Connect with us

Fashion

International Coffee Day: आप भी हैं काॅफी लवर तो शामिल हों इस काॅफी क्विज में

Published

on



You should know these quiz facts

चाय के बाद एक कॉफी ही है जो सबसे ज्यादा ड्रिंक के रूप में पी जाती है। दुनिया भर की करोड़ों आबादी कॉफी का सेवन करती है। इस ड्रिंक को लोग स्ट्रेस बूस्टर की तरह सेवन करते हैं। कई बार ऐसा होता है कि हम रेस्टोरेंट या कॉफी शॉप में जाते हैं। लेकिन इसके अलग-अलग नाम सुनकर कन्फ्यूज़ हो जाते हैं। अगर आप कॉफी लवर हैं तो आपको कुछ सवालों के जवाब जरूर जानना चाहिए।

दुनिया में प्रतिदिन 225 बिलियन कप से भी अधिक कॉफी की खपत होती है। यानी प्रति व्यक्ति औसतन 2.5 कप कॉफी की खपत है। कॉफी का 90 प्रतिशत उत्पादन विकासशील देशों में होता है, जिसमें मुख्य रुप से दक्षिण अमेरिका शामिल है। साल 2019 – 20 में अनुमानित वैश्विक कॉफी उत्पादन 169.34 मिलियन बैग्स के बराबर हुआ। आंकड़ों के अनुसार 30 से 40 फ़ीसदी आबादी प्रतिदिन कॉफी का सेवन करती है। 

कॉफी से जुड़े क्विज

1- सवाल- कौन सा देश कॉफी के लिए जाना जाता है ?

जवाब- ब्राजील में वृहद स्तर पर कॉफी का उत्पादन होता है। यह देश अकेले ही विश्व की कॉफी आपूर्ति का लगभग 40% उत्पादन करता है। ब्राजील के कई क्षेत्रों में कॉफी की खेती के लिए अनुकूल जलवायु है। 

2- सवाल- कौन से देश में कॉफी की खपत सबसे ज्यादा होती है? 

जवाब- फिनलैंड में सबसे ज्यादा कॉफी की खपत होती है। संभवत: ठंडे जल वायु के कारण यह देश इस सूची में उच्च स्थान पर है।

 आपके लिए हम एक ऐसी लिस्ट लेकर आए हैं, जिसमें प्रत्येक देश की एक अनूठी और अलग कॉफी संस्कृति के बारे में जानेंगे। 

 दुनिया की मशहूर कॉफी

Espresso (एस्प्रेसो)- यह कॉफी बारीक पिसी हुई कॉफी बींस को गर्म दूध या पानी में चीनी के साथ मिलाकर बनाई जाती है। इसको फेंटने से ऊपरी सतह पर मोटी झागदार परत बन जाती है। एस्प्रेसो अन्य कॉफी के प्रकारों को बनाने का एक महत्वपूर्ण आधार है। 

Affogato (अफ़ोगाटो)- इसे आइसक्रीम के ऊपर कॉफी डालकर तैयार किया जाता ह। इसमें एस्प्रेसो, कॉफी और वनीला आइसक्रीम को मिलाकर बनाया जाता है। 

Latte (लाटे)- इसे बनाने में भी एस्प्रेसो की सहायता लेनी पड़ती है। एस्प्रेसो, मिल्क और मिल्क फोम इन तीनों को मिलाकर इस कॉफी को तैयार किया जाता है।

Caffe Macchiato ( कैफे माकीयाटो)- इसको बनाने में एस्प्रेसो का प्रयोग किया जाता है। एस्प्रेसो में मिल्क फोम मिलाया जाता है जिसे माकीयाटो के नाम से जाना जाता है। यह एक स्ट्रांग कॉफी मानी जाती है। 

Americano (अमेरिकानो)-  अमेरिकानो को बनाने के लिए पानी की मात्रा अधिक मिलाई जाती है। यह एस्प्रेसो की तरह स्ट्रांग नहीं होता है। इसलिए जो लोग हल्की कॉफी पीना पसंद करते हैं। वह इस कॉपी को अपनी फेवरिट लिस्ट में शामिल कर सकते हैं। ‌

Mocha (मोका) – केपेचीनो की तरह ही मोका भी बनती है। लेकिन इसमें चॉकलेट सिरप का प्रयोग किया जाता है। ‌यह कॉफी उन लोगों को बेहद पसंद आती है, जो कॉफी के साथ चॉकलेट पीना पसंद करते हैं।

Cappuccino (केपेचीनो)- केपेचीनो को बनाने के लिए भी एस्प्रेसो की जरूरत होती है। ‌इसे तैयार करने के लिए एस्प्रेसो, कॉफी और पानी को मिलाया जाता है। इसके बाद इसमें दूध डालकर इसे तैयार किया जाता है। लाटे और केपेचीनो में फर्क केवल इतना होता है कि इसमें अधिक मिल्क फोम का इस्तेमाल होता है।

Latest Lifestyle News





Source link

Fashion

हिमाचल प्रदेश की गोद में बसे ये खूबसूरत पर्यटन स्थल आपकी यात्रा को बना देंगी हमेशा के लिए यादगार

Published

on

By


Image Source : INSTAGRAM
हिमाचल प्रदेश पर्यटन स्थल

हिमाचल प्रदेश भारत का एक ऐसा पर्यटन स्थल है, जिसे भारत के सबसे ज्यादा पसंद किये जाने वाले पर्यटन स्थलों मे से एक माना जाता है। हिमाचल ऊँचे – ऊँचे बर्फ के पहाड़ों से ढका हुआ है। यहाँ की वादियाँ बहुत ही खूबसूरत है और यहाँ आपको ज्यादातर एडवेंचर करने को मिल जाते हैं। पर्यटकों के लिए हिमाचल किसी स्वर्ग से कम नही है।

मनाली

मनाली हिमाचल प्रदेश के सबसे लोकप्रिय पर्यटन स्थलों मे से एक है। देवदार के जंगलो से ढके हुए पहाड़  यहाँ की खूबसूरती को और भी आकर्षक बना देते हैं।  ये जगहे आपके लिए स्वर्ग से कम नही है। हिमाचल आने वाले पर्यटक मनाली की खूबसूरती में खो जाते हैं। मनाली आने वाले ज्यादातर पर्यटकों को यहाँ पर रिवर राफ्टिंग, ट्रेकिंग, पर्वतारोहण आदि जैसी कई एडवेंचर करना भी पसंद करते हैं।

शिमला

शिमला भारत के सबसे ज्यादा फेमस पर्यटन स्थलों मे से एक है। पहाड़ों की रानी शिमला हिमाचल प्रदेश की राजधानी है। शिमला का मॉल रोड और टॉय ट्रेन यहां आने वाले वाले सभी पर्यटकों को सबसे ज्यादा पसंद आते हैं। शिमला मे आपको के ऐतिहासिक मंदिर इमारते देखने को मिलेगी।

माथे के कालेपन को देखकर आती है शर्मिंदगी? किचन की इन चीज़ों से चुटकियों में दूर होंगे ये ज़िद्दी दाग-धब्बे

स्पीति वेली

हिमाचल प्रदेश में मौजूद स्पीति वेली चारों तरफ से हिमालय से घिरा हुआ है। र्फ की चादर लपेटे पहाड़, यहां की घुमावदार सड़कें और खूबसूरत घाटियां आने वाले पर्यटकों पर्यटकों को अपनी तरफ बेहद आकर्षित करती हैं। हिमाचल प्रदेश की ये एक ऐसी जगह है, जो बेहद ठंडी मानी जाती है। 

Hair Care Tricks: बालों को झड़ने से रोकने में करी पत्ता है बेहद असरदार, जानें इस्तेमाल करने का तरीका

मैक्लोडगंज

मैक्लोडगंज प्रसिद्ध तिब्बती आध्यात्मिक नेता दलाई लामा का घर होने के कारण लोकप्रिय है। प्रसिद्ध तिब्बती आध्यात्मिक नेता दलाई लामा के घर होने के कारण यह हिल स्टेशन दुनिया भर में काफी लोकप्रिय है। चारों ओर पहाड़ियों के बीच स्थित, मैक्लोडगंज प्राचीन तिब्बती और ब्रिटिश संस्कृति से घिरा हुआ है।

डलहौजी

डलहौजी हिमाचल प्रदेश का एक छोटा सा शहर है, जो यहां आने वाले पर्यटकों के लिए स्वर्ग के समान माना जाता है। डलहौजी अपने प्राकृतिक नजारों, फूलों, घास के मैदान, तेज प्रवाह वाली नदियों, शानदार धुंध के पहाड़ों से घिरा हुआ है। हनीमून मनाने के लिए डलहौजी हिमाचल की सबसे अच्छी जगहों में से एक माना जाता है।

कश्मीर की ठंडी फिजाओं में बिखरे संगीत के सुर, सैलानियों ने उठाया जमकर लुत्फ़

Latest Lifestyle News





Source link

Continue Reading

Fashion

माथे के कालेपन को देखकर आती है शर्मिंदगी? किचन की इन चीज़ों से चुटकियों में दूर होंगे ये ज़िद्दी दाग-धब्बे

Published

on

By


Image Source : FREEPIK
Forehead Tanning

ग्लोइंग और बिना दाग-धब्बों वाली स्किन चाहत हर किसी को होती है। लेकिन बहुत कम लोगों की स्किन ही नेचुरल और ग्लोइंग होती है। ज़्यादातर लोग स्किन से जुड़ी समस्याओं से परेशान होते हैं। अक्सर लोगों का चेहरा तो साफ़ होता है लेकिन माथे पर टैनिंग बहुत ज़्यादा होती है। जिस वजह से चेहरे के आगे माथा भद्दा और मैला नजर आता है। इस वजह से कई बार लोग अपने माथे को लेकर शर्मिंदगी महसूस करते हैं। टैनिंग की वजह से चेहरे और माथे का रंग अलग-अलग नजर आता है। चलिए आज हम कुछ घरेलू नुस्खों के जरिए माथे की टैनिंग को आसानी से कैसे साफ़ करें इस बारे में बताते हैं। 

हल्दी है असरदार

हल्दी में एंटीऑक्सीडेंट्स गुण पाए जाते हैं, जिस वजह से ये स्किन संबंधी समस्यायों को दूर करने में बेहद असरदार है। माथे के कालेपन को भी हल्दी से दूर किया जा सकता है। हल्दी को कच्चे दूध में मिलाएं। अब माथे के टैनिंग वाली जगहों पर इस पेस्ट को लगाएं। कुछ देर लगे रहने के बाद माथे को ठंडे पानी से धो लें। इससे धीरे धीरे टैनिंग की परेशानी दूर हो जाएगी।

Orange Peel Benefits: संतरे के छिलके से स्किन की समस्याओं सहित इन परेशानियों से मिलेगा छुटकारा, जानें इस्तेमाल करने का आसान तरीका

खीरा दूर करता है टैनिंग

खीरा सिर्फ सेहत के लिए ही फायदेमंद नहीं है, बल्कि स्किन के लिए भी बेहद असरदार है। खीरा लगाने से डार्क सर्कल तो कम होता ही है साथ में न्यूट्रिएंट्स से भरपूर यह फल टैनिंग को भी खत्म करता है। टैनिंग वाली जगह पर खीरा के टुकड़े काटकर मसाज करें। 30 मिनट तक के लिए चेहरे को ऐसा ही छोड़ दें। अब पानी से चेहरा साफ़ कर लें।

Til Laddu Benefits: सर्दियों में बनाएं स्वाद से भरपूर तिल के लड्डू, इनके सेवन से ये गंभीर समस्याएं भी होंगी दूर

बादाम का तेल

बादाम के तेल में मौजूद विटामिन सी स्किन से जुड़े हर तरह की परेशानियों को दूर करने में बेहद फायदेमंद है। इससे स्किन तो सॉफ्ट होती ही है साथ ही माथे जे काले दाग धब्बों को यह आसानी से खत्म करता है। बादाम के तेल में ज़रा सा दूध का पाउडर लें और शहद मिलाकर पेस्ट बनाएं। इसे लगाएं जब यह सुख जाये तो ठंडे पानी से चेहरा साफ़ कर लें।

कच्चा दूध

कच्चा दूध स्किन के डर्ट को आसानी से साफ़ करता है। साथ ही दूध सिर की टैनिंग भी आसानी से दूर कर सकता है। कच्चे दूध में गुलाबजल मिलाकर माथे की मसाज करने से टैनिंग की परेशानी दूर हो जाती है।

Hair Care Tricks: बालों को झड़ने से रोकने में करी पत्ता है बेहद असरदार, जानें इस्तेमाल करने का तरीका

Latest Lifestyle News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। Fashion and beauty tips News in Hindi के लिए क्लिक करें लाइफस्टाइल सेक्‍शन





Source link

Continue Reading

Fashion

सर्दियों में इन 4 कारणों से लोगों को बार-बार होता है डैंड्रफ, आज ही जानें और इनसे बचें

Published

on

By


Image Source : FREEPIK
Dandruff_in_winters

Why do I get so much dandruff in the winter: सर्दियों में डैंड्रफ की समस्या रह-रह कर लोगों को परेशान करती है। लेकिन, ज्यादातर लोगों को इसका कारण नहीं पता होता। दरअसल,  डैंड्रफ की समस्या गंदगी से शुरू होती है और इंफेक्शन के कारण बार-बार बनी रहती है। ऐसे में जरूरी ये है कि आप इन कारणों के बारे में जानें और सर्दियों में इस समस्या से बचने की कोशिश करें। तो, आइए हम आपको बताते हैं सर्दियों में डैंड्रफ का कारण और फिर उसके बचाव के उपाय

सर्दियों में डैंड्रफ के कारण- Causes of dandruff in winter

1. गंदगी के कारण

सर्दियों में डैंड्रफ की एक बड़ी वजह है गंदगी। दरअसल, सर्दियों में बहुत से लोग अपना बाल नहीं धोते हैं। ऐसे में स्कैल्प पर गंदगी जमा होने लगती है। ऐसे में ये गंदगी डैंड्रफ के रूप में बालों में जमने लगती है और फिर बार-बार परेशान करती है। 

लोरी सुनकर सोने वाले बच्चे होते हैं दिमाग से ज्यादा तेज, साइंस भी मानता है इसके फायदे

2. गर्म पानी से बाल धोना

गर्म पानी से बाल धोना कई डैंड्रफ का कारण बन सकता है। दरअसल, जब आप गर्म पानी से बाल धोते हैं तो स्कैल्प ड्राई हो जाती है। ऐसी स्थिति में बार बार स्कैल्प में खुजली और कई समस्याएं परेशान करती हैं। उन्हीं समस्याओं में से एक है डैंड्रफ जो कि ड्राई स्कैल्प वाले लोगों को ज्यादा परेशान करता है। 

3. बालों की अंदर नमी का रहना

बालों के अंदर नमी का रहना, सर्दियों में डैंड्रफ का कारण बन जाता है। ऐसी स्थिति में होता ये है कि बालों की जड़ों में लगातार नमी रहती है और जब आप सर्दियों में ऊपर से टॉपी जैसी चीजों को पहन लेते हैं तो ये हवा के सर्कुलेशन को खराब कर देती है जिस वजह से डैंड्रफ की समस्या परेशान करने लगती है। 

सर्दियों में हर दिन जरूर खाएं 1 टुकड़ा गुड़, इन 4 समस्याओं से मिलेगा निजात

4. स्कैल्प इंफेक्शन 

स्कैल्प इंफेक्शन, बालों में बार-बार आने वाली रूसी का कारण है। दरअसल, ये एक ऐसी स्थिति है जब आपका इसके कारण रह-रह कर रूसी की समस्या परेशान कर सकती है। तो, ऐसी स्थिति में बालों में गर्म पानी के इस्तेमाल से बचें। हर 3 दिन पर बालों को वॉश करें। हफ्ते में दो बार बालों में तेल लगाएं। इसके अलावा नींबू और दही जैसी चीजों का इस्तेमाल करें। 

(Disclaimer: ये आर्टिकल सामान्य जानकारी के लिए है, किसी भी उपाय को अपनाने से पहले डॉक्टर से परामर्श अवश्य लें)

Latest Lifestyle News





Source link

Continue Reading