Connect with us

Business

Crypto Exchanges: भारतीय क्रिप्टो एक्सचेंजों पर संकट के बादल

Published

on


सर्वाधिक बिक्री वाली क्रिप्टोकरेंसी बिटकॉइन की कीमत इस साल करीब तीन गुना गिरने से ऐसी डिजिटल परिसंपत्तियों की अनिश्चित राह का संकेत मिलता है। कीमतों में गिरावट, नियामकीय अनिश्चितता और करों ने भारतीय क्रिप्टो एक्सचेंजों को संकट में डाल दिया है। वित्त वर्ष 2023 के लिए बजट में वर्चुअल डिजिटल परिसंपत्तियों के स्थानांतरण से प्राप्त किसी तरह की आय पर 30 प्रतिशत कर लगाने की घोषणा की गई थी। वहीं 1 प्रतिशत अतिरिक्त टीडीएस (स्रोत पर कर कटौती) जुलाई में प्रभावी हुई। सरकार ने स्पष्ट किया कि कर लगाकर वह क्रिप्टोकरेंसी को कानूनी नहीं बना रही थी। यह एक ऐसी घोषणा थी जिसने एक्सचेंजों की चिंता को और बढ़ा दिया।

आरबीआई ने निजी क्रिप्टो पर अपने सख्त रुख को बरकरार रखा और उन पर रोक पर जोर दिया है। बिजनेस स्टैंडर्ड बीएफएसआई समिट में हाल में आरबीआई गवर्नर शक्तिकांत दास ने कहा, ‘यदि आप इस आभासी मुद्रा को विनियमित करने की कोशिश करते हैं और इसे बढ़ने की अनुमति देते हैं तो मेरी बातों को ध्यान से सुनना, अगला वित्तीय संकट निजी क्रिप्टोकरेंसी से आएगा।’ मई में, टेरायूएसडी और लूना संकट से सभी प्रमुख क्रिप्टो की कीमतों में गिरावट आई। इसके बाद ब्लॉकएफआई, एफटीएक्स और एफटीएक्स डॉटयूएस जैसे एक्सचेंजों को वित्तीय मुश्किलों का सामना करना पड़ा।

चुनौतीपूर्ण रहा यह साल

भारतीय एक्सचेंज इन घटनाक्रम के साथ साथ देश में कुछ व्यवसायों पर प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के छापों के प्रभाव से जूझ रहे हैं। वजीरएक्स क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंज के उपाध्यक्ष राजगोपाल मेनन ने कहा, ‘2022 भारतीय क्रिप्टो एक्सचेंजों के लिए खराब वर्ष रहा। हमें बजट में घोषित कर नियमों का सामना करना पड़ा है।’ सभी 11 भारतीय एक्सचेंजों में कारोबारी मात्रा घट गई है। अन्य प्रमुख वैश्विक क्रिप्टो एक्सचेंजों को लेकर आशंका, अनिश्चितता और चिंताएं पैदा हुई हैं।

वजीरएक्स ने 2022 में करीब 10 अरब डॉलर मूल्य के लेनदेन किए, जो पूर्ववर्ती वर्ष के 46 अरब डॉलर की तुलना में कम है। मेनन ने कहा कि एक प्रतिशत टीडीएस कटौती से भी भारत से कारोबार घटकर बाहर चला गया है। मेनन का कहना है कि विपरीत हालात के बावजूद वजीरएक्स क्रिप्टो ट्रेडिंग के अपने प्रमुख व्यवसाय से जुड़ी रहेगी।

एफटीएक्स संकट से चिंता

नवंबर में, क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंज एफटीएक्स 10 दिन तक बंद रहा था। उद्योग की एक समाचार वेबसाइट के अनुसार, बिटकॉइन, एथेरियम, और स्टैबलेकॉइन मालिकों ने 5 नवंबर को एफटीएक्स संकट के महज 50 दिन में प्रमुख एक्सचेंजों से करीब 19.19 अरब डॉलर की क्रिप्टो परिसंपत्तियां निकालीं। तब से दुनियाभर में करीब 356,848 बिटकॉइन और 44.8 लाख एथेरियम टोकन क्रिप्टो ट्रेडिंग से निकाले गए हैं।

कॉइनस्विच क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंज के सह-संस्थापक एवं मुख्य कार्याधिकारी आशिष सिंघल ने कहा, ‘पिछले कुछ महीनों का उतार-चढ़ाव कमजोर व्यावसायिक प्रणालियों और संबद्ध एक्सचेंजों के जोखिम प्रबंधन की वजह से पैदा हुआ, और यह क्रिप्टो के दीर्घावधि भविष्य का प्रतिबिंब नहीं है। इसलिए क्रिप्टो का दीर्घावधि परिदृश्य अपरिवर्तित बना हुआ है।’कॉइनस्विच ने हाल में अपने सॉल्युशनों में कई तरह के बदलाव किए हैं।



Source link

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Business

सेंसेक्स 400 अंक से अधिक गिर गया, निफ्टी 17,900 के नीचे बंद हुआ

Published

on

By


डिजिटल डेस्क, मुंबई। देश का शेयर बाजार कारोबारी सप्ताह के पांचवे और आखिरी दिन (06 जनवरी 2023, शुक्रवार) गिरावट के साथ बंद हुआ। इस दौरान सेंसेक्स और निफ्टी दोनों ही लाल निशान पर रहे। बंबई स्टॉक एक्सचेंज (BSE) के 30 शेयरों पर आधारित संवेदी सेंसेक्स 452.90 अंक यानी कि 0.75% की गिरावट के साथ 59,900.37 के स्तर पर बंद हुआ।

वहीं नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (NSE) के 50 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक निफ्टी 132.70 अंक यानी कि 0.74% की गिरावट के साथ 17,859.45 के स्तर पर बंद हुआ।

आपको बता दें कि, सुबह बाजार सपाट स्तर पर खुला था। इस दौरान सेंसेक्स 77.23 अंक यानी कि 0.13% बढ़कर 60,430.50 के स्तर पर खुला था। वहीं निफ्टी 24.60 अंक यानी कि 0.14% बढ़कर 18,016.80 के स्तर पर खुला था।

जबकि बीते कारोबारी दिन (05 जनवरी 2023, गुरुवार) बाजार सपाट स्तर पर खुला था और गिरावट के साथ बंद हुआ था। इस दौरान सेंसेक्स 304.18 अंक यानी कि 0.50% गिरावट के साथ 60,353.27 के स्तर पर बंद हुआ था। वहीं निफ्टी 50.80 अंक यानी कि 0.28% गिरावट के साथ 17,992.15 के स्तर पर बंद हुआ था।



Source link

Continue Reading

Business

सेंसेक्स में 77 अंकों की मामूली बढ़त, निफ्टी 18 हजार के पार खुला

Published

on

By


डिजिटल डेस्क, मुंबई। देश का शेयर बाजार कारोबारी सप्ताह के पांचवे और आखिरी दिन (06 जनवरी 2023, शुक्रवार) भी सपाट स्तर पर खुला। इस दौरान सेंसेक्स और निफ्टी दोनों ही हरे निशान पर रहे। बंबई स्टॉक एक्सचेंज (BSE) के 30 शेयरों पर आधारित संवेदी सेंसेक्स 77.23 अंक यानी कि 0.13% बढ़कर 60,430.50 के स्तर पर खुला।

वहीं नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (NSE) के 50 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक निफ्टी 24.60 अंक यानी कि 0.14% बढ़कर 18,016.80 के स्तर पर खुला।

शुरुआती कारोबार के दौरान करीब 1205 शेयरों में तेजी आई, 679 शेयरों में गिरावट आई और 115 शेयरों में कोई बदलाव नहीं हुआ।

आपको बता दें कि, बीते कारोबारी दिन (05 जनवरी 2023, गुरुवार) बाजार सपाट स्तर पर खुला था इस दौरान सेंसेक्स 44.66 अंक यानी कि 0.07% बढ़कर 60702.11 के स्तर पर खुला था। वहीं निफ्टी 17 अंक यानी कि 0.09% ऊपर 18060.00 के स्तर पर खुला था। 

जबकि, शाम को बाजार गिरावट के साथ बंद हुआ था। इस दौरान सेंसेक्स 304.18 अंक यानी कि 0.50% गिरावट के साथ 60,353.27 के स्तर पर बंद हुआ था। वहीं निफ्टी 50.80 अंक यानी कि 0.28% गिरावट के साथ 17,992.15 के स्तर पर बंद हुआ था।



Source link

Continue Reading

Business

पेट्रोल- डीजल की कीमतें हुईं अपडेट, जानें आज बढ़े दाम या मिली राहत

Published

on

By



डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। पेट्रोल- डीजल (Petrol- Diesel) की कीमतों को लेकर लंबे समय से कोई बढ़ा अपडेट देखने को नहीं मिला है। जबकि अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतें कई बार जबरदस्त तरीके से गिर चुकी हैं। हालांकि, जानकारों का मानना है कि, आने वाले दिनों में कच्चा तेल महंगा होने पर इसका असर देश में दिखाई दे सकता है। फिलहाल, भारतीय तेल विपणन कंपनियों (इंडियन ऑयल, भारत पेट्रोलियम और हिंदुस्तान पेट्रोलियम) ने वाहन ईंधन के दाम में किसी तरह का कोई बदलाव नहीं किया है।

बता दें कि, आखिरी बार बीते साल में 22 मई 2022 को आमजनता को महंगाई से राहत देने केंद्र सरकार द्वारा एक्‍साइज ड्यूटी में कटौती की गई थी। जिसके बाद पेट्रोल 8 रुपए और डीजल 6 रुपए प्रति लीटर तक सस्‍ता हो गया था। इसके बाद लगातार स्थिति ज्यों की त्यों बनी हुई है। आइए जानते हैं वाहन ईंधन के ताजा रेट…

महानगरों में पेट्रोल-डीजल की कीमत
इंडियन ऑयल (Indian Oil) की वेबसाइट के अनुसार आज देश की राजधानी दिल्ली में पेट्रोल 96.72 रुपए प्रति लीटर मिल रहा है। वहीं बात करें डीजल की तो दिल्ली में कीमत 89.62 रुपए प्रति लीटर है। आर्थिक राजधानी मुंबई में पेट्रोल 106.35 रुपए प्रति लीटर है, तो एक लीटर डीजल 94.27 रुपए में उपलब्ध होगा। 

इसी तरह कोलकाता में एक लीटर पेट्रोल के लिए 106.03 रुपए चुकाना होंगे जबकि यहां डीजल 92.76 प्रति लीटर है। चैन्नई में भी आपको एक लीटर पेट्रोल के लिए 102.63 रुपए चुकाना होंगे, वहीं यहां डीजल की कीमत 94.24 रुपए प्रति लीटर है।   

ऐसे जानें अपने शहर में ईंधन की कीमत
पेट्रोल-डीजल की रोज की कीमतों की जानकारी आप SMS के जरिए भी जान सकते हैं। इसके लिए इंडियन ऑयल के उपभोक्ता को RSP लिखकर 9224992249 नंबर पर भेजना होगा। वहीं बीपीसीएल उपभोक्ता को RSP लिखकर 9223112222 नंबर पर भेजना होगा, जबकि एचपीसीएल उपभोक्ता को HPPrice लिखकर 9222201122 नंबर पर भेजना होगा, जिसके बाद ईंधन की कीमत की जानकारी प्राप्त की जा सकती है।

 



Source link

Continue Reading