Connect with us

Sports

AUS vs SA: वाह वार्नर, आप अनोखे हो… 100वें टेस्ट में दोहरा शतक, कोई नहीं दूर-दूर तक

Published

on


मेलबर्न: ऑस्ट्रेलिया के धाकड़ ओपनर डेविड वार्नर ने अपने 100वें टेस्ट में दोहरा शतक ठोक दिया। ऐसा करने वाले वह इंग्लैंड के जो रूट के बाद दुनिया के सिर्फ दूसरे बल्लेबाज बन गए। साउथ अफ्रीका के खिलाफ बॉक्सिंग-डे टेस्ट के दूसरे दिन मंगलवार को उनके बल्ले से 200 रन निकले। 1086 दिन, 27 पारी और 15 टेस्ट मैच से वह शतक नहीं बना पाए थे। दुनिया ने जब कोरोना का नाम नहीं सुना था, तब वार्नर ने अपनी आखिरी टेस्ट सेंचुरी जड़ी थी। अब कमबैक में सेंचुरी नहीं डबल सेंचुरी ठोक दी। आलोचकों को करारा जवाब दिया।

डबल सेंचुरी लगाते ही रिटायर्ड-हर्ट

खराब फॉर्म, टेस्ट सेटअप में खुद की जगह पर सवाल। एमसीजी की गर्मी, शरीर में ऐंठन और निगल के बीच कागिसो रबाडा, एनरिच नॉर्टजे और लुंगी एनगिडी जैसे खतरनाक पेसर्स के खिलाफ 78.74 की स्ट्राइक रेट से 254 गेंदों में 200 रन बनाना वार्नर के लिए कतई आसान नहीं रहा होगा। 150 रन का आंकड़ा पार करने के बाद तो कई दफा लगा मानो वह हिम्मत हार चुके हैं, लेकिन फिजियो से दो मिनट का ट्रीटमेंट उन्हें फिर से तरोजाता कर देता। अब वार्नर तेजी से रन बनाने में लग गए। मानो तय कर लिया हो कि चौके-छक्के से ही स्कोरबोर्ड चलाएंगे। डबल सेंचुरी के बाद तो उनसे चलना भी मुश्किल हो रहा था। मगर सफलता की खुशी में हर दर्द भूला गए। सेलिब्रेशन में जोश तो पूरा था, लेकिन शरीर साथ नहीं दे रहा था, ऐसे में लंगड़ाते हुए वापस लौटने के सिवा कोई चारा भी नहीं था। रिटायर्ड-हर्ट होना पड़ा।

सचिन तेंदुलकर की बराबरी

16 चौके और 2 छक्के से सजी पारी में डेविड वार्नर एक के बाद एक कई रिकॉर्ड्स तोड़ते चले गए। ऑस्ट्रेलिया की तरफ से 100 टेस्ट मैच खेलने वाले 14वें क्रिकेटर बने वार्नर ने जनवरी 2020 के बाद टेस्ट मैच में अपना पहला शतक लगाया। वह दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ ब्रिसबेन में खेले गए पहले मैच में भी शून्य और तीन रन ही बना पाए थे। इस पारी में शतक लगाने के साथ वह महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर की बराबरी पर भी आ गए। अब वार्नर ने इंटरनेशनल क्रिकेट में बतौर ओपनर 45 शतक बना लिए हैं, ओपनर सचिन के नाम भी इतनी ही सेंचुरी हैं। दोनों से पीछे 42 शतक वाले क्रिस गेल हैं। वार्नर ने 81वां रन पूरा करते ही टेस्ट क्रिकेट में 8000 रन भी पूरे किए। यह उपलब्धि हासिल करने वाले वह ऑस्ट्रेलिया के आठवें बल्लेबाज हैं। ऑस्ट्रेलिया ने इस तरह से दक्षिण अफ्रीका पर 42 रन की बढ़त हासिल कर ली है। दक्षिण अफ्रीका ने अपनी पहली पारी में 189 रन बनाए थे।

​​David Warner 100th century: वॉर्नर तुस्सी ग्रेट हो… 100वें टेस्ट में शतक, खुशी से पत्नी भी झूम उठीं



Source link

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Sports

T20 के लिए नरक पिच… हार्दिक पर भड़के गंभीर, बताई कप्तानी की ये भयानक गलती

Published

on

By


नई दिल्ली: भारतीय क्रिकेट टीम ने न्यूजीलैंड के खिलाफ दूसरे टी20 अंतरराष्ट्रीय के लिए अंतिम एकादश में एक बड़ा बदलाव करते हुए उमरान मलिक की जगह युजवेंद्र चहल को शामिल किया था। हालांकि, ‘स्पिन-अनुकूल’ सतह पर विकेट प्रदान करने के लिए लाए जाने के बावजूद, चहल ने मैच में केवल 2 ओवर फेंके। जब भारत के पूर्व क्रिकेटर गौतम गंभीर से कप्तान हार्दिक पंड्या के फैसले के बारे में पूछा गया तो उन्होंने यह हैरान करने वाला है। मैं इसका जवाब कैसे दे सकता हूं?

उन्होंने कहा- हार्दिक के इस फैसले ने सबसे अधिक हैरान किया है। मैं इस सवाल का जवाब नहीं दे सकता। चहल टी20 प्रारूप में आपके नंबर 1 स्पिनर हैं। उन्होंने दो ओवर किए और इस दौरान फिन एलन का महत्वपूर्ण विकेट हासिल किया। बचे हुए दो ओवरों का भी उपयोग हाना चाहिए था। बता दें कि मैच के बाद हार्दिक पंड्या ने पिच को टी-20 खेलने लायक नहीं बताया था। इसके बाद लखनऊ के भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेई इकाना क्रिकेट स्टेडियम के क्यूरेटर पर सवाल उठने लगे हैं।

गंभीर हालांकि इस बात से सहमत थे कि अर्शदीप सिंह और शिवम मावी जैसे युवा खिलाड़ियों को मौका दिया जाना चाहिए, लेकिन उनका यह भी मानना है कि अगर चहल ने अपने ओवरों का पूरा कोटा पूरा कर लिया होता तो न्यूजीलैंड 80 या 85 रन पर आउट हो जाता। दूसरी ओर, हार्दिक ने चहल की बजाय दीपक हुड्डा को 4 ओवर गेंदबाजी करने को प्राथमिकता दी, जो हैरान करने वाली है।

Harmanpreet Kaur Interview: जिस ब्रांड के जूते खरीदने को नहीं थे पैसे, बनीं उसकी एम्बेसडर

उन्होंने कहा- हां, आप युवा अर्शदीप सिंह या शिवम मावी को और मौका देना चाहते हैं, लेकिन तब आप चहल को आखिरी में या उससे पहले पूरे 4 ओवर करा सकते थे। इसलिए मुझे लगता है कि वह रणनीति बनाने में चूक गए। वह न्यूजीलैंड को इससे पहले भी आउट कर सकते थे। स्कोर 80 या 85 भी हो सकता है। बड़े आश्चर्य की बात है कि हुड्डा को चार ओवर डालने के लिए कहना, लेकिन चहल को नहीं।

Women U19 T20 World Cup 2023: दुनिया के सबसे बड़े क्रिकेट स्टेडियम में होगा धूम-धड़ाका, खुद ‘भगवान’ करेंगे बेटियों का सम्मानVirat Kohli: विराट कोहली ऑस्ट्रेलिया सीरीज से पहले धार्मिक यात्रा पर, पत्नी अनुष्का संग PM मोदी के गुरु के आश्रम पहुंचे



Source link

Continue Reading

Sports

पाकिस्तान के बल्लेबाज को PSL से किया गया नजरअंदाज तो कहा- मेरे प्रदर्शन में समस्या क्या है?

Published

on

By


ऐप पर पढ़ें

पाकिस्तान सुपर लीग यानी पीएसएल में बल्लेबाज अहमद शहजाद को किसी टीम ने पिक नहीं किया है। ऐसे में अपनी घरेलू टी20 लीग से नजरअंदाज किए जाने पर पाकिस्तान के बल्लेबाज अहमद शहजाद नाखुश हैं और उन्होंने पूछा है कि उन्हें पीएसएल की किसी फ्रेंचाइजी ने पिक क्यों नहीं किया है, जबकि उनके प्रदर्शन में किसी भी तरह की कमी नहीं है। पाकिस्तान सुपर लीग के 8वें सीजन की शुरुआत 13 फरवरी से हो रही है, जिसका फाइनल 19 मार्च को खेला जाएगा। 

अहमद शहजाद ने स्वीकार किया कि चोट से उबरने के लिए उन्हें कुछ समय बाहर बिताना पड़ा, लेकिन उन्होंने धमाकेदार वापसी की और उन्होंने घरेलू क्रिकेट और दुनिया भर के अन्य क्रिकेट टूर्नामेंटों में अच्छा प्रदर्शन किया। उन्होंने हाल ही में पाकिस्तान कप में सेंट्रल पंजाब का प्रतिनिधित्व किया, जो देश की 50 ओवर की प्रतियोगिता है। इसके 11 मैचों में उन्होंने 42 से ज्यादा के औसत से 422 रन बनाए, जिसमें छह अर्धशतक शामिल थे।

अश्विन बोले- हम रोहित और विराट की बात करते हैं, लेकिन ये खिलाड़ी भी दिग्गज है

उस टूर्नामेंट में अच्छे प्रदर्शन के बावजूद 31 वर्षीय बल्लेबाज को नजर अंदाज किया। उनका प्रदर्शन किसी भी टीम को PSL 8 के लिए अपनी टीम में लेने के लिए राजी करने के लिए पर्याप्त नहीं था। उन्होंने क्रिकेट पाकिस्तान से बात करते हुए कहा, “मुझे नहीं लगता कि मेरे प्रदर्शन में कोई समस्या है। हां, चोट के कारण मैं कुछ समय के लिए क्रिकेट एक्शन से बाहर था, लेकिन फिर मैं घरेलू क्रिकेट में लौटा, कुछ लीग में खेला और आप मेरा प्रदर्शन देख सकते हैं।” 



Source link

Continue Reading

Sports

Harmanpreet Kaur Interview: जिस ब्रांड के जूते खरीदने को नहीं थे पैसे, बनीं उसकी एम्बेसडर

Published

on

By


नित्यानंद पाठक | नवभारतटाइम्स.कॉम | Updated: 31 Jan 2023, 8:08 am

Embed

भारतीय महिला क्रिकेट टीम की कप्तान हरमनप्रीत कौर ने नवभारत टाइम्स ऑनलाइन से खास बातचीत में बताया कि एक वक्त था कि उनके पास Puma के जूते खरीदने के पैसे नहीं थे। अब वह इस इंटरनेशनल ब्रांड की एम्बेसडर हैं।



Source link

Continue Reading