Connect with us

Sports

Daren Sammy Exclusive: टी20 खेल का मास्टर है भारत, कमजोर समझने वाले वर्ल्ड कप में खा जाएंगे गच्चा: डैरेन सैमी

Published

on


नई दिल्ली: टी20 फॉर्मेट इतना मुश्किल है कि अगर किसी कप्तान के नेतृत्व में कोई टीम एक बार वर्ल्ड कप ट्रॉफी जीत ली तो वो महान बन जाता है। वेस्टइंडीज के पूर्व खिलाड़ी डैरेन सैमी दुनिया के इकलौते ऐसे कप्तान हैं जिन्होंने ना सिर्फ एक बार बल्कि रिकॉर्ड दो बार ये ट्रॉफी जीती है। हालांकि इस बार निकोलस पूरन की अगुवाई में कैरेबियाई टीम के लिए शायद ऑस्ट्रेलिया में कप जीतना मुश्किल दिख रहा हो लेकिन अगर उन्हें प्रेरणा की जरुरत है तो वो सैमी से बात कर सकते हैं। ऑस्ट्रेलिया में होने वाले टी20 विश्व कप से पहले पेश है वेस्टइंडीज के पूर्व कप्तान डैरेन सैमी के साथ यह खास बातचीत।

प्रश्न – आम जीवन या फिर क्रिकेट में लीडरशीप की बात कितनी अलग होती है, क्या आप इन दोनों में अंतर देखते हैं या ये फिर समान हैं या एकीकृत हैं?

जवाब- क्रिकेट ने मुझे जीवन के बारे में बहुत कुछ सिखाया है। कप्तानी या फिर नेतृत्व ने भी मुझे जीवन के बारे में भी सिखाया है। एक आदमी का एक परिवार होता है और उसके दोस्त भी होतें हैं लेकिन कभी-कभी आपको अंतर करना पड़ता है कि आप मैदान पर वैसे नहीं हैं जैसे आप घर पर हैं। मैदान पर आप खिलाड़ियों का ध्यान आकर्षित करने की कोशिश में चिल्ला रहे हैं लेकिन कभी-कभी घर पर मेरी पत्नी को मुझसे कहना पड़ता है कि अरे तुम क्रिकेट के मैदान पर नहीं हो चिल्लाना बंद करो। क्रिकेट का मूल सिद्धांत यह है कि यह आपको जीवन के लिए तैयार करता है।

प्रश्न – मैं सिर्फ यह जानना चाहता था कि आपको भी कैरेबियाई टीम जैसी एक जटिल प्रकार के समाज का नेतृत्व करना पड़ा है। जहां विभिन्न क्षेत्रों से आने वाले लोग भारत की ही तरह अलग-अलग द्वीपों से आते हैं, भले ही यह एक देश हो, अलग-अलग राज्यों से अलग-अलग समझ और भाषा कप्तान के लिए और भी बड़ी चुनौती है?

जवाब – मुझे लगता है कि एक कप्तान होने के नाते खुद पर दबाव होता है। जिस तरह से आप अपने खिलाड़ियों का नेतृत्व करते हैं क्योंकि सब कुछ मैन मैनेजमेंट का काम है। देश के लिए अच्छा करने के इरादे से प्रतिभाओं के साथ हर कोई आता है और यह आपका काम है कि आप इसे एक साथ रखें और उन्हें प्रेरित रखें और एक ऐसा वातावरण बनाएं जिससे सफलता मिले।

प्रश्न – अब आप भी एक कोच हैं और आप एक ऑलराउंडर भी थे। क्या आपको अभी भी लगता है कि यह टी 20 प्रारूप अधिक कुशल खिलाड़ियों जैसे बल्लेबाजों या लगभग सिक्स हिटर्स के लिए अधिक है, इस पर आपकी क्या राय है?

जवाब – मुझे लगता है कि आपकी अलग-अलग टीमों में अलग-अलग भूमिकाएं होती हैं। आपको विशेषज्ञ गेंदबाजों की जरूरत पड़ती है, एक टी 20 टीम को कम से कम 3 विशेषज्ञ गेंदबाजों की जरूरत है जो डेथ ओवरों में गेंदबाजी कर सकते हैं और 3 पावर प्ले में गेंदबाजी कर सकते हैं। आपके लिए खेल को तैयार करने के लिए दो खिलाड़ियों पर दबाव बनाना पड़ता है और जब आपके पास ऑलराउंडर आते हैं जो गेंदबाजी और बल्लेबाजी कर सकते हैं तो यह हमेशा अच्छा होता है। कभी-कभी कुछ खिलाड़ी बल्ले और गेंद के साथ समान रूप से सक्षम होते हैं जो एक प्लस है लेकिन मुझे लगता है कि स्पेशिलस्ट भी उतना ही अच्छा है बल्ले और गेंद या नहीं, लेकिन आपके पास विशेषज्ञ गेंदबाज हैं क्योंकि बल्लेबाज आपको गेम जीतता है लेकिन गेंदबाज आपको टूर्नामेंट जीताते हैं।

प्रश्न – क्या आपको लगता है कि भारत T20 Wc जीत सकता है?

जवाब – किसी भी प्रारूप में देखें, विशेष रूप से टी 20 आपको इसे भारत का खेल कहना चाहिए। उनके पास आईपीएल फ्रेंचाइजी का तरीका है लेकिन मैच ऑस्ट्रेलिया में होंगे जहां हमें उछाल मिलने वाला है और मैदान की सीमाएं बड़ी हैं और यह बहुत चुनौतीपूर्ण होगा लेकिन आप भारत को कम नही आंक सकते हैं।

Ravindra Jadeja: रविंद्र जडेजा ने मांजरेकर को मारा ताना, दुश्मनी से कब हुई दोस्ती, क्रिकेट की केमेस्ट्री समझिए
Naseem Shah covid positive: पहले निमोनिया और अब कोरोना, बुमराह की तरह यह पाकिस्तानी पेसर भी हो सकता है WC से बाहर
Sachin Tendulkar: सचिन तेंदुलकर का जलवा बरकरार, ब्रेट ली की आउट-स्विंगर पर बैकफुट से जड़ दिया चौका



Source link

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Sports

‘भाड़ में जाओ’ वाली बात पर वेंकटेश प्रसाद ने कर दी जावेद मियांदाद की बोलती बंद, किया ये ट्वीट

Published

on

By


ऐप पर पढ़ें

पाकिस्तान टीम के पूर्व कप्तान जावेद मियांदाद ने एशिया कप 2023 को लेकर चल रहे विवाद पर अपने मौजूदा रुख को लेकर भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) पर जोरदार हमला किया। एशिया कप 2023 की मेजबानी को लेकर पूरा मसला खड़ा हुआ है, क्योंकि इसकी मेजबानी पाकिस्तान के पास है, लेकिन बीसीसीआई ने स्पष्ट कर दिया है कि वह पाकिस्तान के दौरे पर टीम नहीं भेजेंगे। ऐसे में एशियन क्रिकेट काउंसिल यानी एसीसी ने टूर्नामेंट को न्यूट्रल वेन्यू पर आयोजित करने का फैसला किया है, जिससे पाकिस्तान खफा है। यही कारण है कि पाकिस्तान के पूर्व क्रिकेटर भारत पर हमलावर हैं। 

पाकिस्तान के पूर्व कप्तान जावेद मियांदाद ने एक कमेंट किया है, जिस पर भारत के दिग्गज क्रिकेटर वेंकटेश प्रसाद ने तीखी प्रतिक्रिया दी है और उनकी बोलती बंद कर दी है। शनिवार को बहरीन में हुई मीटिंग को लेकर उनका कहना था कि आईसीसी को बीसीसीआई के खिलाफ कड़ा एक्शन लेना चाहिए कि वे पाकिस्तान क्यों नहीं आना चाहते। उन्होंने एक पब्लिक इवेंट में कहा था, “मैं तो पहले भी कहा था कि अगर नहीं आना (पाकिस्तान) तो भाड़ में जाएं। हमें कोई फर्क नहीं पड़ता।” 

मियांदाद ने कहा था, “मैंने हमेशा पाकिस्तान का समर्थन किया है और मैं कभी भी इंडिया को छोड़ नहीं सकता है, जब भी कोई भी बात हो, लेकिन अब हमें हमारी तरफ देखना है और हमें इसके लिए लड़ाई लड़नी है। हमें किसी की परवाह नहीं हैं, क्योंकि हम अपनी क्रिकेट की मेजबानी कर रहे हैं। यह आईसीसी का काम है। यदि आईसीसी इस मुद्दे को नियंत्रित नहीं कर सकती तो इस निकाय का कोई काम नहीं है। उन्हें हर टीम के लिए समान नियम लागू करने की जरूरत है। अगर इस तरह की टीमें नहीं आती हैं तो उन्हें प्रतिबंधित कर दिया जाना चाहिए। इंडिया होगा, अपने लिए होगा। हमारे लिए नहीं है।”

वॉर्मअप मैच में बुरी तरह हारा भारत, ऑस्ट्रेलिया ने 44 रनों से जीता लो स्कोरिंग मैच

इसी आर्टिकल को रिट्वीट करते हुए वेंकटेश प्रसाद ने लिखा है, “लेकिन वे नरक में जाने से इनकार कर रहे हैं।” वेंकटेश प्रसाद ने इशारों ही इशारों में बता दिया है कि पाकिस्तान नरक है। ऐसा इसलिए भी कहा जा सकता है कि पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड द्वारा आयोजित किए जा रहे पाकिस्तान सुपर लीग यानी पीएसएल के मैच को भी कैंसिल करना पड़ा था, क्योंकि रविवार को बम धमाके हो गए थे। 

बता दें कि पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने इस बात की भी धमकी दे दी है कि अगर भारत की टीम एशिया कप 2023 के लिए पाकिस्तान नहीं आएगी तो पाकिस्तान की टीम भी भारत में होने वाले वर्ल्ड कप में हिस्सा नहीं लेगी। यहां तक कि रिपोर्ट्स की मानें पीसीबी आईसीसी क्रिकेट वर्ल्ड कप 2023 को भारत से बाहर आयोजित कराने के लिए मांग कर रही है। इस पर फैसला अगले महीने होगा, जब दोनों देशों के क्रिकेट बोर्ड के प्रमुख आईसीसी और एसीसी की मीटिंग का हिस्सा होंगे। 



Source link

Continue Reading

Sports

Ashes से बड़ी है भारत दौरे की चुनौती, ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों ने Video में खुद कबूला सच

Published

on

By


Image Source : GETTY
बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी को लेकर ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों ने दिया बड़ा बयान

IND vs AUS: भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच चार मैचों की टेस्ट सीरीज का पहला मैच गुरुवार से नागपुर में खेला जाएगा। WTC के फाइनल के मध्यनजर यह सीरीज दोनों टीमों के अहम है। लेकिन ऑस्ट्रेलियाई टीम के लिए यह सीरीज और भी अहम है क्योंकि पिछले तीन बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी से उन्हें हार का सामना करना पड़ रहा है। इसमें से दो सीरीज उन्होंने तो अपने घर पर गंवाई है। पिछले बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी में गाबा मिली हार ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी आज भी नहीं भूल सके हैं। वहीं भारत में उन्होंने 18 सालों से एक भी टेस्ट सीरीज नहीं जीती है। इसी बीच ऑस्ट्रेलिया के स्टार खिलाड़ी स्टीव स्मिथ और डेविड वार्नर ने इस सीरीज को लेकर बड़ा बयान दे दिया है।

क्या बोले ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी

स्टीव स्मिथ और डेविड वार्नर समेत ऑस्ट्रेलिया के टॉप खिलाड़ियों का मानना है कि भारत में टेस्ट सीरीज में जीत एशेज जीतने से बड़ी उपलब्धि है। क्रिकेट डॉट कॉम डॉट एयू पर पोस्ट किए गए एक वीडियो में ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों ने भारत दौरे की चुनौतियों के बारे में बात की। इस वीडियो में स्मिथ ने कहा ‘‘सीरीज की बात छोड़िए, भारत में टेस्ट जीतना भी चुनौतीपूर्ण है। हम अगर ऐसा करने में सफल रहे तो यह काफी बड़ी बात होगी। मुझे लगता है कि अगर आप भारत में टेस्ट सीरीज जीतते हैं तो यह एशेज जीत से बड़ी सफलता है।’’ 

ऑस्ट्रेलिया के सलामी बल्लेबाज डेविड वॉर्नर ने कहा कि वह दुनिया के बेस्ट स्पिन गेंदबाजों के खिलाफ खेलने के लिए काफी ज्यादा उत्सुक हैं। उन्होंने कहा, ‘‘पिछली एशेज का हिस्सा बनना शानदार था लेकिन भारत जाना और भारत को भारत में हराना हमारे लिए टेस्ट क्रिकेट में सबसे कठिन चुनौती है। मैं दौरे के लिए उत्सुक हूं, यह हमेशा एक कठिन परीक्षा होती है। इस दौरे पर मैं दुनिया के सर्वश्रेष्ठ स्पिनरों के खिलाफ खुद को परखने के लिए तैयार हूं।’’ 

तेज गेंदबाज जोश हेजलवुड ने कहा, ‘‘ काफी समय हो गया जब ऑस्ट्रेलिया ने भारत में टेस्ट सीरीज अपने नाम की हो। वर्ल्ड क्रिकेट में यह हर किसी का लक्ष्य भारत में कोशिश करना और जीतना होता है।’’ मिचेल स्टार्क ने भी कहा कि ‘‘भारत में सीरीज जीतना किसी भी टीम के लिए सिर पर ताज के समान है। अगर हम भारत दौरे और इंग्लैंड दौरे पर एशेज में जीत दर्ज करते हैं तो यह शानदार उपलब्धि होगी। 

क्या बोले कप्तान

कमिंस ने कहा, ‘‘ भारत में श्रृंखला जीतना इंग्लैंड में एशेज जीतने की तरह है। मैं हालांकि इसे एशेज से बड़ी उपलब्धि मानूंगा। अगर हम यहां जीतते हैं तो यह करियर की बड़ी उपलब्धि होगी।’’

Latest Cricket News





Source link

Continue Reading

Sports

IND vs AUS: ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों का डर तो देखिए…नागपुर टेस्ट से पहले पूरी टीम में घबराहट का माहौल

Published

on

By


नागपुर: भारत में चार टेस्ट मैचों की सीरीज के लिए ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी पूरी तरह से तैयार हैं। नागपुर टेस्ट से पहले पूर्व कप्तान स्टीव स्मिथ और डेविड वार्नर सहित ऑस्ट्रेलिया के शीर्ष खिलाड़ियों का मानना है कि इस देश में सीरीज में जीत एशेज जीतने से बड़ी उपलब्धि है। दोनों देशों के बीच चार मैचों की सीरीज का आगाज नौ फरवरी से नागपुर में होगा। ‘क्रिकेट डॉट कॉम डॉट एयू’ पर जारी वीडियो में ऑस्ट्रेलिया के खिलाड़ियों ने भारत दौरे की चुनौतियों के बारे में बात की।

इस वीडियो में स्मिथ ने कहा, ‘सीरीज की बात छोड़िये, भारत में टेस्ट जीतना भी चुनौतीपूर्ण है। हम अगर ऐसा करने में सफल रहे तो यह काफी बड़ी बात होगी। मुझे लगता है कि अगर आप भारत में टेस्ट सीरीज जीतते हैं तो यह एशेज जीत से बड़ी सफलता है।’

अनुभवी ओपनर बल्लेबाज वॉर्नर ने कहा कि वह दुनिया के सर्वश्रेष्ठ स्पिनरों के खिलाफ खेलने को लेकर उत्सुक हैं। उन्होंने कहा, ‘पिछली एशेज का हिस्सा बनना शानदार था लेकिन भारत जाना और भारत को भारत में हराना हमारे लिए टेस्ट क्रिकेट में सबसे कठिन चुनौती है। मैं दौरे के लिए उत्सुक हूं, यह हमेशा एक कठिन परीक्षा होती है। इस दौरे पर मैं दुनिया के सर्वश्रेष्ठ स्पिनरों के खिलाफ खुद को परखने के लिए तैयार हूं।’

तेज गेंदबाज जोश हेजलवुड ने कहा, ‘काफी समय हो गया जब ऑस्ट्रेलिया ने भारत में टेस्ट सीरीज अपने नाम की हो। विश्व क्रिकेट में यह हर किसी का लक्ष्य भारत में कोशिश करना और जीतना होता है।’ उनके साथी तेज गेंदबाज और चोट के कारण पहले टेस्ट से बाहर मिचेल स्टार्क ने कहा, ‘भारत में सीरीज जीतना किसी भी टीम के लिए सिर पर ताज के समान है।’

स्टार्क और उनके कप्तान तेज पैट कमिंस भारत में और इस साल के अंत में इंग्लैंड में एशेज जीतने की कोशिश कर रहे है। स्टार्क ने कहा, ‘अगर हम भारत दौरे और इंग्लैंड दौरे पर एशेज में जीत दर्ज करते हैं तो यह शानदार उपलब्धि होगी। कमिंस ने कहा, ‘भारत में सीरीज जीतना इंग्लैंड में एशेज जीतने की तरह है। मैं हालांकि इसे एशेज से बड़ी उपलब्धि मानूंगा। अगर हम यहां जीतते हैं तो यह करियर की बड़ी उपलब्धि होगी।’

PSL: 6 छक्के खाना भी बड़ी बात… इफ्तिखार अहमद से कुटाई के बाद ये क्या बोल गए वहाब रियाज
Javed Miandad: भाड़ में जाए… जावेद मियांदाद ने फिर उगला भारत के खिलाफ जहर, बदमिजाजी की इंतहा तो देखिए
IND vs AUS: नहीं बचे तो अश्विन कर देंगे तबाह… नागपुर टेस्ट से पहले कंगारू ओपनर का बड़ा बयान



Source link

Continue Reading