Connect with us

Sports

ICC Rankings: टी20 और वनडे के बाद इस तरह टेस्ट में नंबर 1 बनेगी टीम इंडिया, जानें समीकरण

Published

on


Image Source : AP
भारतीय क्रिकेट टीम, बांग्लादेश में टेस्ट सीरीज जीत के बाद

ICC Rankings: टीम इंडिया ने न्यूजीलैंड के खिलाफ वनडे सीरीज में 3-0 से क्लीन स्वीप करने के बाद वनडे की टीम रैंकिंग में पहले स्थान पर कब्जा कर लिया है। वहीं टी20 की रैंकिंग में भी टीम इंडिया नंबर 1 पर काबिज है। अब अगर बात करें टेस्ट की तो टीम इंडिया यहां ऑस्ट्रेलिया के बाद दूसरे पायदान पर है। ऐसे में टीम इंडिया के पास अब मौका है तीनों फॉर्मेट में नंबर 1 टीम बनने का। भारतीय टीम 9 फरवरी से ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ चार मैचों की टेस्ट सीरीज खेलेगी। इस सीरीज का परिणाम जहां वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप की टैली पर तो असल डालेगा ही साथ ही रैंकिंग में भी इससे खासा असर पड़ेगा। 

भारतीय टीम वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप की टैली में भी ऑस्ट्रेलिया के बाद दूसरे स्थान पर है। वहीं टेस्ट की रैंकिंग में भी कंगारू टीम आगे है। ऐसे में 9 फरवरी से भारत में शुरू हो रही बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी में टीम इंडिया विजयी प्रदर्शन कर दोनों टैली में टॉप पोजीशन कब्जाना चाहेगी। अगर भारतीय टीम की बात करें तो भारत के पास इस सीजन अभी यह एकमात्र सीरीज बाकी है जिसमें चार टेस्ट मैच खेले जाएंगे। वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप फाइनल के लिए भारत को हर हाल में सीरीज जीतनी होगी। वहीं टेस्ट में नंबर 1 टीम बनने के लिए कई सारे समीकरण सामने आ रहे हैं।

कैसे टेस्ट में नंबर 1 बनेगी टीम इंडिया?

भारतीय टीम को टेस्ट रैंकिंग में नंबर 1 बनने के लिए भी हर हाल में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ आगामी टेस्ट सीरीज जीतनी होगी। अगर टीम इंडिया 2-0, 3-1, 3-0 या 4-0 से यह सीरीज जीत जाती है तो वह टेस्ट में भी नंबर एक की टीम बन जाएगी। टेस्ट रैंकिंग में नंबर एक पर काबिज ऑस्ट्रेलिया के 126 रेटिंग पॉइंट्स हैं तो दूसरे स्थान पर मौजूद भारत के 115 अंक हैं। अंतर काफी बड़ा है इसी लिए ऊपर बताए गए समीकरण टीम इंडिया के लिहाज से खास हो जाते हैं। भारत के बाद तीसरे स्थान पर इंग्लैंड है जिसके 107 अंक हैं तो चौथे स्थान पर 102 रेटिंग पॉइंट्स के साथ साउथ अफ्रीका मौजूद है। न्यूजीलैंड की टीम टॉप-5 की आखिरी टीम है जिसके 99 पॉइंट्स हैं।

WTC 2023 का अपडेटेड पॉइंट्स टेबल

Image Source : ICC

WTC 2023 का अपडेटेड पॉइंट्स टेबल

वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप का क्या है समीकरण?

भारत की बात करें तो उसे वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल में जाने के लिए ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ हर हाल में सीरीज जीतनी होगी। अगर भारत वो सीरीज ड्रॉ करवाता है और उधर श्रीलंका की टीम न्यूजीलैंड के खिलाफ सीरीज जीत जाती है तो भारतीय टीम के लिए मुश्किल हो सकती है। यानी भारत को अपनी जीत के साथ श्रीलंका की हार के लिए भी दुआ करनी होगी। इस संस्करण में अभी भारत को ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ फरवरी-मार्च में चार टेस्ट मैच बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी में खेलने हैं। वहीं श्रीलंका को न्यूजीलैंड दौरे पर दो टेस्ट मैचों की सीरीज खेलनी है। भारतीय टीम अभी 58.93 विनिंग पर्सेंट के साथ दूसरे स्थान पर है। वहीं ऑस्ट्रेलिया 75.56 के साथ टॉप पर काबिज है। तीसरे स्थान पर मौजूद श्रीलंका के 53.33 विनिंग पर्सेंट अंक हैं।

यह भी पढ़ें:-

Latest Cricket News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। Cricket News in Hindi के लिए क्लिक करें खेल सेक्‍शन





Source link

Sports

Ashes से बड़ी है भारत दौरे की चुनौती, ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों ने Video में खुद कबूला सच

Published

on

By


Image Source : GETTY
बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी को लेकर ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों ने दिया बड़ा बयान

IND vs AUS: भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच चार मैचों की टेस्ट सीरीज का पहला मैच गुरुवार से नागपुर में खेला जाएगा। WTC के फाइनल के मध्यनजर यह सीरीज दोनों टीमों के अहम है। लेकिन ऑस्ट्रेलियाई टीम के लिए यह सीरीज और भी अहम है क्योंकि पिछले तीन बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी से उन्हें हार का सामना करना पड़ रहा है। इसमें से दो सीरीज उन्होंने तो अपने घर पर गंवाई है। पिछले बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी में गाबा मिली हार ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी आज भी नहीं भूल सके हैं। वहीं भारत में उन्होंने 18 सालों से एक भी टेस्ट सीरीज नहीं जीती है। इसी बीच ऑस्ट्रेलिया के स्टार खिलाड़ी स्टीव स्मिथ और डेविड वार्नर ने इस सीरीज को लेकर बड़ा बयान दे दिया है।

क्या बोले ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी

स्टीव स्मिथ और डेविड वार्नर समेत ऑस्ट्रेलिया के टॉप खिलाड़ियों का मानना है कि भारत में टेस्ट सीरीज में जीत एशेज जीतने से बड़ी उपलब्धि है। क्रिकेट डॉट कॉम डॉट एयू पर पोस्ट किए गए एक वीडियो में ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों ने भारत दौरे की चुनौतियों के बारे में बात की। इस वीडियो में स्मिथ ने कहा ‘‘सीरीज की बात छोड़िए, भारत में टेस्ट जीतना भी चुनौतीपूर्ण है। हम अगर ऐसा करने में सफल रहे तो यह काफी बड़ी बात होगी। मुझे लगता है कि अगर आप भारत में टेस्ट सीरीज जीतते हैं तो यह एशेज जीत से बड़ी सफलता है।’’ 

ऑस्ट्रेलिया के सलामी बल्लेबाज डेविड वॉर्नर ने कहा कि वह दुनिया के बेस्ट स्पिन गेंदबाजों के खिलाफ खेलने के लिए काफी ज्यादा उत्सुक हैं। उन्होंने कहा, ‘‘पिछली एशेज का हिस्सा बनना शानदार था लेकिन भारत जाना और भारत को भारत में हराना हमारे लिए टेस्ट क्रिकेट में सबसे कठिन चुनौती है। मैं दौरे के लिए उत्सुक हूं, यह हमेशा एक कठिन परीक्षा होती है। इस दौरे पर मैं दुनिया के सर्वश्रेष्ठ स्पिनरों के खिलाफ खुद को परखने के लिए तैयार हूं।’’ 

तेज गेंदबाज जोश हेजलवुड ने कहा, ‘‘ काफी समय हो गया जब ऑस्ट्रेलिया ने भारत में टेस्ट सीरीज अपने नाम की हो। वर्ल्ड क्रिकेट में यह हर किसी का लक्ष्य भारत में कोशिश करना और जीतना होता है।’’ मिचेल स्टार्क ने भी कहा कि ‘‘भारत में सीरीज जीतना किसी भी टीम के लिए सिर पर ताज के समान है। अगर हम भारत दौरे और इंग्लैंड दौरे पर एशेज में जीत दर्ज करते हैं तो यह शानदार उपलब्धि होगी। 

क्या बोले कप्तान

कमिंस ने कहा, ‘‘ भारत में श्रृंखला जीतना इंग्लैंड में एशेज जीतने की तरह है। मैं हालांकि इसे एशेज से बड़ी उपलब्धि मानूंगा। अगर हम यहां जीतते हैं तो यह करियर की बड़ी उपलब्धि होगी।’’

Latest Cricket News





Source link

Continue Reading

Sports

IND vs AUS: ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों का डर तो देखिए…नागपुर टेस्ट से पहले पूरी टीम में घबराहट का माहौल

Published

on

By


नागपुर: भारत में चार टेस्ट मैचों की सीरीज के लिए ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी पूरी तरह से तैयार हैं। नागपुर टेस्ट से पहले पूर्व कप्तान स्टीव स्मिथ और डेविड वार्नर सहित ऑस्ट्रेलिया के शीर्ष खिलाड़ियों का मानना है कि इस देश में सीरीज में जीत एशेज जीतने से बड़ी उपलब्धि है। दोनों देशों के बीच चार मैचों की सीरीज का आगाज नौ फरवरी से नागपुर में होगा। ‘क्रिकेट डॉट कॉम डॉट एयू’ पर जारी वीडियो में ऑस्ट्रेलिया के खिलाड़ियों ने भारत दौरे की चुनौतियों के बारे में बात की।

इस वीडियो में स्मिथ ने कहा, ‘सीरीज की बात छोड़िये, भारत में टेस्ट जीतना भी चुनौतीपूर्ण है। हम अगर ऐसा करने में सफल रहे तो यह काफी बड़ी बात होगी। मुझे लगता है कि अगर आप भारत में टेस्ट सीरीज जीतते हैं तो यह एशेज जीत से बड़ी सफलता है।’

अनुभवी ओपनर बल्लेबाज वॉर्नर ने कहा कि वह दुनिया के सर्वश्रेष्ठ स्पिनरों के खिलाफ खेलने को लेकर उत्सुक हैं। उन्होंने कहा, ‘पिछली एशेज का हिस्सा बनना शानदार था लेकिन भारत जाना और भारत को भारत में हराना हमारे लिए टेस्ट क्रिकेट में सबसे कठिन चुनौती है। मैं दौरे के लिए उत्सुक हूं, यह हमेशा एक कठिन परीक्षा होती है। इस दौरे पर मैं दुनिया के सर्वश्रेष्ठ स्पिनरों के खिलाफ खुद को परखने के लिए तैयार हूं।’

तेज गेंदबाज जोश हेजलवुड ने कहा, ‘काफी समय हो गया जब ऑस्ट्रेलिया ने भारत में टेस्ट सीरीज अपने नाम की हो। विश्व क्रिकेट में यह हर किसी का लक्ष्य भारत में कोशिश करना और जीतना होता है।’ उनके साथी तेज गेंदबाज और चोट के कारण पहले टेस्ट से बाहर मिचेल स्टार्क ने कहा, ‘भारत में सीरीज जीतना किसी भी टीम के लिए सिर पर ताज के समान है।’

स्टार्क और उनके कप्तान तेज पैट कमिंस भारत में और इस साल के अंत में इंग्लैंड में एशेज जीतने की कोशिश कर रहे है। स्टार्क ने कहा, ‘अगर हम भारत दौरे और इंग्लैंड दौरे पर एशेज में जीत दर्ज करते हैं तो यह शानदार उपलब्धि होगी। कमिंस ने कहा, ‘भारत में सीरीज जीतना इंग्लैंड में एशेज जीतने की तरह है। मैं हालांकि इसे एशेज से बड़ी उपलब्धि मानूंगा। अगर हम यहां जीतते हैं तो यह करियर की बड़ी उपलब्धि होगी।’

PSL: 6 छक्के खाना भी बड़ी बात… इफ्तिखार अहमद से कुटाई के बाद ये क्या बोल गए वहाब रियाज
Javed Miandad: भाड़ में जाए… जावेद मियांदाद ने फिर उगला भारत के खिलाफ जहर, बदमिजाजी की इंतहा तो देखिए
IND vs AUS: नहीं बचे तो अश्विन कर देंगे तबाह… नागपुर टेस्ट से पहले कंगारू ओपनर का बड़ा बयान



Source link

Continue Reading

Sports

IND vs AUS: ऑस्ट्रेलिया पर कहर बनकर टूटेंगे अश्विन बस करना होगा यह काम, रवि शास्त्री ने दिया घर में जीत का मास्टर प्लान

Published

on

By


नागपुर: भारतीय टीम पूर्व कोच रवि शास्त्री का मानना है कि बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ घरेलू टीम का प्रदर्शन काफी हद तक अनुभवी स्पिनर रविचंद्रन अश्विन की फॉर्म पर निर्भर करेगा। उन्होंने कहा कि चार मैचों की इस सीरीज में अश्विन को ‘जरूरत से ज्यादा योजना’ बनाने से बचना चाहिए। शास्त्री के कोच रहते भारतीय टीम ने ऑस्ट्रेलिया में लगातार दो टेस्ट सीरीज जीती थी। उन्होंने टीम को मध्यक्रम में मैच का रूख बदलने की क्षमता रखने वाले सूर्यकुमार यादव को रखने की सलाह देते हुए कुलदीप यादव को तीसरे स्पिनर के रूप में शामिल करने वकालत की।

शास्त्री ने इस सीरीज के आधिकारिक प्रसारक स्टार स्पोर्ट्स के द्वारा आयोजित इंटरव्यू में कहा, ‘आप यह नहीं चाहते हैं कि अश्विन जरूरत से ज्यादा योजना बनाए। वह अगर योजना पर टिके रहे तो यही काफी होगा, वह इन परिस्थितियों में काफी अहम खिलाड़ी है। उनकी फॉर्म इस सीरीज का रुख तय करेगी। अश्विन गेंद के साथ बल्ले से भी योगदान देंगे।’ शास्त्री ने कहा, ‘अश्विन अगर अच्छे फॉर्म में हुए तो यह सीरीज का नतीजे तय कर सकता है। वह विभिन्न परिस्थितियों में विश्व स्तरीय खिलाड़ी है लेकिन भारतीय परिस्थितियों में वह और भी घातक है। अगर गेंद को पिच से मदद मिलती है और गेंद घूमती है तो वह ज्यादातर बल्लेबाजों को परेशान करेगा।’

अश्विन को दिखाना होगा अपना स्वभाविक खेल

इस पूर्व ऑलराउंडर ने कहा, ‘ऐसे में आप नहीं चाहते कि वह जरूरत से ज्यादा सोचे और अलग-अलग चीजों का प्रयास करे। उसे अपना नैसर्गिक खेल खेलना होगा और बाकी काम पिच करेगी। भारत में पिच से काफी मदद मिलती है।’ उन्होंने कहा, ‘जहां तक तीसरे स्पिनर की बात है तो मैं कुलदीप को खेलते हुए देखना चाहूंगा। जडेजा और अक्षर काफी हद तक एक समान गेंदबाज हैं। कुलदीप अलग हैं। अगर आप पहले दिन टॉस हार जाते हैं, तो आपको किसी ऐसे खिलाड़ी की जरूरत होती है जो आपको विकेट दिलाए।’

उन्होंने कहा, ‘मैच के पहले दिन कुलदीप के पास गेंद को सबसे ज्यादा घुमाने की क्षमता है। अगर गेंदबाजों को पिच से ज्यादा मदद नहीं मिली तो कुलदीप का महत्व और बढ़ जायेगा। शास्त्री से जब पूछा गया कि वह इस सीरीज में किस तरह की पिच चाहते है तो उन्होंने कहा कि ऐसी पिच जहां पहले दिन से ही गेंद टर्न करे। उन्होंने कहा, ‘मैं चाहता हूं कि गेंद पहले दिन से टर्न करे। अगर आप टॉस गंवाते है तो भी पिच से मदद मिलेगी। घरेलू परिस्थितियों का फायदा उठाना चाहिए।’

शास्त्री ने टीम में सूर्यकुमार यादव को शामिल करने की वकालत करते हुए कहा कि भारत को 12 खिलाड़ियों को तैयार रखना चाहिए और पिच के मिजाज को देखते हुए शुभमन गिल को टीम की योजना का हिस्सा रखना चाहिए। उन्होंने दोनों में किसी एक को टीम में शामिल करने को मुश्किल चयन करार देते हुए कहा, ‘यह काफी मुश्किल होगा। आपको पांचवें नंबर के लिए अपना सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी चुनना होगा। सूर्या ऐसा खिलाड़ी है जो लगातार रन बनाता है और स्ट्राइक रोटेट करता है। भारत में अच्छा करने के लिए आपको स्ट्राइक रोटेट कर गेंदबाजों को लय हासिल करने से रोकना होता है।’

स्पिनरों के लिए मददगार होगी पिच

स्पिनरों की मददगार पिच में तेजी से खेली गयी 30-40 रन की पारी मैच का रुख बदल सकती है। शास्त्री को उम्मीद है कि पूर्व कप्तान विराट कोहली ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ अपना दमदार प्रदर्शन जारी रखेंगे। उन्होंने कहा, ‘ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ उसका रिकॉर्ड सब कुछ बयां करता है। वह जोश से भरा होगा और दमदार शुरुआत करना चाहेगा। वह अगर अपनी पहली दो पारियों में अच्छा करने में सक्षम रहा तो फिर ऑस्ट्रेलिया के लिए उसे रोकना आसान नहीं होगा।’

शास्त्री ने कहा कि चोटिल विकेटकीपर ऋषभ पंत की कमी को भरना टीम के काफी मुश्किल होगा। उन्होंने कहा कि टीम में बेहतर बल्लेबाज इशान किशन और बेहतर विकेटकीपर कोना भरत में से किसी एक को चुनना चुनौतीपूर्ण होगा। उन्होंने कहा, ‘इससे पता चलता है कि पंत भारत के लिए कितने अहम है। वह सभी खांचे में फिट बैठते है। वह खतरनाक बल्लेबाज है और उसने हाल के दिनों में सबसे ज्यादा मैच जिताऊ पारियां खेली है।’ उन्होंने कहा, ‘अगर पिच से गेंद टर्न होती है तो बेहतर कीपर को खेलना चाहिए। जडेजा, कुलदीप और अश्विन के लिए उन्हें स्टंप्स के पीछे अच्छे कीपर की जरूरत होगी। अब यह आपके ऊपर है कि आप किसे बेहतर विकेटकीपर मानते हैं।’



Source link

Continue Reading