Connect with us

TRENDING

NDA और INDIA में किसे सपोर्ट करेगी BRS, तेलंगाना सीएम KCR ने साफ की अपनी स्थिति

Published

on


ऐप पर पढ़ें

लोकसभा चुनाव 2024 में भारतीय जनता पार्टी के नेतृत्व वाले NDA का मुकाबला करने के लिए विपक्षी दलों ने INDIA नाम से गठबंधन बनाया है। देश भर में अभी भी कई ऐसे राजनीतिक दल हैं जिन्होंने इन दोनों को लेकर अभी तक अपनी स्थिति साफ नहीं की है। इस बीच, तेलंगाना के मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव ने गठबंधन की राजनीति को लेकर बुधवार को बड़ा बयान दिया। उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी NDA या INDIA में से किसी का समर्थन नहीं करेगी।

केसीआर ने पत्रकारों से बात करते हुए कहा, ‘हम न तो किसी के साथ हैं और न ही किसी के संग रहना चाहते हैं। मगर, हम अकेले भी नहीं हैं और हमारे पास दोस्त भी हैं।’ उन्होंने ‘न्यू इंडिया’ को लेकर विपक्ष की आलोचना की और कहा कि वे भाजपा से पहले सत्ता में थे और किसी तरह का बदलाव नहीं ला सके। तेलंगाना के मुख्यमंत्री का यह बयान ऐसे समय आया है जब दो गैर-बीजेपी पार्टियों (बीजू जनता दल और वाईएसआर कांग्रेस पार्टी) ने दिल्ली सेवा विधेयक पर केंद्र को समर्थन दिया है। साथ ही INDIA की ओर से केंद्र सरकार के खिलाफ लाए गए अविश्वास प्रस्ताव का भी विरोध किया है। 

बीआरएस ने दिल्ली सर्विस बिल का किया विरोध

BRS ने अपने सभी राज्यसभा सदस्यों को सदन में उपस्थित रहने और दिल्ली में सेवाओं से जुड़े अध्यादेश संबंधी विधेयक के खिलाफ मतदान करने के लिए व्हिप जारी किया था। पार्टी की ओर से जारी बयान में कहा गया कि इन सभी सदस्यों को 31 जुलाई से 4 अगस्त के बीच और विधेयक पर मतदान खत्म होने तक सदन में उपस्थित रहना है। मालूम हो कि उच्च सदन में बीआरएस के 7 सदस्य हैं। दरअसल, केंद्रीय मंत्रिमंडल ने दिल्ली में समूह-A के अधिकारियों की नियुक्ति और ट्रांसफर को सुगम बनाने के लिए प्राधिकार गठित करने के प्रावधान वाले विधेयक को पिछले हफ्ते मंजूरी दी थी।

NDA या INDIA की बैठकों से BRS की दूरी 

केसीआर की पार्टी ने अब तक INDIA गठबंधन की दोनों राष्ट्रीय स्तर की बैठकों में भाग नहीं लिया है। BRS जुलाई के मध्य में नई दिल्ली में आयोजित 38 दलों की भाजपा के नेतृत्व वाली मेगा बैठक में भी नहीं दिखाई दी। INDIA के गठन के बाद तेलंगाना के मुख्यमंत्री की यह पहली प्रतिक्रिया है। इससे पहले भी उन्होंने साफ किया था कि वह विपक्ष या एनडीए की एकता की कोशिशों में शामिल नहीं होंगे। KCR ने कहा कि बीआरएस को एक पार्टी को हटाकर दूसरी पार्टी को केंद्र की सत्ता में लाने में दिलचस्पी नहीं है। मालूम हो कि केसीआर ने पिछले साल अक्टूबर में अपने दल TRS का नाम बदलकर BRS (भारत राष्ट्र समिति) कर दिया था। इसके साथ ही उन्होंने राष्ट्रीय राजनीति में प्रवेश ऐलान किया था।



Source link

TRENDING

मराठा कोटा के लिए भूख हड़ताल करने वाले ने लगाई फांसी, 13 महीने का है बच्चा

Published

on

By



खुदकुशी करने वाले शख्स की पहचान सुदर्शन देवराय के रूप में की है। देवराय ने नांदेड़ जिले की हिमायतनगर तहसील में रविवार आधी रात के बाद कथित तौर पर खुदकुशी कर ली।



Source link

Continue Reading

TRENDING

भारत ने कनाडा के राजनयिक को निकाला, 5 दिन में देश छोड़ने का आदेश

Published

on

By


Image Source : PTI/AP
भारत-कनाडा।

कनाडा और भारत के बीच कूटनीतिक रिश्ते बुरे दौर में जाते हुए दिखाई दे रहे हैं। कनाडाई पीएम जस्टिन ट्रूडो द्वारा भारत पर अनर्गल आरोपों के बाद कनाडा ने भारतीय राजनयिक को बर्खास्त कर दिया था। अब इस कदम के जवाब में भारत सरकार ने भी कनाडा के खिलाफ कड़ा रुख अपनाया है। भारत सरकार ने भी एक वरिष्ठ कनाडाई राजनयिक को बर्खास्त कर दिया है और उन्हें 5 दिनों में देश छोड़ने का आदेश दिया है। 

उच्चायुक्त तलब


कनाडाई पीएम जस्टिन ट्रूडो के भारत विरोधी कदमों के बाद भारत सरकार के विदेश मंत्रालय ने विरोध जताने के लिए भारत में कनाडा के उच्चायुक्त कैमरून मैकेई को तलब किया था। ऐसा माना जा रहा था कि कनाडा को जवाब देने के लिए भारत सरकार भी कड़ा कदम उठा सकती है। 

विदेश मंत्रालय का बयान

भारतीय विदेश मंत्रालय ने जारी किए गए बयान में कहा है कि भारत में कनाडा के उच्चायुक्त कैमरून मैकेई को आज तलब किया गया। उन्हें भारत में रह रहे एक वरिष्ठ कनाडाई राजनयिक को निष्कासित करने के भारत सरकार के फैसले के बारे में सूचित किया गया। संबंधित राजनयिक को अगले पांच दिनों के भीतर भारत छोड़ने के लिए कहा गया है। विदेश मंत्रालय ने कहा कि यह निर्णय हमारे आंतरिक मामलों में कनाडाई राजनयिकों के हस्तक्षेप और भारत विरोधी गतिविधियों में उनकी भागीदारी पर भारत सरकार की बढ़ती चिंता को दर्शाता है।

क्यों तल्ख हुए रिश्ते?

G-20 समिट में फटकार खाने के बाद कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो भारत विरोधी कदमों में जुट गए हैं। ट्रू़डो ने खालिस्तानी आतंकी हरदीप सिंह निज्जर की हत्या का कनेक्शन भारत से जोड़ते हुए भारत के एक राजनयिक को निकाल दिया था। हालांकि, भारत सरकार ने कनाडाई पीएम के आरोपों को बेबुनियाद और आधारहीन करार दिया है। भारत ने साथ ही कनाडा से आतंकी तत्वों पर कार्रवाई करने की मांग की है। भारत ने कहा है कि इस तरह के बयान खालिस्तानियों से ध्यान हटाने के लिए दिए गए हैं।

Latest India News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। National News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन





Source link

Continue Reading

TRENDING

Parliament Session New Bill: महिला आरक्षण से ही होगा नई संसद का ‘श्रीगणेश’, आज ही पेश करने की तैयारी

Published

on

By


ऐप पर पढ़ें

महिला आरक्षण बिल को लेकर स्थिति लगभग साफ होती नजर आ रही है। खबर है कि सरकार मंगलवार को ही संसद में बिल पेश कर सकती है। हालांकि, इसे लेकर आधिकारिक तौर पर कुछ नहीं कहा गया है। सोमवार को कैबिनेट बैठक में विधेयक पर मुहर लगा दी गई थी। इधर, महिला आरक्षण का श्रेय लेने के लिए कांग्रेस और भारतीय जनता पार्टी में होड़ लगती नजर आ रही है।

खास बात है कि मंगलवार से ही विशेष सत्र नए संसद भवन में पहुंच रहा है। ऐसे में अगर सरकार महिला आरक्षण बिल आज पेश कर देती है, तो नई संसद में पेश होने वाला यह पहला बिल होगा। हालांकि, यह बिल करीब 27 सालों से लंबित है और कांग्रेस की अगुवाई वाली UPA सरकार ने साल 2010 में इसे राज्यसभा में पास करा लिया था।



Source link

Continue Reading