Connect with us

TRENDING

ICICI बैंक लोन घोटाला: जांच में सहयोग नहीं कर रहे वी.एन.धूत, CBI कराएगी चंदा और दीपक कोचर से सामना

Published

on


Image Source : FILE
वीडियोकॉन ग्रुप के एमडी वी.एन. धूत

केंद्रीय जांच ब्यूरो (CBI) वीडियोकॉन ग्रुप के गिरफ्तार एमडी वी.एन. धूत का सामना ICICI बैंक की पूर्व CEO चंदा कोचर और उनके व्यवसाय पति दीपक कोचर से कराने के लिए पूरी तरह तैयार है। धूत को सीबीआई ने सोमवार को मुंबई से गिरफ्तार किया था, जबकि कोचर पहले से ही इसकी हिरासत में हैं। जांच एजेंसी को अदालत से आरोपियों की तीन दिन की हिरासत मिल गई है। सीबीआई ने आरोप लगाया है कि धूत ने उन्हें पूरे तथ्य नहीं बताए, इसलिए उनका कोचर के साथ आमना-सामना कराने की जरूरत है। सीबीआई ने आरोप लगाया कि धूत जांच में सहयोग नहीं कर रहे थे। उन्हें जांच में शामिल होने के लिए दो नोटिस भेजे गए, लेकिन वह 23 और 25 दिसंबर को जांच एजेंसी के सामने पेश नहीं हुए। सीबीआई ने भी उनके बयानों में भिन्नता पाई है।

साल 2009 में दिया गया था लोन 

मौजूदा मामला 22 जनवरी 2019 को वीडियोकॉन इंटरनेशनल इलेक्ट्रॉनिक्स लिमिटेड, वीडियोकॉन इंडस्ट्रीज लिमिटेड, नूपावर रिन्यूएबल्स लिमिटेड, सुप्रीम एनर्जी प्राइवेट लिमिटेड और अज्ञात लोक सेवकों के खिलाफ धोखाधड़ी और आपराधिक साजिश से संबंधित धाराओं के तहत दर्ज किया गया था। 26 अगस्त 2009 को चंदा कोचर की अध्यक्षता वाली एक स्वीकृति समिति ने बैंक के नियमों और नीतियों का उल्लंघन करते हुए वीडियोकॉन इंटरनेशनल इलेक्ट्रॉनिक्स लिमिटेड को 300 करोड़ रुपये के लोन को मंजूरी दी थी। इसमें उन्होंने सह-आरोपी व्यक्तियों के साथ आपराधिक साजिश रचते हुए बेईमानी से लोक सेवक के रूप में अपने आधिकारिक पद का दुरुपयोग किया।

लोन 7 सितंबर 2009 को वितरित किया गया था और अगली तारीख 8 सितंबर 2009 को धूत ने अपनी कंपनी सुप्रीम एनर्जी प्राइवेट लिमिटेड (एसईपीएल) के माध्यम से वीडियोकॉन इंडस्ट्रीज लिमिटेड से दीपक कोचर द्वारा प्रबंधित एनआरएल को 64 करोड़ रुपये ट्रांसफर किए। एनआरएल को 24 दिसंबर 2008 को शामिल किया गया था और धूत और सौरभ धूत ने 15 जनवरी 2009 को इसके निदेशकों के रूप में इस्तीफा दे दिया। इस्तीफा देने से पहले धूत ने दीपक कोचर को 1,997,500 वारंट आवंटित किए थे।

धूत ने 15 जनवरी 2009 को धूत ने दे दिया था SEPL के निदेशक पद से इस्तीफा 

5 जून 2009 को धूत और दीपक कोचर द्वारा रखे गए एनआरएल के शेयरों को एसईपीएल में ट्रांसफर कर दिया गया, 3 जुलाई 2008 को धूत और उनके सहयोगी वसंत काकड़े को एसईपीएल में निदेशक के रूप में शामिल किया गया था। धूत ने 15 जनवरी 2009 को एसईपीएल के निदेशक पद से इस्तीफा दे दिया और कंपनी का नियंत्रण दीपक कोचर को हस्तांतरित कर दिया और अपने शेयरों को पिनेकल एनर्जी ट्रस्ट को ट्रांसफर कर दिया, जिसे बाद में मैनेज किया गया। जून 2009 और अक्टूबर 2011 के बीच आईसीआईसीआई बैंक ने वीडियोकॉन समूह की छह कंपनियों को वीडियोकॉन इंडस्ट्रीज लिमिटेड से इन कंपनियों द्वारा लिए गए असुरक्षित लोन को चुकाने में सक्षम बनाने के उद्देश्य से 1,875 करोड़ रुपये का सावधि लोन को मंजूरी दी। चंदा कोचर के आईसीआईसीआई बैंक के एमडी और सीईओ के रूप में कार्यभार संभालने के बाद ये सभी लोन मंजूर किए थे।

आईसीआईसीआई बैंक ने स्काई एप्लायंस लिमिटेड और टेक्नो इलेक्ट्रॉनिक लिमिटेड के अकाउंटों में 50 करोड़ रुपये की एफडीआर के रूप में उपलब्ध सुरक्षा भी बिना किसी औचित्य के जारी कर दी थी। 26 अप्रैल 2012 को छह आरटीएल खातों के मौजूदा बकाया को 1730 करोड़ रुपये के आरटीएल में समायोजित किया गया था, जिसे घरेलू लोन के पुनर्वित्त के तहत वीआईएल को मंजूरी दी गई थी। वीआईएल के खाते को 30 जून 2017 को एनपीए घोषित कर दिया गया था। खाते में बकाया 1,033 करोड़ रुपये हैं।

मामले में IPC की धारा 409 का उल्लंघन किया गया 

जांच के दौरान सामना आया कि चंदा कोचर ने वीएन धूत के साथ व्यापारिक लेन-देन करने के बावजूद अन्य आरोपी व्यक्तियों के साथ आपराधिक साजिश को आगे बढ़ाने के लिए वीडियोकॉन समूह को विभिन्न लोन की मंजूरी दी। उस जांच से पता चला कि 8 सितंबर 2009 को चंदा कोचर की अध्यक्षता वाली एक समिति द्वारा वीडियोकॉन इंटरनेशनल इलेक्ट्रॉनिक लिमिटेड को स्वीकृत 283.45 करोड़ रुपये की वितरित राशि में से 64 करोड़ रुपये की राशि उनके पति के कंपनी के खाते में ट्रांसफर कर दी गई थी। सीबीआई ने आरोप लगाया है कि इस प्रकार चंदा कोचर ने 300 करोड़ रुपये के आरटीएल को मंजूरी देकर आईपीसी की धारा 409 का उल्लंघन किया है। सीबीआई ने कहा कि एक लोक सेवक होने के नाते उसे बैंक निधि सौंपी गई थी, जिसके लिए वह आईसीआईसीआई बैंक द्वारा जारी दिशानिर्देशों के अनुसार इस तरह के ट्रस्ट का निर्वहन करने के लिए जिम्मेदार थी। सीबीआई को पता चला है कि चंदा कोचर उस अवधि के दौरान बिना महत्व के एक फ्लैट में रह रही थीं। इसके बाद फ्लैट जिसकी कीमत 1996 में 5.25 करोड़ रुपये थी उसे साल 2016 में 11 लाख रुपये की मामूली राशि पर दीपक कोचर के पारिवारिक ट्रस्ट क्वालिटी एडवाइजर को हस्तांतरित कर दिया गया।

इनपुट – एजेंसी 

Latest India News





Source link

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

TRENDING

शिवपाल यादव को सपा में मिली बड़ी जिम्मेदारी, स्वामी प्रसाद मौर्य का भी कद बढ़ा, अखिलेश ने घोषित की पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी

Published

on

By



शिवपाल यादव को समाजवादी पार्टी में बड़ी जिम्मेदारी मिल गई है। उन्हें समाजवादी पार्टी का राष्ट्रीय महासचिव बना दिया गया है। उन्हें राष्ट्रीय महासचिव के साथ ही यूपी का प्रभारी भी बनाया गया है।



Source link

Continue Reading

TRENDING

“हम एग्री नहीं करते…” : समर्थकों की तरफ से प्रधानमंत्री का उम्मीदवार बताने पर बोले नीतीश कुमार

Published

on

By


समर्थकों की तरफ से प्रधानमंत्री का उम्मीदवार बताने पर नीतीश कुमार ने कहा कि इससे हम एग्री नहीं करते.

पटना:

जनता दल यूनाइटेड (जदयू) का हर छोटा-बड़ा नेता बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को पीएम मैटेरियल और पीएम उम्मीदवार और न जाने क्या-क्या बताते रहते हैं. नीतीश कुमार के 2024 लोकसभा में विपक्ष का नेता बनने को लेकर बिहार के आम लोगों से लेकर देश भर में चर्चा है. इसी बीच आज समाधान यात्रा के दौरान कैमूर पहुंचे बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से पूछा गया कि समर्थक आपको प्रधानमंत्री बनाने की मांग कर रहे हैं तो उन्होंने कहा कि इससे हम एग्री नहीं करते..गलत बात…हम मना कर देते इ सब बात को. 

यह भी पढ़ें



Source link

Continue Reading

TRENDING

ईरान के बाद भूकंप के झटके से कांपी पाकिस्तान की धरती, मापी गई 4.1 तीव्रता

Published

on

By


Image Source : FILE PHOTO
पाकिस्तान में आया भूकंप

ईरान के बाद अब पाकिस्तान की धरती भूकंप के झटके से कांप उठी। पाकिस्तान के इस्लामाबाद में भूकंप के तेज झटके महसूस किए गए। पाकिस्तान में आए भूकंप की तीव्रता रिक्टर स्केल पर 4.1 मापी गई है। इस्लामाबाद में भूकंप रविवार ​​दोपहर 1:24 बजे आया। ताजिकिस्तान में भूकंप का केंद्र बताया जा रहा है। अभी तक भूकंप से किसी भी तरह के जान-माल के नुकसान की खबर नहीं है। 

नेशनल सेंटर फॉर सीस्मोलॉजी के मुताबिक, इस्लामाबाद में आज दोपहर करीब 1:24 बजे रिक्टर पैमाने पर 4.1 तीव्रता का भूकंप आया। भूकंप का केंद्र इस्लामाबाद से 37 किमी पश्चिम में था और इसकी गहराई जमीन से 10 किमी नीचे थी। इसके साथ भूकंप के झटके पाकिस्तान के रावलपिंडी, मुर्री, खैबर पख्तूनख्वा और पंजाब के बाकी हिस्सों में भी महसूस किए गए।

इससे पहले पाकिस्तान में भूकंप

इससे पहले 5 जनवरी को इस्लामाबाद और लाहौर समेत पंजाब और खैबर पख्तूनख्वा के कई शहरों में 5.8 तीव्रता का भूकंप आया था। उस भूकंप का केंद्र अफगानिस्तान हिंदू कुश क्षेत्र था, जबकि उसकी गहराई 173 किमी थी। भूकंप के झटके स्वात, डेरा इस्माइल खान समेत कई इलाकों में महसूस किए गए थे।

ईरान में शनिवार रात आया भूकंप

इससे पहले ईरान में शनिवार रात जबरदस्त भूकंप आया। पश्चिमोत्तर ईरान के खोय शहर में आए 5.9 तीव्रता के भूकंप में अब तक 7 लोगों की मौत की खबर है, जबकि 440 लोग घायल बताए जा रहे हैं। उत्तर पश्चिम ईरान के पश्चिम अजरबैजान प्रांत के खोय शहर में भूकंप के झटके आए। ये इलाका तुर्की-ईरान सीमा के पास उत्तर पश्चिमी ईरान में पड़ता है। स्थानीय समयानुसार, भूकंप शनिवार को रात 9:44 बजे आया। ईरानी सीस्मोलॉजिकल सेंटर ने बताया कि भूकंप का केंद्र जमीन से 7 किमी की गहराई पर था। 

 

ये भी पढ़ें-


लव जिहाद…लैंड जिहाद…हिंदुओं का महामार्च, मुंबई की सड़कों पर उमड़ा जनसैलाब; ये हैं 5 मांगें

जयपुर के क्लब में देर रात चली ताबड़तोड़ गोलियां, लॉरेंस बिश्नोई गैंग के रितिक बॉक्सर ने ली जिम्मेदारी

Latest World News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। Asia News in Hindi के लिए क्लिक करें विदेश सेक्‍शन





Source link

Continue Reading