Connect with us

TRENDING

Republic Day 2023: वीरता पुरस्कारों का ऐलान, मेजर शुभांग और नायक जितेंद्र सिंह को कीर्ति चक्र

Published

on


Image Source : पीटीआई/फाइल
प्रतीकात्मक तस्वीर

नई दिल्ली:  गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर वीरता पुरस्कारों का ऐलान किया गया। मेजर शुभंग और नायक जितेंद्र सिंह को उनकी वीरता के लिए कीर्ति चक्र दिया जाएगा। वहीं मेजर आदित्य भदौरिया, कैप्टन अरुण कुमार, कैप्टन युद्धवीर सिंह, कैप्टन राकेश टीआर, नायक जसवीर सिंह (मरणोपरांत), लांस नायक विकास चौधरी और जम्मू-कश्मीर पुलिस के कॉन्सेटबल मुदस्सर अहमद शेख (मरणोपरांत) को शौर्य चक्र वीरता सम्मान मिलेगा।

राष्ट्रपति ने गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर सशस्त्र बलों के कर्मियों और अन्य को 412 वीरता पुरस्कारों और अन्य रक्षा अलंकरणों को मंजूरी दी है। इनमें चार मरणोपरांत सहित छह कीर्ति चक्र शामिल हैं, दो मरणोपरांत सहित 15 शौर्य चक्र शामिल हैं।

पीएम मोदी की रैली को आतंकी हमले से बचानेवाले कैप्टन को शौर्य चक्र

पिछले साल 24 अप्रैल को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जम्मू में एक पब्लिक रैली को संबोधित करनेवाले थे। रैली पर संभावित फिदायीन हमले की खुफिया सूचना मिली थी।    9 पैरा (स्पेशल फोर्स) के अलर्ट ट्रूप कमांडर कैप्टन राकेश टीआर को इलाके में किसी भी आतंकी हमले को विफल करने की जिम्मेदारी सौंपी गई थी। कैप्टन राकेश को सुरक्षा बलों के काफिले पर आतंकवादियों के हमले का इनपुट मिला था।

कैप्टन राकेश और उनकी टीम ने आतंकवादियों को घेर लिया। खुद को चारों तरफ से घिरा हुआ पाकर आतंकवादी भारी गोलीबारी करते हुए आबादी वाले इलाके में भागने की कोशिश करने लगे। कैप्टन राकेश ने नागरिकों के जीवन  पर खतरे को भांपते हुए और अपनी सुरक्षा की परवाह न करते हुए भारी गोलाबारी के बीच एक आतंकवादी को ढेर कर दिया  था।

 

Latest India News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। National News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन





Source link

TRENDING

मक्के और अरहर के बीच हो रही थी अफीम की खेती, जानें कहां हो रहा था ‘स्मार्ट’ खेल

Published

on

By


Image Source : PIXABAY REPRESENTATIONAL
बिहार में अफीम की अवैध फसल को पुलिस ने नष्ट कर दिया।

औरंगाबाद: बिहार में होम्योपैथ की दवा से शराब बनाने के बाद अब जुगाड़ से अफीम की खेती का एक हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है। सूबे के औरंगाबाद जिले के मदनपुर और ढिबरा थाना क्षेत्र में करीब 10 एकड़ जमीन में अवैध रूप से लगायी गयी अफीम की फसल को पुलिस ने नष्ट किया है। पुलिस अधीक्षक स्वप्ना गौतम मेश्राम ने मंगलवार की शाम आयोजित एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया कि मदनपुर थाना अंतर्गत बादम गांव और ढ़िबरा थाना अंतर्गत छुछिया, ढाबी एवं महुआ गांव के जंगली इलाके में अफीम की खेती किये जाने की खुफिया जानकारी मिली थी।

‘चारों ओर लगाई थी मक्का और अरहर की फसलें’

एसपी ने बताया कि इन इलाकों के लोगों की नजर से छिपाने के लिए अफीम की फसल के चारों ओर कुछ दूरी तक वैसी मक्का और अरहर जैसी फसलें लगाई गई थीं, जिनकी ऊंचाई अधिक थी। मेश्राम ने बताया कि मदनपुर थाना क्षेत्र में करीब 3 एकड़ और ढिबरा थाना क्षेत्र में करीब 7 एकड में लगायी गयी अफीम की अवैध फसल को नष्ट करने के लिए पुलिस की 2 अलग-अलग टीमों का गठन किया गया था। पुलिस द्वारा नष्ट की गयी अफीम की फसल की कीमत करीब 20 करोड़ रुपये आंकी गयी है। अफीम की फसल में मोटी-मोटी गांठे उभर आई थी जिसका मतलब है के यह जल्द ही तैयार होने वाली थी।

‘इस मामले में अभी किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है’
बता दें कि पौधों की इन्हीं गांठों में चीरा लगाया गया था ताकि उनसे निकलने वाले चिपचिपे पदार्थ को जमा कर अफीम तैयार किया सके। पुलिस अधीक्षक ने बताया कि इस मामले में तत्काल किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है और अभी अफीम की खेती करनेवालों को चिन्हित किया जा रहा है। इस तरह की खेती करने वालों पर सख्त कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने कहा कि माओवादियों द्वारा अफीम की खेती कराने की संभावना से इनकार नहीं किया जा सकता। इन इलाकों में पहले भी माओवादियों द्वारा अफीम की खेती कराने के कई मामले सामने आ चुके हैं।

यह भी पढ़ें:

मुस्लिम दबंगों के डर से घर में कैद हुआ दलित परिवार, पुलिस पर लग रहे गंभीर आरोप

‘हवाबाजी, लफ्फाजी…’, अडानी मुद्दे पर राहुल गांधी को रविशंकर प्रसाद ने दिया जवाब

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। News in Hindi के लिए क्लिक करें बिहार सेक्‍शन





Source link

Continue Reading

TRENDING

ये 7 स्मार्ट शॉपिंग टिप्स आपको मुंबई में बड़ी खरीदारी करने और बड़ी बचत करने में मदद करेंगे

Published

on

By



मुंबई में खरीदारी करते समय ये 7 टिप्स जरूर याद रखें 

1. अपना बजट निर्धारित करें

मुंबई में खरीदारी के विकल्पों की कोई कमी नहीं है; इसके लिए आपको केवल पैसों की आवश्यकता है. एक बार जब आप अपना बजट निर्धारित कर लेते हैं तो आपको शॉपिंग करने में काफी आसानी होती है. इससे आप अंदाजा लगा पाएंगे कि आपको किन-किन चीजों की खरीदारी करनी है और आपको किन चीजों की जरूरत है. इसमें विंडो शॉपिंग, स्ट्रीट स्टॉल पर मोलभाव करना, मॉल से कपड़े चुनना, किसी फाइव स्टार होटल के डिज़ाइनर स्टोर से अपना बैग मोनोग्राम बनवाना या मुंबई में स्थित वेंडर्स की एक लिस्ट से NDTV बिग बोनस ऐप का उपयोग करके ऑनलाइन खरीदारी करना शामिल हो सकता है.

2. अपनी पसंद का स्ट्रीट मार्केट चुनें

मुंबई में शहर के बीचोबीच और यहां तक कि उपनगरों में भी स्ट्रीट मार्केट हैं. इनमें कैजुअल स्ट्रीट शॉपिंग के लिए लिंकिंग रोड, एथनिक मटेरियल के लिए मंगलदास मार्किट, ज्वेलरी और एक्सेसरीज के लिए कोलाबा कॉजवे और लेदर के सामान के लिए धारावी बाजार शामिल हैं. फैशन के दायरे से बाहर, घर की सजावट के लिए ज़ावेरी बाजार, मसालों के लिए लालबाग बाजार, ताजे फूलों के लिए दादर फूल मार्किट और इलेक्ट्रॉनिक्स के लिए लोखंडवाला मार्किट है.

3. खरीदारी करते समय कमाएं

मुंबई में खरीदारी करने से न केवल आपका बटुआ खाली होता है, बल्कि यह आपको कमाने में भी मदद कर सकता है. हां, यह सही है, आप खर्च करते हुए कमा सकते हैं. एनडीटीवी बिग बोनस ऐप आपको ऐसा करने में मदद करता है. साइन अप करने और अपने कार्ड को लिंक करने के बाद, आप मुंबई में स्थित पॉपुलर ब्रांडों की लंबी लिस्ट से सामान खरीद सकेंगे. ऐप पर आपके द्वारा रजिस्टर्ड कार्ड के माध्यम से, आप स्टोर में या सीधे ऐप पर भुगतान कर सकेंगे और सभी खरीदारी के लिए कैशबैक अर्जित कर सकेंगे.

4.डिस्काउंट डेट्स का ध्यान रखें

वर्ष के स्पेसिफिक दिनों में, मुंबई में कुछ मॉल अपने स्टोर आधी रात तक खुले रखते हैं और अपने प्रोडक्ट्स पर कम कीमतों की पेशकश करते हैं. बजट स्टोर्स से लेकर डिजाइनर आउटलेट्स तक कई ब्रैंड्स इनमें हिस्सा लेते हैं. जब आप मुंबई में हों तो इन पर नज़र रखें, क्योंकि खरीदारी करते समय बचत करने का यह एक और अचूक तरीका है.

5. ऑनलाइन ब्रांडों को फॉलो करें

चाहे वह किसी मॉल में स्टोर हो या कोई कस्टम डिज़ाइनर, जिसका मुंबई के किसी पॉश इलाके में स्टोर हो, अधिकांश ब्रांडों की ऑनलाइन उपस्थिति होती है और जब वे छूट दे रहे होते हैं तो अपने फेसबुक, ट्विटर और इंस्टाग्राम पेज पर पोस्ट करते हैं. कुछ मामलों में, ये सेल केवल कुछ दिनों के लिए होती है, इसलिए सुनिश्चित करें कि आप उनके बेस्ट डील के बारे में अधिक जानने के लिए उनको ऑनलाइन फॉलो करें.

6. फ्ली मार्केट्स

 मुंबई में कई बाहरी स्थान हैं, जो नियमित रूप से फ्ली मार्केट्स और फार्मर्स मार्किट की मेजबानी करते हैं. उन पर जाकर, आप उनसे ऐसे प्रोडक्ट्स खरीद सकेंगे जो शायद आपको ऑनलाइन न मिलें, और आप ऐसे ब्रांड भी खोज सकते हैं, जिनके बारे में आपने पहले कभी नहीं सुना हो.

7. सेल सीजन के दौरान मॉल जाएं

मॉल में खरीदारी साल भर उपलब्ध रहती है, लेकिन आपको केवल सेल सीजन में सबसे अच्छे ऑफर मिलेंगे. मुंबई में, वे जनवरी और जुलाई के महीनों के दौरान होते हैं, जिसमें ब्रांड की स्मॉलर सेमी-एनुअल बिक्री शामिल नहीं होती है. सेल के इन महीनों को मिस न करें क्योंकि इस अवधि के दौरान डिस्काउंट वास्तव में बहुत बड़ा हो सकता है.

 

Featured Video Of The Day

दिल्ली में मेयर चुनाव को लेकर ‘आप’ और BJP के बीच घमासान, जिम्मेदार कौन?



Source link

Continue Reading

TRENDING

हैलो, क्या आप सुरक्षित हैं, तुर्की में तबाही के बाद भारत में रह रहे रिश्तेदार चिंतित; फोन से पूछ रहे हाल

Published

on

By



ऊंसल ने कहा कि तुर्की मूल के कुछ लोगों की जब अपने परिवार के सदस्यों से फोन पर बातचीत नहीं हो पाई, तो वे अपने देश के लिए रवाना हो गये। ऊंसल 25 साल पहले दिल्ली आ गये थे, जबकि ज्यादातर लोग वही रहे।



Source link

Continue Reading