Connect with us

TRENDING

Flipkart Big Billion Day: सबसे बड़ी सेल के आखिरी दिन तगड़े ऑफर, 5.5 हजार रुपये से कम में खरीदें स्मार्टफोन

Published

on


23 सितंबर को शुरू हुई फ्लिपकार्ट की बिग बिलियन डे सेल (Flipkart Big Billion Day Sale) आज खत्म होने वाली है। ऐसे में बंपर डिस्काउंट और ऑफर के साथ पसंदीदा स्मार्टफोन खरीदने का आज आपके पास आखिरी मोका है। सेल में ICICI और ऐक्सिस बैंक के कार्ड से पेमेंट करने पर आपको 10 पर्सेंट का इंस्टेंट डिस्काउंट भी मिलेगा। बिग बिलियन डे सेल में सभी कैटिगरी के स्मार्टफोन्स पर साल की सबसे शानदार डील्स दी जा रही हैं। वहीं, अगर आप कम कीमत में अपने लिए दमदार फीचर वाला हैंडसेट चाहते हैं, तो भी फ्लिपकार्ट की इस सेल में आपके लिए कई ऑप्शन मौजूद हैं। सेल में आप 5.5 रुपये से कम की कीमत में भी स्मार्टफोन खरीद सकते हैं। तो आइए जानते हैं बिग बिलियन डे सेल में मिलने वाले सबसे सस्ते स्मार्टफोन कौन से हैं। 

इनफीनिक्स स्मार्ट 6 एचडी

8,999 रुपये की MRP के साथ आने वाले इस फोन को सेल में आप डिस्काउंट और ऑफर्स के साथ 5,219 रुपये में खरीद सकते हैं। फोन 2जीबी रैम और 32जीबी के इंटरनल स्टोरेज के साथ आता है। इसके रियर में 8 मेगापिक्सल और फ्रंट में 5 मेगापिक्सल का कैमरा लगा है। 5000mAh की बैटरी से लैस इस फोन में आपको मीडियाटेक हीलियो A22 प्रोसेसर मिलेगा। 

रियलमी नारजो 50i

धांसू फीचर्स के साथ आने वाला यह एंट्री लेवल फोन बेहद कम दाम में आपका हो सकता है। सेल में इसकी कीमत 7,999 रुपये की MRP से घट कर 5,499 रुपये हो गई है। 2जीबी रैम के साथ आने वाले इस फोन में SC9863A प्रोसेसर लगा है। फोटोग्राफी के लिए इसके बैक पैनल पर 8 मेगापिक्सल और फ्रंट में 5 मेगापिक्सल का कैमरा दिया गया है। इस फोन की बैटरी 5000mAh की है। 

मोटो E40

48 मेगापिक्सल के कैमरे से लैस इस फोन की MRP 10,999 रुपये है। सेल में ऑफर्स के साथ आप इसे 7,999 रुपये में खरीद सकते हैं। फोन 4जीबी रैम और 64जीबी के इंटरनल स्टोरेज के साथ आता है। इसकी मेमरी माइक्रो एसडी कार्ड की मदद से आप 1टीबी तक बढ़ा भी सकते हैं। 6.5 इंच के डिस्प्ले से लैस यह फोन Unisoc T700 प्रोसेसर पर काम करता है। 

पोको C31

पोको का यह फोन सेल में तीन रियर कैमरे वाला सबसे सस्ता हैंडसेट बन गया है। इसकी MRP 10,999 रुपये है, लेकिन सेल में आप इसे 6,499 रुपये में खरीद सकते हैं। 4जीबी रैम वाले इस फोन में मीडियाटेक G35 प्रोसेसर लगा है। फोटोग्राफी के लिए रियर में 13 मेगापिक्सल के प्राइमरी कैमरा के साथ दो 2 मेगापिक्सल के कैमरे दिए गए हैं। फोन में कंपनी 6.53 इंच का एचडी+ डिस्प्ले ऑफर कर रही है।

सैमसंग F13

14,999 रुपये की MRP वाले इस फोन की कीमत सेल में 8,499 रुपये हो गई है। फोन में आपको 6.6 इंच का फुल एचडी डिस्प्ले और 50 मेगापिक्सल का मेन कैमरा मिलेगा। 6000mAh की बैटरी से लैस यह फोन Exynos 850 प्रोसेसर पर काम करता है। 

यह भी पढ़ें: 50MP के कैमरे के साथ आया Redmi का नया 5G फोन, डिस्प्ले और प्रोसेसर भी दमदार

(Photo: iPhone Droid)



Source link

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

TRENDING

“शर्मनाक और बेबुनियाद आरोप…”राहुल गांधी के आरोपों पर बोले BJP नेता रविशंकर प्रसाद

Published

on

By


नई दिल्ली:

लोकसभा में राष्ट्रपति के अभिभाषण को लेकर हो रही चर्चा के दौरान सोमवार को कांग्रेस के वरिष्ठ नेता राहुल गांधी ने पीएम मोदी और गौतम अडाणी को लेकर तीखी टिप्पणी की थी. राहुल गांधी के उस बयान पर अब भारतीय जनता पार्टी (BJP)ने पलटवार किया है. BJP के वरिष्ठ नेता रविशंकर प्रसाद ने सोमवार को राहुल गांधी के संसद में दिए भाषण को लेकर एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की है.  इस दौरान रविशंकर प्रसाद ने कहा कि राहुल गांधी ने लोकसभा जो कुछ कहा वो बेहद शर्मनाक था. उनके सारे आरोप बेबुनियाद हैं. हम उम्मीद कर रहे थे कि राष्ट्रपति के अभिभाषण को लेकर हो रही चर्चा के दौरान राहुल गांधी मर्यादा का ख्याल रखेंगे लेकिन उन्होंने जिस बेशर्मी के साथ आरोप लगाए हैं, इस कारण जरूरी हो जाता है कि उनके और उनके परिवार की सच्चाई भी सामने लाई जाए.  

यह भी पढ़ें

रविशंकर प्रसाद ने प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान कहा कि राहुल गांधी ने जितने आरोप लगाए सब गलत हैं. चाहे वह श्रीलंका के बारे में हो या भारत के बारे में सब कुछ नियमों के तहत हुआ है. और कई प्रदेशों में भी हुआ है. लेकिन मुझे लगता है कि राहुल गांधी को अपनी याददाश्त को ठीक करने की जरूरत है. मैं आपको याद दिला दूं कि आप और आपकी माता जी बेल पर हैं. आपके बहनोई भी बेल पर हैं. 

प्रेस कांप्रेंस के दौरान रविशंकर प्रसाद ने राहुल गांधी से कुछ सवाल भी पूछे. उन्होंने कहा कि राहुल गांधी आप इसका जवाब दीजिए कि नेशनल हेराल्ड स्कैंडल क्या है. 90 करोड़ रुपये के लोन को राइट ऑफ कर दिया गया और नेशनल हेराल्ड जैसी पुरानी वेल नोन न्यूज़पेपर के सारे शेयर आपके पास आ गए. क्या दिल्ली क्या लखनऊ क्या मुंबई हर जगह हजारों की संपत्ति आपके और आपके माता जी के पास आ गए. आप हाईकोर्ट गए थे क्या हुआ असफल हो गए. आज आप ट्रायल फेस करने वाले हैं. नेशनल हेराल्ड का मामला एकलौता ऐसा मामला नहीं है.

एक मामला राजीव गांधी ट्रस्ट का भी है. अमेठी में जहां डेढ़ बीघा से ज्यादा जमीन ली गई कुछ काम नहीं हुआ उसको भी सीएम योगी की सरकार ने रिकवर किया. बाकी अगस्तावेस्टलैंड घोटाला क्या है?  2013 में उस कंपनी से कमीशन लेने का आरोप था. 12 हेलीकॉप्टर खरीदने में 360 करोड़ रिश्वत लेने की बात थी. उसका भी ट्रायल हुआ. 

अब जरा वाड्रा साहब की बात करें वह आपके बहनोई हैं. जीजा जी के DLF घोटाला में क्या हु,  कैसे 65 करोड़ का ब्याज रहित लोन मिल गया और जमीन भी मिल गई. आपने जो सस्ती जमीन ली थी, उसे बाद में आपने दाम बढ़ाकर बेच दिया. कोयला घोटाला, आदर्श घोटाला यह सब क्या था ? 

Featured Video Of The Day

वायरल वीडियो : यॉट पर बेली डान्स कर इंटरनेट पर छा गईं नोरा फतेही



Source link

Continue Reading

TRENDING

किसी म्यूचुअल फंड में पैसा लगाने से पहले किन बातों का ख्याल निवेशकों को रखना चाहिए? जानें यहां

Published

on

By


Photo:CANVA म्यूचुअल फंड में SIP के जरिए 500 रुपये भी निवेश कर सकते हैं।

लोगों के पैसे होने पर अलग-अलग जगह निवेश कर इसे बढ़ाने की कोशिश करते हैं। अधिक से अधिक ब्याज दर मिल सके इसके लिए कई सरकारी योजनाएं भी है। वहीं दूसरी तरफ जो लोग नियमित रूप से निवेश नहीं करना चाहते हैं, उनके लिए म्यूचल फंड एक बेहतरीन विकल्प साबित हो रहा है। इसकी शुरुआत एसआईपी के जरिए मात्र 500 और 1000 रुपये देकर भी कर सकते हैं। इसके लिए कहीं जाने की जरूरत नहीं पड़ती है। ऑनलाइन ऐप के जरिए निवेश करना बेहद आसान है। अगर आप भी इसकी शुरुआत करने जा रहे हैं तो इन बातों का जरूर ख्याल रखें।

सही म्यूचुअल फंड चुनें

निवेश करने से पहले सही म्यूचुअल फंड का चुनाव करना एक बहुत ही चैलेंजिंग काम होता है। कुछ लोग जल्दी बाजी में निवेश तो कर देते हैं, लेकिन उन्हें आगे चलकर सही रिटर्न नहीं मिल पाने के कारण निराश हो जाते हैं। जो आपकी जरूरत को समय के अनुसार पूरा कर सके उसी म्यूचुअल फंड में पैसे निवेश करना चाहिए। इसके लिए आप चार्ट को एनालाइज कर अपने अनुसार एक लिस्ट बना सकते हैं। इसके बाद जिसमें आपको अधिक रिटर्न मिले वहीं निवेश करें। इसके अलावा किसी आर्थिक सलाहकार से भी मदद ले सकते हैं। 

एक्‍सपेंस रेश्‍यो पर रखें नजर 

किसी भी म्यूचुअल फंड में निवेश करने से पहले समय के अनुसार एक्सपेंस रेश्‍यो को जरूर चेक करें। आमतौर पर लोग फंड पर 14 से 15 परसेंट रिटर्न की उम्मीद करते हैं। लेकिन एक्सपेंस रेश्यो बीच में आ जाने की वजह से इस दर में भी कमी आ जाती है। अब आप सोच रहे होंगे कि आखिर एक्सपेंस रेश्यो क्या होता है? फंड मैनेजमेंट पर होने वाले खर्च को एक्‍सपेंस रेश्‍यो कहते हैं। 

शेयर बाजार के उतार-चढ़ाव से होता है प्रभावित 

म्यूचुअल फंड में पैसे लगाने से पहले शेयर बाजार के ऊपर नजर बनाकर रखने से आपको कभी भी नुकसान नहीं होगा। इसमें उतार-चढ़ाव होने से कई बार लोगों को सही दर से रिटर्न नहीं मिलने के कारण निराशाएं मिलती है। यह काम काफी वित्तीय जोखिम भरा होता है। इसलिए सभी पहलुओं पर ध्यान देने के बाद ही आप अधिक रिटर्न ले सकेंगे। स्मॉल कैप के मुकाबले लार्ज कैप में निवेश करने से जोखिम कम होता है।

Latest Business News





Source link

Continue Reading

TRENDING

बिलकिस बानो केस: दोषियों की रिहाई के खिलाफ याचिका, SC ने कहा- जल्दी सूचीबद्ध करेंगे, विशेष पीठ का होगा गठन

Published

on

By


ऐप पर पढ़ें

उच्चतम न्यायालय ने बिलकिस बानो मामले की सुनवाई के लिए नई पीठ बनाने के लिए कहा है। मंगलवार को बिलकिस बानो की याचिका पर सुनवाई करते हुए अदालत ने याचिकाकर्ता को कहा कि इसके लिए वह शीघ्र एक विशेष पीठ गठित करेगा। मुख्य न्यायाधीश डी. वाई. चद्रचूड़ की अध्यक्षता वाली पीठ ने बिलकिस के अधिवक्ता शोभा गुप्ता की गुहार पर सुनवाई के लिए सहमति व्यक्त की। अ

धिवक्ता ने विशेष उल्लेख के दौरान इस मामले पर शीघ्र सुनवाई की गुहार लगाई थी। गुजरात के चर्चित बिलकिस बानो केस के 11 दोषियों को समय पूर्व जेल से रिहा करने के खिलाफ लगाई गई याचिका पर सुप्रीम कोर्ट ने याचिकाकर्ता को यह भी आश्वस्त किया कि वो इस मामले को जल्द सूचीबद्ध करेगा। अदालत में आरोपियों की रिहाई को चुनौती देने वाली बिलकिस बानो की याचिका पर न्यायाधीश ने कहा कि मामले को जल्द सूचीबद्ध किया जाएगा।

रिहा हो गए हैं 11 दोषी

बिलकिस बानो ने सामूहिक दुष्कर्म के 11 दोषियों की रिहाई या समय से पहले रिहाई को शीर्ष अदालत में चुनौती देते हुए एक रिट याचिका दायर की थी। गुजरात सरकार ने उम्रकैद की सजा काट रहे 11 दोषियों को 15 अगस्त को रिहा कर दिया था। सरकार ने सभी 11 आजीवन दोषियों को वर्ष 2008 में उनकी सजा के समय गुजरात में प्रचलित छूट नीति के अनुसार रिहा किया था।

दंगे के दौरान बिलकिस के साथ गैंगरेप का आरोप

गुजरात में वर्ष 2002 के दंगों के दौरान बिलकिस बानो के साथ कथित तौर पर सामूहिक दुष्कर्म किया गया था और उसकी तीन साल की बेटी सहित उसके परिवार के 14 सदस्यों के साथ मरने के लिए छोड़ दिया गया था। वडोदरा में जब दंगाइयों ने बिलकिस बानो के परिवार पर हमला किया तब वह पांच महीने की गर्भवती थी।

शीर्ष अदालत ने 13 दिसंबर को बिलकिस की पुनर्विचार याचिका खारिज कर दी थी। सर्वोच्च अदालत ने याचिका खारिज करते हुए कहा था, ‘हमारी राय में 13 मई, 2022 के फैसले में कोई त्रुटि दिखाई नहीं देती, जिसके चलते समीक्षा की जा सके।…’

 



Source link

Continue Reading