Connect with us

TRENDING

Bihar News: बिहार में फिर जहरीली शराब का तांडव, 5 लोगों की गई जान, जांच में जुटी पुलिस

Published

on


Image Source : INDIA TV
Poisonous Liquor

Highlights

  • मृतकों की हुई पहचान
  • एक की हालत गंभीर, छपरा रेफर
  • कुछ दिन पहले भी जहरीले जाम से हुई थी कई मौतें

Bihar News: बिहार में सारण के मढ़ौरा के भुवालपुर में एक बार फिर जहरीली शराब पीने से 5 लोगों के मौत की हो गई है। अभी कुछ ही दिन पहले 13 लोगों की मौत जहरीली शराब पीने से हुई थी। आज फिर मढ़ोरा के भुवालपुर में करीब 8 से 9 लोगों ने जहरीली शराब पी ली, जिसमें 5 लोगों की मौत हुई है और एक को पटना रेफर किया गया है। बाकी दो लोगों का इलाज छपरा के सदर अस्पताल में चल रहा है। पुलिस इस मामले की जांच में जुट गई है। कहा जा रहा है कि यह आंकड़ा और भी बढ़ सकता है। घटना के बाद पूरे गांव में कोहराम मचा हुआ है।

मृतकों की हुई पहचान, एक की हालत गंभीर, छपरा रेफर

अभी कुछ दिनों पहले ही छपरा में जहरीली शराब पीने से कई लोगों की मौत हो गई थी। कई लोगों की आंखों की रोशनी भी चले जाने की बात कही गई थी। अब फिर से छपरा में जहरीली शराब का तांडव देखने को मिला है। सारण के भुवालपुर में जिन लोगों की जहरीली शराब पीने से मौत हुई है, उनकी पहचान गड़खा के औढ़ा गांव निवासी करमुल्ला खान का बेटा अलाउद्दीन खान, मढ़ौरा थाना क्षेत्र भुवालपुर गांव निवासी देव महतो का बेटा कामेश्वर महतो, भीकन सिंह का बेटा रोहित कुमार सिंह और परशुराम राम के बेटे राजेंद्र राम शामिल हैं। द्वारिका महतो के बेटे राम लायक महतो की स्थिति गंभीर है। उसे छपरा सदर अस्पताल भेजा गया है।

कुछ दिन पहले भी जहरीले जाम से हुई थी कई मौतें

बिहार के सारण जिले में जहरीली शराब कांड से मरने वालों की संख्या 9 पहुंच गई थी। वहीं 17 लोगों की आंखों की रोशनी चली गई थी। पीड़ित सारण जिले के मकेर और भेलडी थाना क्षेत्र के गांवों के रहने वाले हैं। अधिकांश पीड़ितों ने धानुका टोली गांव से नकली शराब खरीदी थी। इसके बाद बुधवार की रात उन्होंने अलग-अलग जगहों पर शराब का सेवन किया और उसके बाद उनकी तबीयत बिगड़ गई। गुरुवार सुबह 35 वर्षीय चंदन कुमार और 60 वर्षीय कमल महतो नाम के दो लोगों की मौत हो गई।


सारण के जिलाधिकारी राजेश मीणा ने बताया कि नकली शराब का सेवन किया गया था। अन्य मृतकों की पहचान ओम नाथ महतो, चंदेश्वर महतो, सकलदीप महतो, धनीराम महतो, राजनाथ महतो और दो अन्य के रूप में हुई है। 





Source link

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

TRENDING

हो गया फाइनल, कौन होगा Share Market BSE का नया बॉस? SEBI ने दी मंजूरी

Published

on

By


Photo:FILE शेयर बाजार BSE के नए बॉस होंगे सुंदररमण राममूर्ति

SEBI: बाजार नियामक सेबी ने सुंदररमण राममूर्ति को शेयर बाजार बीएसई का प्रबंध निदेशक और मुख्य कार्यपालक अधिकारी (सीईओ) नियुक्त करने की सोमवार को मंजूरी दे दी है। बीएसई ने नियामकीय सूचना में कहा कि यह नियुक्ति उन्हें दी गयी पेशकश की स्वीकृति और शेयरधारकों की मंजूरी समेत अन्य नियम एवं शर्तों पर निर्भर है। 

SEBI ने दी मंजूरी

भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड (सेबी) ने 28 नवंबर को एक पत्र के जरिये राममूर्ति की नियुक्ति को मंजूरी दी है। बता दें, आशीष कुमार चौहान के बीएसई के प्रबंध निदेशक और सीईओ पद से करीब चार महीने पहले 25 जुलाई को इस्तीफा देने के बाद राममूर्ति के नाम को सेबी की मंजूरी मिली है। 

1987 में शुरु किया था करियर

वर्तमान में राममूर्ति 2014 से बैंक ऑफ अमेरिका एनए में भारत के प्रबंध निदेशक और COO के पद पर कार्यरत हैं। उन्होंने 1987 में एक प्रोबेशनरी ऑफिसर के रूप में स्टेट बैंक ऑफ इंडिया के साथ अपना करियर शुरू किया था और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज में वरिष्ठ उपाध्यक्ष बनने तक काम किया।

ये दोनों भी थे पद के दावेदार

बता दें, गिफ्ट सिटी में बीएसई की सहायक कंपनी इंडिया आईएनएक्स के प्रबंध निदेशक (एमडी) और मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) वी. बालासुब्रमण्यम और एनईएमएल के एमडी और सीईओ मृगांक परांजपे भी बीएसई के प्रमुख के लिए शीर्ष दावेदार थे।

जुलाई से था पद खाली

जुलाई में बीएसई के पूर्व प्रमुख आशीष कुमार चौहान ने बीएसई के प्रबंध निदेशक और सीईओ के पद से इस्तीफा दे दिया और फिर उन्हें एक्सचेंज में उनकी भूमिकाओं और जिम्मेदारियों से मुक्त कर दिया गया। जिसके बाद एक्सचेंज में टॉप वैकेंसी की तलाश शुरू हुई थी। बता दें, चौहान वर्तमान में भारत के सबसे बड़े स्टॉक एक्सचेंज नेशनल स्टॉक एक्सचेंज के एमडी सीईओ हैं।

Latest Business News





Source link

Continue Reading

TRENDING

चाचा शिवपाल के बचाव में आगे आए अखिलेश यादव, सीएम योगी को समझाया पेंडुलम का महत्व

Published

on

By



मैनपुरी में आकर योगी का शिवपाल यादव पर निशाना साधना भतीजे अखिलेश को रास नहीं आया। अखिलेश ने बिना नाम लिए सीएम योगी पर बड़ा हमला बोला। अखिलेश ने सीएम योगी को पेंडुलम का महत्व भी समझाया।



Source link

Continue Reading

TRENDING

पश्चिम बंगाल में बीजेपी के चार विधायकों पर ‘उल्लेख समय’ में हिस्से लेने पर लगी रोक

Published

on

By


Image Source : PTI
बीजेपी के चार विधायकों पर ‘उल्लेख समय’ में हिस्से लेने पर लगी रोक

कोलकाता: पश्चिम बंगाल विधानसभा के अध्यक्ष बिमान बंदोपाध्याय ने सोमवार को बीजेपी के चार विधायकों को शेष शीतकालीन सत्र के लिए 30 नवंबर तक ‘उल्लेख समय’ में हिस्सा लेने से रोक दिया, जिसके बाद विपक्षी पार्टी ने ‘प्रतिशोधी कार्रवाई का आरोप लगाया। बंदोपाध्याय ने कहा कि यह कार्रवाई इसलिए की गई क्योंकि चार बीजेपी विधायकों ने उल्लेख समय के दौरान अपनी बात रखने के लिए बुलाए जाने पर जवाब नहीं दिया, यह प्रक्रिया का स्पष्ट तौर पर उल्लंघन था। चारों विधायक गोपाल साहा, हिरणमय चटर्जी, निखिल रंजन डे और पार्थ सारथी चट्टोपाध्याय कार्यवाही के दौरान स्कूल नोकरी घोटाले पर बीजेपी द्वारा लाए गए स्थगन प्रस्ताव को पेश करने से अध्यक्ष के इनकार पर विरोध जता रहे थे और सदन से बाहर चले गए।

बीजेपी ने जताया विरोध

इन विधायकों का नाम पहले से सूचीबद्ध था लेकिन बंदोपाध्याय द्वारा पुकारे जाने पर वे नहीं आए। हांलाकि, इन विधायकों को बहस में भाग लेने, मतदान करने से नहीं रोका जाएगा और उनके अन्य अधिकार बने रहेंगे जिनके वे हकदार हैं। बीजेपी के मुख्य सचेतक मनोज तिग्गा ने फैसले को प्रतिशोधी बताया और कहा कि पार्टी के विधायक मंगलवार के सत्र के दौरान इसका विरोध करेंगे। 

राज्य में है निरंकुश शासन: बीजेपी 

तिग्गा ने कहा, ‘‘ऐसा प्रतीत होता है कि राज्य सरकार विपक्ष को जगह देने में विश्वास नहीं करती है, जो कि संसदीय लोकतंत्र में सर्वोपरि है। सत्तारूढ़ दल ने सदन में लोगों की मांग उठाने के लिए अतीत में मेरे सहित हमारे विधायकों को निलंबित कर दिया था। ऐसे निरंकुश शासन से और क्या उम्मीद की जा सकती है?’’ 

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। News in Hindi के लिए क्लिक करें पश्चिम बंगाल सेक्‍शन





Source link

Continue Reading