भी जीवट खिलाड़ी हैं और वो इस मुसीबत से भी और मजबूत होकर बाहर निकलेंगे। गौरतलब है कि भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) ने जो रिलीज जारी की है, उसके अनुसार पंत को घुटने, टखने में चोट लगी है। एक विकेटकीपर बल्लेबाज के लिए घुटने की चोट अच्छी नहीं मानी जाती है। क्योंकि विकेटकीपर विकेट के पीछे उठक-बैठक करके कीपिंग करता है। ऐसे में पंत के लिए आने वाला वक्त थोड़ा मुश्किल भरा जरूर हो सकता है।

कहां-कहां लगी पंत को चोट
बीसीसीआई ने जो बयान जारी किया है उसके अनुसार, पंत के माते, दाहिने घुटने का लिगामेंट, दाहिनी कलाई, टखना, पंजा और पीठ में चोट लगी है। पंत की हालत अभी स्थिर है और उनको देहरादून के मैक्स अस्पताल में शिफ्ट किया गया है। जहां उनकी एमआरआई होगी ताकि वास्तविक चोटों का पता चल पाए। इसके बाद पंत के ट्रीटमेंट शुरू होगा।

Rishabh Pant BCCI: ऋषभ पंत का करियर बर्बाद नहीं होने देगा BCCI, सचिव जय शाह ने दिलाया क्रिकेटर की मां को भरोसालिगामेंट की चोट कितनी खतरनाक?
आम तौर पर लिगामेंट टियर की चोट खिलाड़ियों को ही होती है। लेकिन ऐसी चोट खिलाड़ियों को मैदान में लगती है। पर पंत को यह चोट कार दुर्घटना में लगी है। दरअसल, लिगामेंट घुटनों को कसकर पकड़कर रखता है और ज्वाइंट के मूवमेंट में यह घुटने को सपोर्ट देता है। अगर लिगामेंट टियर डैमेज हो जाता है तो घुटने का ज्वाइंट हिल जाता है। ऐसे में खड़े होने से लेकर चलने तक में तकलीफ होती है। अगर मेडिकल ट्रीटमेंट से यह तकलीफ ठीक नहीं होती है तो इसके लिए सर्जरी करनी होती है। अब एमआरआई में ही यह पता चल पाएगा कि पंत की चोट कितनी खतरनाक है।
Rishabh Pant Accident: ऋषभ पंत के एक्सीडेंट से क्रिकेट वर्ल्ड में कोहराम, सहवाग से शमी तक ने सलामती के मांगी दुआएं
विकेटकीपर बल्लेबाज के करियर पर क्या होगा असर?

क्रिकेट में विकेटकीपर की भूमिका काफी अहम होती है। पंत एक बेहतरीन क्रिकेटर हैं। ऐसे में उनको लगी घुटने की चोट अच्छी खबर तो नहीं ही है। चूंकि विकेटकीपर झुककर, बैठकर और डाइव लगाते हुए टीम के काम आता है, ऐसे में पंत की इस चोट ने बीसीसीआई के माथे पर भी बल ला दिया है। यही नहीं, बतौर खिलाड़ी भी पंत के लिए मुश्किलें हो सकती हैं। लिगामेंट टियर डैमेज होने के बाद इससे उबरने में काफी वक्त लगता है। बीसीआई ने पंत को हर संभव मदद का भरोसा दिया है, लेकिन पंत के लिए आने वाला वक्त थोड़ा मुश्किल भरा हो सकता है। क्योंकि इस तरह की चोट में रिहैबलिटेशन में काफी वक्त लगता है।

चोट से कई खिलाड़ियों के करियर का हुआ है अंत

साउथ अफ्रीका के मशहूर विकेटकीपर बल्लेबाज मार्क बाउचर का अंत भी एक चोट के कारण ही हुआ था। बाउचर को मॉडर्न गेम के सबसे बेहतरीन विकेटकीपरों में जाना जाता है। इस महान खिलाड़ी का करियर एक चोट से ही खत्म हुआ। एक गेंद बाउचर की आंख पर लगी और इसके बाद बाउचर ने क्रिकेट फील्ड पर वापसी नहीं की। इंग्लैंड के लिए खेलने वाले साइमन जोन्स को फील्डिंग के दौरान घुटने में चोट लगी थी। यह चोट इतनी खतरनाक थी कि जोन्स का करियर ही खत्म हो गया।

पर पंत तो योद्धा हैं

ये जरूर है कि पंत की चोट मुश्किल बढ़ाने वाली है लेकिन पंत योद्धा रहे हैं। वह मुश्किल वक्त से कई बार निकलकर निखरकर सामने आए हैं। पंत भले ही दुर्घटना के शिकार हुए हैं लेकिन वह गजब के जीवट खिलाड़ी हैं। वो मुश्किलों से कैसे निकला जाता है, जानते हैं। उन्हें चोट जरूर लगी है। पर मुसीबतों से पार आना पंत को आता है। एक योद्धा की तरह वह इस मुसीबत से बाहर निकलेंगे। हां थोड़ा बहुत वक्त जरूर लग सकता है।



Source link

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Sports

IND vs AUS: ऑस्ट्रेलिया को सीरीज से पहले झटके पर झटका, स्टार्क के बाद एक और स्टार गेंदबाज नागपुर टेस्ट से बाहर!

Published

on

By


नई दिल्ली: बॉर्डर गावस्कर टेस्ट सीरीज के लिए ऑस्ट्रेलिया की टीम भारत (IND vs AUS) पहुंच गई है। बेंगलुरू में टीम का कैंप लगा है। खिलाड़ी भारत को टक्कर देने के लिए तैयारी कर रहे हैं। 9 फरवरी में नागपुर में टेस्ट सीरीज का पहला मैच खेला जाएगा। लेकिन इससे पहले ऑस्ट्रेलिया की लिए बुरी खबर है। टीम के तेज गेंदबाज मिचेल स्टार्क पहले ही टेस्ट सीरीज के पहले मुकाबले से बाहर हैं। अब एक और खिलाड़ी बाहर हो गया है।

चोट से नहीं उबरे हेजलवुड

मिचेल स्टार्क के साथ ही तेज गेंदबाज जोश हेजलवुड भी भारत के खिलाफ पहला टेस्ट नहीं खेल पाएंगे। क्रिकबज की रिपोर्ट में इसका दावा किया गया है। पिछले महीने सिडनी टेस्ट के दौरान उनके बाएं पैर में चोट लगी थी। वह अभी तक इससे पूरी तरह नहीं उबर पाए हैं। टीम के प्री सीरीज कैंप में हेजलवुड ट्रेनिंग नहीं कर रहे हैं। वह सिर्फ साथी खिलाड़ियों की मदद करते देखे जा रहे हैं।

दूसरा टेस्ट 17 फरवरी से दिल्ली में होना है। इस मैच में भी जोश हेजलवुड का खेलना मुश्किल दिख रहा है। टीम की ट्रेनिंग के बाद उन्होंने कहा, ‘पहले टेस्ट का अभी कुछ पक्का नहीं है। इसके शुरू होने में कुछ दिन बाकी हैं। दूसरी भी इसके तुरंत बाद ही है।’

स्टार्क भी चोटिल

टीम के प्रमुख तेज गेंदबाज मिचेल स्टार्क भी चोटिल हैं। दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ टेस्ट सीरीज के दौरान स्टार्क की उंगलियों में चोट लगी थी। इसकी वजह से वह भारत के खिलाफ टेस्ट सीरीज का पहला मैच नहीं खेल पाएंगे। इन दोनों गेंदबाजों के बाहर होने पर स्कॉट बोलैंड को मौका मिल सकता है। वह पैट कमिंस के साथ टीम के दूसरे तेज गेंदबाज हो सकते हैं।

टेस्ट सीरीज के लिए ऑस्ट्रेलिया की टीम: पैट कमिंस (कप्तान), स्कॉट बोलैंड, एलेक्स कैरी, कैमरन ग्रीन, पीटर हैंड्सकॉम्ब, जॉश हेजलवुड, ट्रेविस हेड, एश्टन एगर, उस्मान ख्वाजा, डेविड वॉर्नर, मार्नस लाबुशेन, नाथन लायन, लांस मॉरिस, टॉड मर्फी, मैथ्यू रेनशॉ, स्टीव स्मिथ, मिचेल स्टार्क, मिचेल स्वेपसन।

IND vs AUS: इस बार ऑस्ट्रेलिया से हार जाएगा भारत… टीम इंडिया के पूर्व कोच ने क्यों कहा ऐसाIND vs AUS: डुप्लीकेट को ही नहीं झेल पाए स्मिथ, इतनी बार हुए बोल्ड, अश्विन को क्या खाक खेलेंगेIND vs AUS: पाकिस्तानी मूल के क्रिकेटर का हिंदी में ट्वीट, प्लेन में बैठते ही टीम इंडिया को भेजी चेतावनी!



Source link

Continue Reading

Sports

IND vs AUS: हीली के ‘अनफेयर पिच’ कमेंट पर वेंकटेश प्रसाद ने कसा तंज, बोले- ऑस्ट्रेलिया ने इन सीरीज में हार के लिए तैयार की पिच

Published

on

By


ऐप पर पढ़ें

भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच 9 फरवरी से चार टेस्ट मैचों की बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी का आगाज हो रहा है। ऑस्ट्रेलियाई टीम साल 2017 के बाद पहली बार भारत में टेस्ट सीरीज खेलेगी। ऑस्ट्रेलिया ने 2004 से भारत में टेस्ट सीरीज नहीं जीती है और अब टीम की नजर इस तिलिस्म को तोड़ने पर है। हालांकि, ऑस्ट्रेलिया के पूर्व दिग्गज क्रिकेटर्स को भारत में स्पिनिंग ट्रैक का डर सता रहा है। पूर्व कंगारू दिग्गज विकेटकीपर इयान हीली ने हाल ही में कहा था कि अगर ‘फेयर विकेट’ मिला तो ऑस्ट्रेलिया के पास जीतने का अच्छा मौका होगा लेकिन ‘अनफेयर पिच’ पर भारतीय टीम का पलड़ा भारी रहेगा।

हीली के कमेंट पर खूब चर्चा हो रही है। क्रिकेट विशेषज्ञों का कहन है कि घरेलू टीम का अपने हिसाब से पिच तैयार करना पूरी तरह उचित है, जिसमें अनफेयर कुछ भी नहीं। टीम इंडिया के पूर्व कोच जॉनी राइट से लेकर रविचंद्रन अश्विन ने हीली की बात पर ऐतराज जताया है। वहीं, अब भारत के पूर्व गेंदबाज वेंकटेशन प्रयास ने भी हीली को आड़े लिया है और तंजिया अंदाज में जवाब दिया है। उन्होंने अपने अधिकारिक ट्विटर पर लिखा, ”तो क्या ऑस्ट्रेलिया ने 2018-19 और 2020-21 में भारत के खिलाफ अपनी सरजमीं पर दोनों टेस्ट सीरीज हार के लिए अनफेयर पिच तैयार की थी।”

गौरतलब है कि भारत ने 2018-19 में ऑस्ट्रेलिया दौरे पर चार टेस्ट की सीरीज 2-1 से अपने नाम की थी, जोकि एतिहासिक थी। एक मैच ड्रॉ रहा था। यह भारत की ऑस्ट्रेलियाई सरमजीं पर 71 साल में पहली टेस्ट सीरीज जीत थी। पुजारा का सीरीज में जमकर बल्ला चला था। उन्होंने कुल 521 रन बनाए थे। वह प्लेयर ऑफ द सीरीज चुने गए थे। वहीं, टीम इंडिया ने 2020-21 में भी ऑस्ट्रेलिया दौरे पर चार टेस्ट की सीरीज 2-1 से जीती। सीरीज का एक मैच ड्रॉ पर छूटा था।



Source link

Continue Reading

Sports

Pervez Musharraf Death: धोनी की हेयरस्टाइल के कायल थे परवेज मुशर्रफ, मैच के बाद दी थी खास सलाह, देखें वीडियो

Published

on

By


नई दिल्ली: पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ (Pervez Musharraf) का निधन हो गया है। लंबे समय से बीमार चल रहे मुशर्रफ का निधन दुबई में हुआ है। वह 2001 से 2008 के बीच पाकिस्तान के राष्ट्रपति के पद पर थे। सेना और राजनीति में होने के साथ ही परवेज मुशर्रफ क्रिकेट के जबरदस्त फैन थे। काफी मौकों पर वह मैच देखने स्टेडियम पहुंचते थे। 2004 में जब भारत ने पाकिस्तान का दौरा किया था, जब उन्हें मैच देखते स्टेडियम में देखा गया था।

धोनी को दी थी सलाह

परवेज मुशर्रफ भारतीय टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी की हेयरस्टाइल के कायल थे। 2006 में भी भारतीय टीम ने पाकिस्तान का दौरा किया था। वह समय धोनी के बड़े बाल हुआ करते थे। धोनी ने उस सीरीज में बल्ले से भी कमाल किया था। अवॉर्ड सेरेमनी के दौरान परवेज मुशर्रफ को बोलने का मौका मिला। उन्होंने भारतीय टीम को जीत की बधाई देने के साथ ही कहा- मैंने एक प्लेकार्ड देखा जिस पर लिखा था ‘धोनी बाल कटवा लो’। अगर आप मेरी राय लें तो यह अच्छा लगता है… बाल मत कटवाएं।

2007 में कटवा लिये बाल

महेंद्र सिंह धोनी करियर की शुरुआत में अपने लंबे बालों को लेकर खूब चर्चा में रहते थे। लेकिन 2007 में टी20 वर्ल्ड कप जीतने का बाद माही ने बाल कटवा लिया थे। भारत ने टूर्नामेंट के फाइनल मुकाबले में पाकिस्तान को ही हराया था। उसके बाद सभी को चौंकाते हुए धोनी ने अपने बाल कटवा दिये। इसके बाद दोबारा कभी उन्होंने पहले जैसे लंबे बाल नहीं किये।

मुशर्रफ लंबे समय से थे बीमार

79 साल के परवेज मुशर्फ लंबे समय से बीमार चल रहे थे। 2016 में उनपर देशद्रोह के आरोप लगे थे। मामला कोर्ट में पहुंचा और उन्हें भगोड़ा घोषित कर दिया गया। तभी से वह दुबई में रह रहे थे। वह अमाइलॉइडोसिस बीमारी से जूझ रहे थे। उनके अंगों ने भी काम करना बंद करने दिया था।

IND vs NZ: खुद को MS Dhoni का ‘अवतार’ क्यों बता रहे हैं हार्दिक पंड्या, इस बयान से समझिएJoginder Sharma Retirement: ऑस्ट्रेलिया सीरीज से पहले भारत के विश्व विजेता क्रिकेटर का संन्यास, अब सिर्फ पुलिस की वर्दी में दिखेगी दबंगईPervez Musharraf Passed Away: पाकिस्तानी सैन्य तानाशाह जनरल परवेज मुशर्रफ का निधन, बंदूक के दम पर किया था देश पर राज



Source link

Continue Reading