Connect with us

Politics

Elon Musk ने किया बड़ा ऐलान, Trump के बाद अब बाकी सस्पेंड Twitter Accounts की होगी वापसी

Published

on


नई दिल्ली। Elon Musk ने जब से ट्विटर को खरीदा है तब से इस माइक्रो ब्लॉगिंग साइट में खलबली मच गई है। एलन मस्क ने एक के बाद एक कई बड़े बदलाव किए, किए नए फीचर्स पेश किए, सैंकड़ों पुराने कर्मचारियों को काम से निकाला। अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का ट्विटर अकाउंट बैन कर दिया गया था, लेकिन अब एलन मस्क ने उनके अकाउंट से संस्पेंशन हटा दिया है। ट्रंप के सस्पेंड अकाउंट की वापसी कराने के बाद अब एलन मस्क ने एक बड़ा ऐलान किया है। एलन मस्क ने कहा है कि वो अगले हफ्ते से बाकी यूजर्स के सस्पेंड अकाउंट्स को भी दोबारा से चालू यानी एक्टिव करेंगे।

इसके लिए एलन मस्क ने 24 नवंबर, 2022 को ट्विटर पर एक पोल क्रिएट किया। उस पोल में उन्होंने यूजर्स से पूछा कि क्या ट्विटर के बैन अकाउंट को ‘सामान्य माफी’ देनी चाहिए।

इस पोल के जवाब में 72.4% लोगों ने हां में जवाब दिया और 27.6% लोगों ने ना में जवाब दिया। इस पोल में मस्क को कुल 3,162,112 वोट मिले। इतनी बड़ी संख्या में हां को वोट मिलने के बाद एलन मस्क ने ऐलान किया कि अगले हफ्ते से वो बैन अकाउंट वाले यूजर्स को माफ करना शुरू कर देंगे।

उन्होंने एक ट्वीट में लिखा कि, वो यह फैसला जनता की राय लेकर ले रहे हैं। उन्होंने अपने उस ट्वीट में एक लैटिन मुहावरा लिखा, जिसका हिंदी अर्थ है, ‘जनता की आवाज, ईश्वर की आवाज है।’

इसका मतलब है कि अगर आपका ट्विटर अकाउंट सस्पेंड हुआ था और किसी भी प्रकार के कानून को तोड़ने या गंभीर स्कैम में शामिल नहीं है तो आप एक बार फिर से ट्विटर पर वापसी कर सकते हैं।





Source link

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Politics

Vi का धांसू पोस्टपेड प्लान! 1149 रुपये में मिलेंगे 5 कनेक्शन, प्रीपेड प्लान से भी कम आएगा बिल

Published

on

By


नई दिल्ली। टेलिकॉम मार्केट में कई ऐसे प्लान्स हैं जो यूजर्स के लिए कम पैसे में ज्यादा बेनिफिट्स उपलब्ध कराते हैं। प्रीपेड प्लान्स तो बहुत हैं और हमने आपको इनके लिए कई बार बताया भी है। लेकिन मार्केट में Jio, Airtel, Vi के पोस्टपेड प्लान्स भी मौजूद हैं। अब पोस्टपेड प्लान हैं तो लोगों को लगेगा कि महंगा ही होगा। लेकिन ऐसा नहीं है। वोडाफोन-आइडिया एक ऐसा प्लान उपलब्ध करा रही है जिसकी कीमत 1,149 रुपये है। लेकिन इसमें आपको 5 कनेक्शन मिलते हैं। यानी कि एक परिवार के लिए जिसमें 5 सदस्य हैं, एक कनेक्शन। हर महीने एक व्यक्ति की कॉस्ट करीब 229 रुपये आती है जो कि प्रीपेड प्लान से भी कम है। चलिए जानते हैं इस प्लान के बारे में।

Vi के 1,149 रुपये के प्लान की डिटेल्स: यह एक ऐसा प्लान है जिसमें 5 कनेक्शन की सुविधा मिलती है। प्राइमरी कनेक्शन की बात करें तो इसमें यूजर्स को 140 जीबी डाटा दिया जा रहा है। साथ ही अनलिमिटेड कॉलिंग की सुविधा भी दी जा रही है। साथ ही हर महीने 3000 SMS की सुविधा दी जा रही है। यूजर्श को 200GB डाटा रोलओवर की सुविधा दे रही है।

सेकेंडरी या बाकी के कनेक्शन्स की बात करें तो इसमें भी आपको अनलिमिटेड कॉल्स मिलेंगी। इसके साथ ही 40GB डाटा, 3000 SMS प्रति महीने दिए जा रहे हैं। साथ ही 200GB डाटा रोलओवर दिया जा रहा है। अन्य बेनिफिट्स की बात करें तो इसमें 6 महीने का Amazon Prime सब्सक्रिप्शन दिया जा रहा है। साथ ही 1 साल के लिए Disney+ Hotstar Mobile का सब्सक्रिप्शन दिया जा रहा है। Vi Movies & TV का एक्सेस भी दिया जा रहा है। वहीं, ZEE5 और Hungama Music का एक्सेस भी दिया जा रहा है।

अब जैसा हमने आपको बताया कि एक व्यक्ति की कॉस्ट करीब 229 रुपये आती है जो कि प्रीपेड प्लान से भी कम है। वहीं, बेनिफिट्स भी अच्छे हैं। तो इसे पैसा वसूल प्लान कहा जा सकता है।



Source link

Continue Reading

Politics

Elon Musk और Apple सीईओ का विवाद खत्म! iPhone यूजर्स ने ली राहत की सांस

Published

on

By


नई दिल्ली। Elon Musk और Apple कंपनी के बीच विवाद खत्म हो चुका है। इसके साथ ही iPhone यूजर्स राहत की सांस ले ली है, क्योंकि ऐसी खबरें थी कि Twitter ऐप को ऐपल अपने स्टोर से हटा सकता है। ऐसे में iPhone यूजर्स Twitter ऐप का इस्तेमाल नहीं कर सकते थे। लेकिन अब मामला खत्म हो चुका है। इसकी जानकारी खुद Elon Musk की तरफ से दी गई।

एलन मस्क ने विवाद पर लगाया विराम

Elon Musk ने ट्विटर पर एक पोस्ट करके जानकारी दी कि Apple के सीईओ टिम कुक के साथ चर्चा काफी शानदार रही। ऐसे में दोनों के बीच चल रहा युद्ध ख्तम हो गया। उन्होंने Apple हेडक्वॉर्टर का वीडियो साझा किया। Elon Musk ने कहा कि टिम कुक ने भरोसा दिलाया है कि ऐपल ऐप स्टोर से Twitter को नहीं हटाया जाएगा। उन्होंने कहा कि दोनों के बीच जारी सारे मतभेद खत्म हो चुके हैं।

इन ऐप टैक्स सिस्टम का विरोध
बता दें कि इससे पहले Elon Musk ने गूगल और ऐपल के साथ नाराजगी जाहिर की थी। उन्होंने कहा था कि यह दोनों ऐप स्टोर ऐप परचेज पर 30 फीसद टैक्स का विरोध किया है। एलन मस्क ने इन तरह के टैक्स सिस्टम को गैरजरूरी बताया था। इन ऐप परचेज सिस्टम से गूगल और ऐपल को मोटी कमाई होती है। लेकिन ऐप क्रिएटर्स इन तरह की पॉलिसी का लंबे वक्त से विरोध कर रहे थे।

ऐप को हर साल एक मिलियन डॉलर की कमाई

मौजूदा वक्त में अगर कोई यूजर्स ट्विटर ब्लू सब्सक्रिप्शन के लिए ऐप से पेमेंट करता हैं, तो उसे 8 डॉलर का 30 फीसद गूगल और ऐपल को देना होगा। Elon की मानें, तो क्या आपको मालूम है कि Apple App Store से खरीदने वाली हर चीज 30 फीसद टैक्स चार्ज करता है! जिससे ऐपल को सालाना तौर पर 1 मिलियन डॉलर की कमाई होती है।



Source link

Continue Reading

Politics

Airtel और Jio को चोट करेंगे Tata, ला रहा ये हाई स्पीड ब्रॉडबैंड सैटेलाइट सर्विस

Published

on

By


नई दिल्ली। टाटा ग्रुप कंपनी Nelco की तरफ से ग्लोबल मोबाइल पर्सनल कम्यूनिकेशन बॉय द सैटेलाइट (GMPCS) लाइसेंस के लिए आवेदन किया गया है। बता दें कि Tata की भारत की चौथी ऐसी कंपनी है, जिसकी तरफ से सैटेलाइट मोबाइल ब्रॉडबैंड सर्विस के लिए आवेदन किया गया है। tata से पहले Bharti Airtel की OneWeb और Reliance Jio को सैटेलाइट सर्विस के लिए आवेदन किया गया है। जबकि Elon Musk की Starlink सैटेलाइट सर्विस की तरफ से भी आवेदन किया गया है। हालांकि Elon Musk की सैटेलाइट सर्विस को सरकार की तरफ से मंजूरी नहीं दी गई है।

मिलेगी हाई स्पीड इंटरनेट कनेक्टिविटी
Tata Group की Nelco कंपनी ने हाई स्पीड ब्रॉडबैंड इंटरनेट कनेक्टिविटी का डेमो दिखाया, जिसमें लो अर्थ आर्बिट (LEO) सैटेलाइट के जरिए हाई स्पीड कनेक्टिविटी दी जाएगी। इस दौरान लो लेटेंसी रेट मिलेगी। बता दें के लेटेंसी इंटरनेट पहुंचने मे होने वाली देरी है। जिसे मिली सेकेंड में मापा जाता है।

क्या होती है सैटेलाइट कनेक्टिविटी
इस टेक्नोलॉजी में सैटेलाइट से सीधे ग्राहक के मोबाइल को सिग्नल से कनेक्ट किया जाता है। इसमें किसी टावर की जरूरत नहीं होती है। ऐसे में किसी भी मौसम में नेटवर्क मिलने में बाधा नहीं होती है। साथ ही नेटवर्क कवरेज मिलने में कोई दिक्कत नहीं होती है। इस टेक्नोलॉजी में लो अर्थ ऑर्बिट में कुछ सैटेलाइट के जरिए इंटरनेट बीम किया जाता है। हालांकि सैटेलाइट कनेक्टिविटी के सिग्नल को नॉर्मल फोन में नहीं रिसीव किया जा सकता है। इसके लिए स्मार्टफोन के हार्डवेयर में कुछ बदलाव करने होते हैं। मौजूदा वक्त में सैटेलाइट कनेक्टिविटी का फीचर iPhone 14 सीरीज के स्मार्टफोन में दिया गया है। यह सर्विस फिलहाल अमेरिका और कनाडा में मौजूद है।

नोट – सैटेलाइट कनेक्टिविटी कोई नया सिस्टम नहीं है। इससे पहले तक सेना और अन्य काम के लिए सैटेलाइट कनेक्टिविटी का इस्तेमाल किया जाता था। हालांकि उसमें स्पीड एक वजह हुआ करती थी. लेकिन अब कंपनियां ने हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर अपडेट के जरिए फास्ट सैटेलाइट कनेक्टिविटी मुहैया कराती हैं।



Source link

Continue Reading