Connect with us

Sports

Fifa World Cup 2022: मैच था या बवाल… अर्जेंटीना को सऊदी अरब ने हराया, देखते रह गए लियोनेल मेसी

Published

on


दोहा: कतर में जारी फीफा वर्ल्ड कप में मंगलवार को बड़ा उलटफेर देखने को मिला। पिछले 36 मैचों से अजेय चल रही अर्जेंटीना टीम टूर्नामेंट का अपना पहला ही मैच हार गई। कम रैंकिंग की टीम सऊदी अरब ने 2-1 से हराया। अर्जेंटीना टीम ने आखिरी मिनट तक कोशिशें जारी रखीं, लेकिन स्कोर बराबर नहीं कर पाई। अर्जेंटीना के लिए एकमात्र गोल लियोनेल मेसी ने पेनल्टी किक से किया था।

नहीं पचती अर्जेंटीना की ये हार
अर्जेंटीना ने चार साल पहले विश्वकप में अपने अभियान की शुरुआत आइसलैंड के खिलाफ 1-1 से ड्रॉ खेलकर किया था, लेकिन यहां उसके साथ खेल हो गया। कहां टीम पहले बड़े अंतर से जीत के साथ मैदान पर उतरी थी, लेकिन अब तो इज्जत के भी कचरे हो गए। अर्जेंटीना का पिछले कुछ समय में प्रदर्शन अच्छा रहा है, जिसमें 2021 में कोपा अमेरिका का खिताब भी शामिल है। यह उसका पिछले 28 वर्षों में किसी बड़े टूर्नामेंट में पहली खिताबी जीत थी।

ऑफसाइड बना दुश्मन

लियोनेल मेसी के पेनल्टी शूट पर गोल के बाद अर्जेंटीना के लिए दूसरा गोल लोटारो मार्टिनेज ने किया था, लेकिन उसे रेफरी ने खारिज कर दिया। वीएआर चेक में इसे ऑफसाइड बताया गया। इससे पहले मेसी का भी एक गोल ऑफसाइड हो गया था।

हार के बावजूद मेसी ने रचा इतिहास
सऊदी अरब के खिलाफ इस मैच में उतरते ही लियोनेल मेसी पांच विश्वकप खेलने का रिकॉर्ड बना गए, जो कि डिएगो माराडोना और जेवियर मासचेरानो से एक ज्यादा मैच है। मुकाबले में मेसी ने 10वें मिनट में अर्जेंटीना को बढ़त दिलाई, उन्होंने पेनल्टी पर गोल किया। मेसी का यह विश्व कप इतिहास में यह सातवां गोल है। वह अर्जेंटीना के लिए चार अलग-अलग विश्व कप में गोल करने वाले पहले फुटबॉलर बन गए हैं, उन्होंने 2006, 2014, 2018 और 2022 में गोल किया।

कैसे जीता सऊदी अरब
पहले हाफ में पिछड़ने के बाद सऊदी अरब ने दूसरे हाफ के शुरुआत में लगातार अटैक किए। 48वें मिनट में यह दबाव काम आ गया। अल बुरेकन के शानदार पास पर सालेह अलशेहरी ने गोल दागा। चंद मिनट बाद सऊदी अरब की खुशी दोगुनी हो गई। 53वें मिनट में सलेम अलडसारी ने हैरतंगेज गोल किया। सऊदी अरब ने साबित कर दिया कि एशियाई क्वालीफाइंग से विश्वकप में जगह बनाना, कोई तुक्का नहीं थी। विश्वकप में पांच बार जगह बनाने के बावजूद सऊदी अरब सिर्फ एक बार अंतिम 16 में पहुंचा है। शायद इस बार इतिहास बदल जाए।

Fifa World cup: 10वें मिनट में ही चला मेसी का जादू, अपनी जगह से हिल भी नहीं पाया गोलकीपर, बनाए कई रिकॉर्डFifa World cup: ईरान के लोग चाहते हैं टीम विश्व कप हार जाए… फीफा में खिलाड़ियों के फैसले से भूचाल आ गया है



Source link

Sports

हवा में जंप और सिर से करारा प्रहार, सिर्फ 68 सेकंड में दाग दिया सबसे तेज गोल

Published

on

By


रेयान (कतर): लियोनेल मेसी, क्रिस्टियानो रोनाल्डो और रॉबर्ट लेवांडोव्स्की जैसे धाकड़ फुटबॉलरों का जलवा तो देख ही लिया होगा आपने, लेकिन ये खिलाड़ी जो काम नहीं कर सके उसे अलफोंसो डेविस ने कर दिखाया। बायर्न म्यूनिख के स्टार खिलाड़ी ने फीफा वर्ल्ड कप 2022 का सबसे तेज गोल दागा। उन्होंने मैदान पर उतरने के सिर्फ 68वें सेकंड में ही हेड किक से गेंद को जाल में उलझा दिया। हालांकि, उनकी टीम को करारी हार झेलनी पड़ी, क्योंकि विपक्षी टीम क्रोएशिया ने इसके बाद बैक टू बैक 4 गोल दागे।

क्रोएशिया की दमदार वापसी, आंद्रेज क्रैमारिच ने दागे 2 गोल
क्रोएशिया ने मजबूत वापसी करते हुए आंद्रेज क्रैमारिच के दो गोल की मदद से फीफा विश्व कप मैच में कनाडा को 4-1 से हराकर बाहर कर दिया। कनाडा की टीम 36 साल में पहली बार विश्व कप में खेल रही थी लेकिन कतर में दो मैचों के बाहर ही टूर्नामेंट से बाहर हो गई। अलफोंसो डेविस ने दूसरे ही मिनट में कनाडा के लिए विश्व कप का पहला गोल दागा और अपनी टीम को बढ़त दिलाई।

शुरुआती मैच में मोरक्को से गोलरहित ड्रॉ खेलने वाली क्रोएशिया ने वापसी कर चार गोल दाग दिए। रूस में 2018 विश्व कप की उप विजेता रही क्रोएशिया के लिए खलीफा अंतरराष्ट्रीय स्टेडियम में क्रैमारिच (36वें और 70वें मिनट) के अलावा मार्को लिवाजा (44वें मिनट) और लोवरो माएर (90+4वें मिनट) ने भी गोल किए। कप्तान लुका मौद्रिच (37 वर्ष) टूर्नामेंट में अपने पहले गोल की तलाश में थे लेकिन सफल नहीं हुए।

यह संभवत: उनका अंतिम विश्व कप है। क्रोएशिया और बेल्जियम को 2-0 से हराकर उलटफेर करने वाली मोरक्को के ग्रुप एफ में चार चार अंक हैं। बेल्जियम के तीन अंक हैं और उसके पास अब भी अगले दौर में पहुंचने का मौका है। कनाडा को पहले दो मैचों में कोई अंक नहीं मिला और गुरुवार को मोरक्को के खिलाफ मुकाबले में जीत भी उसे अगले दौर में नहीं पहुंचा पाएगी। क्रोएशिया का सामना बेल्जियम से होगा। कनाडा इससे पहले 1986 में विश्व कप में पहुंची थी और तब भी ग्रुप चरण में ही बाहर हो गई थी।
Fifa: मोरक्को का गोलकीपर मैच से ठीक पहले रहस्यमयी तरीके से गायब, वर्ल्ड कप में मच गया हंगामाMessi World Cup: वाह मेसी वाह! झन्नाटेदार किक को रोकने में औंधे मुंह गिरा गोलकीपर, 7 प्लेयर्स को चीरते हुए जाल में समाई गेंदFifa World Cup: वाह रोनाल्डो… इतिहास रच दिया, 5 वर्ल्ड कप में गोल मारने वाले दुनिया के पहले आदमी



Source link

Continue Reading

Sports

जडेजा ने बताया, क्यों राहुल द्रविड़ को हमेशा टीम इंडिया के साथ होना चाहिए

Published

on

By



टीम इंडिया के पूर्व क्रिकेटर अजय जडेजा ने बताया है कि राहुल द्रविड़ को मुख्य कोच के रूप में क्यों हमेशा टीम इंडिया के साथ होना चाहिए। उनका कहना है कि जब खिलाड़ी खेल रहे हैं तो आप क्यों साथ नहीं हैं। 



Source link

Continue Reading

Sports

दुनिया के सबसे बड़े क्रिकेट स्टेडियम में हो सकता है वर्ल्ड कप 2023 फाइनल, यहां दर्शक बना चुके हैं वर्ल्ड रिकॉर्ड

Published

on

By


ऐप पर पढ़ें

दुनिया के सबसे बड़े क्रिकेट स्टेडियम का दर्जा अब भारत के गुजरात राज्य के अहमदाबाद के मोटेरा में बने नरेंद्र मोदी स्टेडियम को प्राप्त है। इस स्टेडियम की दर्शक क्षमता एक लाख 10 हजार से भी ज्यादा है। यही कारण है कि इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल यानी आईसीसी की निगाहें आईसीसी क्रिकेट वर्ल्ड कप 2023 का वर्ल्ड कप फाइनल इसी स्टेडियम में आयोजित करने की प्लानिंग में है। इस तरह की रिपोर्ट सामने आई है। 

बता दें कि वर्ल्ड कप 2023 की मेजबान भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड यानी बीसीसीआई के पास है और ये स्टेडियम बीसीसीआई और गुजरात क्रिकेट एसोसिएशन के अधीन है। ऐसे में दुनिया के सबसे बड़े क्रिकेट स्टेडियम का फायदा आईसीसी और भारत उठाना चाहता है। इसी वजह से मोटेरा में बने इस विशाल क्रिकेट स्टेडियम को क्रिकेट वर्ल्ड कप 2023 फाइनल की मेजबानी मिल सकती है। 

क्रोएशिया ने कनाडा को बुरी तरह हराया, फीफा वर्ल्ड कप 2022 से बाहर हुई ये टीम

आपकी जानकारी के लिए बता दें, रविवार 27 नवंबर को ही बीसीसीआई के सचिव जय शाह को इस स्टेडियम द्वारा बनाए गए गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड का सर्टिफिकेट भी मिला है। इस स्टेडियम में आईपीएल 2022 के फाइनल वाले दिन एक लाख से ज्यादा लोग मौजूद थे। इस तरह ये मैच स्टेडियम में बैठकर सबसे ज्यादा देखा जाने वाला टी20 मैच बन गया था। 



Source link

Continue Reading