Connect with us

Sports

IND vs SL: संजू सैमसन के सपोर्ट में उतरा भारतीय दिग्गज, इस बात की जताई उम्मीद

Published

on


Image Source : GETTY
संजू सैमसन

IND vs SL: टीम इंडिया ने साल 2022 का अंत टेस्ट क्रिकेट के साथ किया लेकिन नए साल की शुरुआत उसे टी20 सीरीज के साथ करनी है। बांग्लादेश में दो मैचों की टेस्ट सीरीज को क्लीन स्वीप करने के बाद अब भारतीय खिलाड़ियों की नजर श्रीलंका के खिलाफ होने वाली आगामी टी20 और वनडे सीरीज पर है। भारतीय टीम अगले महीने जनवरी में श्रीलंका की मेजबानी करेगी और इस दौरान वह अपने इस पड़ोसी देश के साथ तीन-तीन मैचों की टी20 और वनडे सीरीज खेलेगी। दौरे की शुरुआत टी20 सीरीज के साथ होगी और इसके बाद दोनों के बीच वर्ल्ड सुपर लीग के तहत वनडे मुकाबले खेले जाएंगे।

युवा खिलाड़ियों को मिल सकता है मौका

भारत के लिए टी20 सीरीज के लिए कोई खास मायने नहीं हैं, ऐसे में भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) इस सीरीज के लिए कई युवा खिलाड़ियों को मौका देने के साथ ही अपने सीनियर्स को भी आराम दे सकती है। इस बीच हर किसी की नजर टीम चयन पर भी रहने वाली है। उधर पूर्व भारतीय सलामी बल्लेबाज वसीम जाफर ने विकेटकीपर बल्लेबाज संजू सैमसन को अपना सपोर्ट जताया है। 

जाफर को सैमसन से उम्मीद

जाफर ने ट्वीट करते हुए उम्मीद जताई है कि संजू सैमसन को श्रीलंका और न्यूजीलैंड के खिलाफ सीमित ओवरों की श्रृंखला के लिए भारतीय टीम में चुना जाएगा और यह विकेटकीपर उस दौरान लगातार रन बनाकर खुद को साबित करेगा। पूर्व क्रिकेटर ने अपने ट्वीट में लिखा, “मुझे उम्मीद है कि संजू सैमसन श्रीलंका और न्यूजीलैंड के खिलाफ टी20 अंतरराष्ट्रीय और वनडे सीरीज दोनों के लिए भारतीय टीम का हिस्सा होंगे और लगातार रन बनाएंगे।”

श्रीलंका और न्यूजीलैंड के साथ घरेलू सीरीज

बता दें कि श्रीलंका की टीम अगले महीने जनवरी में भारत आएगी। इस दौरान वह 3 से 15 जनवरी तक तीन मैचों की टी20 और इतने ही मैचों की वनडे सीरीज खेलेगी। इसके बाद न्यूजीलैंड की टीम 18 जनवरी से 1 फरवरी तक इतने ही मैचों की सीमित ओवर श्रृंखलाएं खेलेगी। 

शानदार रहा सैमसन के लिए साल 2022

बात करें सैमसन की तो उन्होंने इस साल 10 वनडे मैचों में दो अर्धशतकों की मदद और 71 की औसत से 284 रन बनाए। जबकि 6 टी20 मैच में 44.75 की औसत से 179 रन बटोरे। टी20 में उनका स्ट्राइक रेट भी 158.40 का रहा। दिलचस्प बात यह रही कि उन्होंने अपने 27 अंतरराष्ट्रीय मुकाबलों में से 16 सिर्फ इसी साल खेले।

Latest Cricket News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। Cricket News in Hindi के लिए क्लिक करें खेल सेक्‍शन





Source link

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Sports

‘आग’ लेकर भारत आ रहा ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज, टेस्ट मैच में टी-20 की तरह मचाएगा धमाल!

Published

on

By


मेलबर्न: भारत के खिलाफ अगले महीने से शुरू होने जा रही चार टेस्ट मैच की बॉर्डर-गावस्कर सीरीज में ऑस्ट्रेलियाई प्लेयर खास तैयारी से आने वाले हैं। इंग्लिश बल्लेबाजों की ही तरह टेस्ट में आक्रामक रुख अख्तियार किया जाएगा। ट्रेविस हेड अपनी परंपरागत स्टाइल को छोड़कर हावी होकर खेलने की रणनीति अपनाएंगे। इंग्लैंड बाजबॉल स्टाइल में क्रिकेट खेलता है। पाकिस्तान को उसके घर में घुसकर इसी तरह हराया था।

‘सिडनी मॉर्निंग हेराल्ड’ के अनुसार ऑस्ट्रेलियाई टीम के भारत रवाना होने से पहले हेड ने कहा, ‘इंग्लैंड ने पाकिस्तान में जिस तरह से बल्लेबाजी की उसे देखने के बाद मैंने पीछे मुड़कर देखा तो पाया कि उपमहाद्वीप में खेली गई पिछली सीरीज में मैंने उतना सकारात्मक होकर बल्लेबाजी नहीं की जितना मैं चाहता था। मैं इन श्रृंखलाओं में स्पिन के खिलाफ जिस तरह से खेला उससे मेरा मानना है कि अगर मैं अधिक सकारात्मक होकर खेलूंगा तो मेरा फुटवर्क अच्छा रहेगा और मेरा रक्षात्मक खेल भी इससे बेहतर होगा। मैं जानता हूं कि यह ऑस्ट्रेलिया में खेलने से पूरी तरह भिन्न होगा।’


हेड ने कहा, ‘हमने इन गर्मियों में तेज गेंदबाजों के खिलाफ भी इसे परखा। मुझे लगता है कि मेरा ‘फ्रंट फुट डिफेंस’ अच्छा है और मेरा मानना है कि मुझे वहां रक्षात्मक नहीं बल्कि सकारात्मक मानसिकता के साथ जाना होगा।’ हेड एशिया में पिछली तीन श्रृंखलाओं में खेले थे। वह 2018 और 2022 में पाकिस्तान के खिलाफ और पिछले साल श्रीलंका में खेले थे। उन्होंने इन श्रृंखलाओं की 11 पारियों में 21.30 की औसत से केवल 213 रन बनाए थे।

हेड ने कहा, ‘मुझे लगता है कि पाकिस्तान और श्रीलंका में मैंने थोड़ा रक्षात्मक रवैया अपनाया था। वहां जाकर पिच का आकलन करना और अपनी भूमिका समझना महत्वपूर्ण है। वहां मैच कम स्कोर या बड़े स्कोर वाला हो सकता है। आपको कभी बड़ा स्कोर बनाना पड़ सकता है या फिर 40, 50 या 60 का स्कोर भी आपको जीत दिला सकता है।’

U19 Women World Cup: पहले पति फिर सांप कांटने से बेटे की मौत, टूटी झोपड़ी में रहकर जिस बेटी को पाला वो दिलाएगी वर्ल्ड कपआज सुपर-संडे, दो-दो वर्ल्ड कप फाइनल, Aus Open की खिताबी जंग, भारत के लिए करो या मरो का मैच



Source link

Continue Reading

Sports

‘धोनी की ये सलाह आज भी फॉलो करता हूं’, अफगानिस्तान के स्टार क्रिकेटर ने वर्ल्ड कप 2015 को लेकर किया अहम खुलासा

Published

on

By


ऐप पर पढ़ें

टीम इंडिया के पूर्व कप्तान और दिग्गज विकेटकीपर बल्लेबाज एमएस धोनी ने अपने खेल के जरिए अनेक लोगों पर प्रभाव छोड़ा है। उनका शुमार सबसे सफल कप्तानों में होता है। माही कई क्रिकेटर्स के लिए प्रेरणा हैं। अफगानिस्तान के स्टार बल्लेबाज नजीबुल्लाह जादरान भी धोनी के तगड़े फैन हैं। वह धोनी को अपना आदर्श मानते हैं। उन्होंने वर्ल्ड कप 2015 को लेकर अहम खुलासा किया है, जो धोनी से जुड़ा है। उन्होंने बताया कि उस टूर्नामेंट में धोनी से एक सलाह मिली थी, जिसे वह आज भी फॉलो करते हैं।

सीमित ओवर फॉर्मेट में अफगानिस्तान टीम का अभिन्न हिस्सा जादरान फिलहाल यूएई में इंटरनेशनल लीग टी20 में खेल रहे हैं। वह टू्र्नामेंट में एमआई अमीरात का प्रतिनिधित्व कर रहे हैं। जब एमआई अमीरात से बातचीत के दौरान जादरान से पूछा गया कि धोनी ने उनके क्रिकेट करियर को कैसे प्रभावित किया तो इसपर अफगान क्रिकेटर ने दिल की बात कही।

जादरान ने कहा, ”मैं धोनी को अपना आइडल मानता हूं। कोई भी पारी को उस तरह फिनिश नहीं कर सकता जैसा वह करते थे। मैंने उनसे काफी सीखा। मैंने वर्ल्ड कप 2015 में धोनी से बात की थी। उन्होंने तब मुझे शांत रहने और हाई प्रेशर सिचुएशन में भी खुद पर भरोसा रखने की सलाह दी थी। मैं आज भी उस सलाह पर विश्वास करता हूं और उसे फॉलो करता हूं।”

साल 2012 में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में कदम रखने वाले जादरान अब तक अफगानिस्तान के लिए 82 वनडे और 86 टी20 मैच खेल चुके हैं। उन्होंने वनडे में 31.33 के औसत और 90.26 के स्ट्राइक रेट से 2187 रन जुटाए हैं। वहीं, जादरान ने टी20 अंतरराष्ट्रीय में 31.18 के औसत और 141.96 के स्ट्राइक रेट से 1590 बनाए। उन्होंने 23 इंटरनेशनल फिफ्टी और एक सेंचुरी ठोकी है। उन्होंने अफगानिस्तान के लिए आखिरी मैच नवंबर 2022 में श्रीलंका के खिलाफ खेला था।



Source link

Continue Reading

Sports

बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी के लिए ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज ने किया टेकनिक में बदलाव, खुद मानी ये बात

Published

on

By


Image Source : AP
Travis Head

IND vs AUS: भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच चार मैचों की टेस्ट सीरीज नौ फरवरी से नागपुर में शुरू होने जा रही है। WTC के फाइनल के नजरिए से यह सीरीज दोनों टीमों के लिए अहम है। इस सीरीज के लिए दोनों टीमों ने अपने स्क्वॉड का ऐलान कर दिया है। ऑस्ट्रेलियाई टीम इस सीरीज के लिए जमकर मेहनत कर रही है। ऑस्ट्रेलिया के खिलाड़ियों के लिए भारतीय पिचों पर स्पिन खेल पाना आसान नहीं होगा। ऑस्ट्रेलिया ने साल 2004 के बाद से भारत में एक भी टेस्ट सीरीज नहीं जीती है। वहीं भारत ने उन्हें उनके घर पर साल 2018 और 2020 में रौंदा था। ऐसे में ऑस्ट्रेलिया के लिए यह सीरीज और भी मायने रखती है। भारत दौरे पर आ रही ऑस्ट्रेलियाई टीम के खिलाड़ी ट्रेविस हेड ने अपनी तैयारियों को लेकर बड़ी बात कही है।

क्या बोले हेड

इंग्लैंड के बल्लेबाजों के पाकिस्तान में किए गए शानदार प्रदर्शन से प्रेरित ऑस्ट्रेलिया के बल्लेबाज ट्रेविस हेड भारत के खिलाफ होने वाली आगामी टेस्ट सीरीज में अपने खेलने के रवैये को छोड़कर विरोधी टीम के आक्रमण पर हावी होकर खेलने की रणनीति अपनाएंगे।‘सिडनी मॉर्निंग हेराल्ड’ के अनुसार ऑस्ट्रेलियाई टीम के भारत रवाना होने से पहले हेड ने कहा कि इंग्लैंड ने पाकिस्तान में जिस तरह से बल्लेबाजी की उसे देखने के बाद मैंने पीछे मुड़कर देखा तो पाया कि उपमहाद्वीप में खेली गई पिछली सीरीज में मैंने उतना सकारात्मक होकर बल्लेबाजी नहीं की जितना मैं चाहता था। 

हेड ने आगे कहा, मैं इन श्रृंखलाओं में स्पिन के खिलाफ जिस तरह से खेला उससे मेरा मानना है कि अगर मैं अधिक सकारात्मक होकर खेलूंगा तो मेरा फुटवर्क अच्छा रहेगा और मेरा रक्षात्मक खेल भी इससे बेहतर होगा। मैं जानता हूं कि यह आस्ट्रेलिया में खेलने से पूरी तरह से अलग होगा। हेड ने आगे कहा, हमने इन गर्मियों में तेज गेंदबाजों के खिलाफ भी इसे परखा। मुझे लगता है कि मेरा फ्रंट फुट डिफेंस अच्छा है और मेरा मानना है कि मुझे वहां रक्षात्मक नहीं बल्कि सकारात्मक मानसिकता के साथ जाना होगा। 

एशिया में हेड का प्रदर्शन

हेड एशिया में पिछली तीन में खेस चुके हैं। वह 2018 और 2022 में पाकिस्तान के खिलाफ तथा पिछले साल श्रीलंका में खेले थे। उन्होंने इन श्रृंखलाओं की 11 पारियों में 21.30 की औसत से केवल 213 रन बनाए थे। हेड ने कहा,‘‘ मुझे लगता है कि पाकिस्तान और श्रीलंका में मैंने थोड़ा रक्षात्मक रवैया अपनाया था। वहां जाकर पिच का आकलन करना और अपनी भूमिका समझना महत्वपूर्ण है। वहां मैच कम स्कोर या बड़े स्कोर वाला हो सकता है। आपको कभी बड़ा स्कोर बनाना पड़ सकता है या फिर 40, 50 या 60 का स्कोर भी आपको जीत दिला सकता है।’’

Latest Cricket News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। Cricket News in Hindi के लिए क्लिक करें खेल सेक्‍शन





Source link

Continue Reading