Connect with us

Sports

IND vs NZ: न्यूजीलैंड के खिलाफ टी20 सीरीज जीतने के बाद क्या है हार्दिक पांड्या का प्लान? मैच के बाद बताया

Published

on


ऐप पर पढ़ें

भारतीय कप्तान हार्दिक पंड्या ने 18 गेंद पर नाबाद 30 रन बनाकर न्यूजीलैंड के खिलाफ बारिश से प्रभावित तीसरे एवं अंतिम टी20 अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच को टाई कराने में अहम भूमिका निभाने के बाद मंगलवार को यहां कहा कि इस विकेट पर आक्रमण ही सबसे अच्छा बचाव था। भारत ने 161 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए 2.5 ओवर में 21 रन पर तीन विकेट गंवा दिए थे। पंड्या ने इसके बाद आक्रामक पारी खेली जिससे भारत ने बारिश आने तक चार विकेट पर 75 रन बनाए थे जोकि डकवर्थ लुईस पद्धति से बराबरी का स्कोर था। भारत में इस तरह से यह श्रृंखला 1-0 से जीती।

AUS vs ENG: स्टीव स्मिथ के विकेट पर हुआ भरपूर ड्रामा, अंपायर से नाखुश दिखें जोस बटलर; Watch Video

पंड्या ने मैच के बाद कहा, ‘मैं पूरा मैच खेल कर जीत हासिल करना पसंद करता लेकिन ऐसा होता है। मुझे लगा कि इस विकेट पर आक्रमण ही सबसे अच्छा बचाव है। हम जानते थे कि उनके पास किस तरह का गेंदबाजी आक्रमण है इसलिए 10 से 15 अतिरिक्त रन बनाना महत्वपूर्ण था भले ही हमने कुछ विकेट गंवा दिए थे।’

पंड्या ने कहा,’इस तरह के मैचों में हमें कुछ खिलाड़ियों को आजमाने का मौका मिलता है लेकिन मौसम पर हमारा नियंत्रण नहीं है। अब मैं घर लौट जाऊंगा और कुछ समय अपने बेटे के साथ बिताऊंगा।’

न्यूजीलैंड के कार्यवाहक कप्तान टिम साउदी ने स्वीकार किया उनकी टीम बल्लेबाजी में बेहतर प्रदर्शन कर सकती थी लेकिन उन्होंने तीन विकेट जल्दी निकालने के लिए गेंदबाजों की प्रशंसा की।

‘चीते की चाल और बाज की नजर’, विराट की पोस्ट पर SKY का कमेंट वायरल

साउदी ने कहा,’बल्लेबाजी में हमारा प्रदर्शन निराशाजनक रहा। हमने इसके बाद जल्दी-जल्दी विकेट लेने को लेकर बात की। हम जानते थे कि अगर हम शुरू में विकेट हासिल कर देते हैं तो फिर कुछ भी हो सकता है। दुर्भाग्य से बारिश आ गई।”

मोहम्मद सिराज ने 17 रन देकर चार विकेट लिए और उन्हें मैच का सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी चुना गया।

सिराज ने कहा,’इस विकेट पर बल्लेबाजी करना आसान नहीं था और मैंने सही लेंथ से गेंद करने पर ध्यान दिया जिसका मुझे फायदा मिला। मैंने ऐसी गेंदबाजी करने के लिए विश्वकप के दौरान काफी अभ्यास किया था। मैंने अपनी रणनीति के अनुसार गेंदबाजी की।’



Source link

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Sports

हवा में जंप और सिर से करारा प्रहार, सिर्फ 68 सेकंड में दाग दिया सबसे तेज गोल

Published

on

By


रेयान (कतर): लियोनेल मेसी, क्रिस्टियानो रोनाल्डो और रॉबर्ट लेवांडोव्स्की जैसे धाकड़ फुटबॉलरों का जलवा तो देख ही लिया होगा आपने, लेकिन ये खिलाड़ी जो काम नहीं कर सके उसे अलफोंसो डेविस ने कर दिखाया। बायर्न म्यूनिख के स्टार खिलाड़ी ने फीफा वर्ल्ड कप 2022 का सबसे तेज गोल दागा। उन्होंने मैदान पर उतरने के सिर्फ 68वें सेकंड में ही हेड किक से गेंद को जाल में उलझा दिया। हालांकि, उनकी टीम को करारी हार झेलनी पड़ी, क्योंकि विपक्षी टीम क्रोएशिया ने इसके बाद बैक टू बैक 4 गोल दागे।

क्रोएशिया की दमदार वापसी, आंद्रेज क्रैमारिच ने दागे 2 गोल
क्रोएशिया ने मजबूत वापसी करते हुए आंद्रेज क्रैमारिच के दो गोल की मदद से फीफा विश्व कप मैच में कनाडा को 4-1 से हराकर बाहर कर दिया। कनाडा की टीम 36 साल में पहली बार विश्व कप में खेल रही थी लेकिन कतर में दो मैचों के बाहर ही टूर्नामेंट से बाहर हो गई। अलफोंसो डेविस ने दूसरे ही मिनट में कनाडा के लिए विश्व कप का पहला गोल दागा और अपनी टीम को बढ़त दिलाई।

शुरुआती मैच में मोरक्को से गोलरहित ड्रॉ खेलने वाली क्रोएशिया ने वापसी कर चार गोल दाग दिए। रूस में 2018 विश्व कप की उप विजेता रही क्रोएशिया के लिए खलीफा अंतरराष्ट्रीय स्टेडियम में क्रैमारिच (36वें और 70वें मिनट) के अलावा मार्को लिवाजा (44वें मिनट) और लोवरो माएर (90+4वें मिनट) ने भी गोल किए। कप्तान लुका मौद्रिच (37 वर्ष) टूर्नामेंट में अपने पहले गोल की तलाश में थे लेकिन सफल नहीं हुए।

यह संभवत: उनका अंतिम विश्व कप है। क्रोएशिया और बेल्जियम को 2-0 से हराकर उलटफेर करने वाली मोरक्को के ग्रुप एफ में चार चार अंक हैं। बेल्जियम के तीन अंक हैं और उसके पास अब भी अगले दौर में पहुंचने का मौका है। कनाडा को पहले दो मैचों में कोई अंक नहीं मिला और गुरुवार को मोरक्को के खिलाफ मुकाबले में जीत भी उसे अगले दौर में नहीं पहुंचा पाएगी। क्रोएशिया का सामना बेल्जियम से होगा। कनाडा इससे पहले 1986 में विश्व कप में पहुंची थी और तब भी ग्रुप चरण में ही बाहर हो गई थी।
Fifa: मोरक्को का गोलकीपर मैच से ठीक पहले रहस्यमयी तरीके से गायब, वर्ल्ड कप में मच गया हंगामाMessi World Cup: वाह मेसी वाह! झन्नाटेदार किक को रोकने में औंधे मुंह गिरा गोलकीपर, 7 प्लेयर्स को चीरते हुए जाल में समाई गेंदFifa World Cup: वाह रोनाल्डो… इतिहास रच दिया, 5 वर्ल्ड कप में गोल मारने वाले दुनिया के पहले आदमी



Source link

Continue Reading

Sports

जडेजा ने बताया, क्यों राहुल द्रविड़ को हमेशा टीम इंडिया के साथ होना चाहिए

Published

on

By



टीम इंडिया के पूर्व क्रिकेटर अजय जडेजा ने बताया है कि राहुल द्रविड़ को मुख्य कोच के रूप में क्यों हमेशा टीम इंडिया के साथ होना चाहिए। उनका कहना है कि जब खिलाड़ी खेल रहे हैं तो आप क्यों साथ नहीं हैं। 



Source link

Continue Reading

Sports

दुनिया के सबसे बड़े क्रिकेट स्टेडियम में हो सकता है वर्ल्ड कप 2023 फाइनल, यहां दर्शक बना चुके हैं वर्ल्ड रिकॉर्ड

Published

on

By


ऐप पर पढ़ें

दुनिया के सबसे बड़े क्रिकेट स्टेडियम का दर्जा अब भारत के गुजरात राज्य के अहमदाबाद के मोटेरा में बने नरेंद्र मोदी स्टेडियम को प्राप्त है। इस स्टेडियम की दर्शक क्षमता एक लाख 10 हजार से भी ज्यादा है। यही कारण है कि इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल यानी आईसीसी की निगाहें आईसीसी क्रिकेट वर्ल्ड कप 2023 का वर्ल्ड कप फाइनल इसी स्टेडियम में आयोजित करने की प्लानिंग में है। इस तरह की रिपोर्ट सामने आई है। 

बता दें कि वर्ल्ड कप 2023 की मेजबान भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड यानी बीसीसीआई के पास है और ये स्टेडियम बीसीसीआई और गुजरात क्रिकेट एसोसिएशन के अधीन है। ऐसे में दुनिया के सबसे बड़े क्रिकेट स्टेडियम का फायदा आईसीसी और भारत उठाना चाहता है। इसी वजह से मोटेरा में बने इस विशाल क्रिकेट स्टेडियम को क्रिकेट वर्ल्ड कप 2023 फाइनल की मेजबानी मिल सकती है। 

क्रोएशिया ने कनाडा को बुरी तरह हराया, फीफा वर्ल्ड कप 2022 से बाहर हुई ये टीम

आपकी जानकारी के लिए बता दें, रविवार 27 नवंबर को ही बीसीसीआई के सचिव जय शाह को इस स्टेडियम द्वारा बनाए गए गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड का सर्टिफिकेट भी मिला है। इस स्टेडियम में आईपीएल 2022 के फाइनल वाले दिन एक लाख से ज्यादा लोग मौजूद थे। इस तरह ये मैच स्टेडियम में बैठकर सबसे ज्यादा देखा जाने वाला टी20 मैच बन गया था। 



Source link

Continue Reading