Connect with us

TRENDING

Apple M1 MacBook Air खरीदने का सबसे अच्छा मौका, Flipkart पर पाएं सबसे बड़ा डिस्काउंट

Published

on


ऐप पर पढ़ें

एक लाख रुपये से कम कीमत वाले सेगमेंट में सबसे पावरफुल लैपटॉप Apple M1 MacBook Air को बड़े डिस्काउंट पर खरीदने का मौका मिल रहा है। इस मैकबुक मॉडल की कीमत Macbook Air M2 लॉन्च के बाद कम होने की उम्मीद थी, लेकिन इसे महंगा कर दिया गया था। अब इसे बंपर डिस्काउंट पर खरीदा जा सकता है। 

Apple M1 MacBook Air की शुरुआती कीमत भारत में 92,900 रुपये रखी गई थी। हालांकि, Apple M2 MacBook Air मॉडल लॉन्च होने के बाद यह कीमत कम होने के बजाय बढ़ाकर 99,900 रुपये कर दी गई। शॉपिंग प्लेटफॉर्म Croma के बाद अब Flipkart इस लैपटॉप पर बड़ा डिस्काउंट दे रहा है, जिसके साथ इसे 80,000 रुपये से कम कीमत पर खरीदा जा सकता है।

150 फीट गहरी खाई में गिरे भारतीय किशोर की Apple Watch ने बचाई जान, जानें कैसे

ऐसे मिल सकता है बड़े डिस्काउंट का फायदा

M1 चिप वाले मैकबुक एयर मॉडल की शुरुआती कीमत 256GB स्टोरेज वेरियंट के लिए 99,900 रुपये है। वहीं, फ्लिपकार्ट पर इसे 88,990 रुपये में लिस्ट किया गया है। HDFC बैंक डेबिट या क्रेडिट कार्ड्स की मदद से भुगतान करने पर पूरे 10,000 रुपये का डिस्काउंट भी मिल रहा है। इस तरह पावरफुल मैकबुक मॉडल 78,990 रुपये में खरीदा जा सकता है।

ग्राहक चाहें तो इस डिवाइस पर मिल रहे एक्सचेंज ऑफर का फायदा उठा सकते हैं या EMI में भुगतान कर सकते हैं। इसी तरह Flipkart UPI से भुगतान करने पर 2 प्रतिशत डिस्काउंट और 6 महीने के लिए Microsoft 365 सब्सक्रिप्शन भी मिल रहा है। 

दुनिया देखेगी भारत का जलवा! Apple iPhone 14 अब ‘मेड इन इंडिया’

पावरफुल फीचर्स के साथ आता है M1 MacBook Air

मैकबुक मॉडल में ऐपल ने 2560×1600 पिक्सल्स रेजॉल्यूशन वाला 227ppi 13.3 इंच LED-बैकलिट IPS डिस्प्ले मिलता है। ऐपल के इन-हाउस M1 चिप के साथ इसमें 16GB तक रैम मिलती है और परफॉर्मेंस के मामले में इसका जवाब नहीं। कंपनी का दावा है कि 30W चार्जिंग सपोर्ट वाले डिवाइस में दो दिन से ज्यादा की बैटरी लाइफ मिलती है।

Apple M1 MacBook Air के कनेक्टिविटी फीचर में USB टाइप-C पोर्ट, दो USB पोर्ट और एक 3.5mm ऑडियो जैक शामिल है। इस लैपटॉप में टच ID ऑथेंटिकेशन के अलावा WiFi 6, ब्लूटूथ और 720p फेसटाइम HD कैमरा भी दिया गया है।



Source link

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

TRENDING

चिंताजनक: भारत से क्यों भाग रहे करोड़पति? यूएई, ऑस्ट्रेलिया, सिंगापुर को बना रहे नया ठिकाना

Published

on

By



इस साल दुनियाभर में करीब 88 हजार मिलेनियर्स ने अपना मुल्क छोड़ा है। भारत दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा मुल्क हैं, जहां से 8000 करोड़पति देश छोड़कर जा चुके हैं। चीन से सर्वाधिक 15 हजार तो रूस से 10 हजार ।



Source link

Continue Reading

TRENDING

चीन के हालात देख अमेरिका बोला, शांतिपूर्ण प्रदर्शन करना सबका अधिकार, गलत कर रहा ड्रैगन

Published

on

By



अमेरिका का यह बयान चीन में उसकी 'शून्य कोविड नीति' के खिलाफ होते प्रदर्शनों के बीच आया है। व्हाइट हाउस के राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद ने कहा, 'हम अमेरिका में शून्य कोविड नीति का पालन नहीं करते।



Source link

Continue Reading

TRENDING

बच्चे के रूप में किडनैप हुई थी अमेरिकी महिला, 51 साल बाद फिर परिवार से मिली

Published

on

By


अमेरिका के टेक्सास से एक हैरान करने वाली खबर सामने आई है. यहां 51 साल पहले बच्चे के रूप में एक एक महिला लापता हो गई थी. लेकिन अब वह फिर से अपने अपने परिवार को फिर से मिल गई है. द गार्जियन की एक रिपोर्ट के अनुसार, 23 अगस्त, 1971 को, मेलिसा हाईस्मिथ को फोर्ट वर्थ, टेक्सास से अपहरण कर लिया गया था.

उसकी मां, अल्टा अपेंटेंको ने एक समाचार पत्र में दाई को लेकर एक विज्ञापन पोस्ट किया था. उसने बिना मिले ही एक महिला को काम पर रख लिया क्योंकि किसी को उसकी बेटी को देखने की जरूरत थी, जबकि वह काम कर रही थी क्योंकि वह खुद ही छोटे बच्चे की परवरिश कर रही थी. एपेटेंको की रूममेट ने मेलिसा को दाई को दिया था, जिसने कथित तौर पर उसका अपहरण कर लिया और उसके साथ गायब हो गई.

इस साल सितंबर में, हाईस्मिथ के रिश्तेदारों को एक सूचना मिली कि वह चार्ल्सटन के पास है, जो फोर्ट वर्थ से 1,100 मील से अधिक दूर है. डीएनए परीक्षण के परिणाम, मेलिसा के जन्मचिह्न और उसके जन्मदिन सभी ने परिवार को यह साबित करने में मदद की कि मेलिसा वह बच्चा था जिसे 51 साल पहले उनसे अपहरण कर लिया गया था.

द गार्जियन द्वारा किए गए समूह के एक बयान के अनुसार, मेलिसा शनिवार को फोर्ट वर्थ में परिवार के चर्च में एक समारोह में अपनी मां, पिता और अपने चार भाई-बहनों से मिलीं. मेलिसा की बहन, शेरोन हाईस्मिथ के अनुसार, उनके परिवार ने महत्वपूर्ण डीएनए और मेलिसा को खोजने के लिए सार्वजनिक रूप से जानकारी खोजने में सहायता के लिए, एक नैदानिक ​​​​प्रयोगशाला वैज्ञानिक और शौकिया वंशावली विशेषज्ञ, लिसा जो शिएले से संपर्क किया.

शेरोन हाईस्मिथ ने कहा, “हमारा परिवार उन एजेंसियों के हाथों पीड़ित है जिन्होंने इस मामले को गलत तरीके से प्रबंधित किया है.” फिलहाल, हम सिर्फ मेलिसा को जानना चाहते हैं, उसका परिवार में स्वागत करते हैं और 50 साल के खोए हुए समय को पूरा करते हैं,” उसने द गार्जियन से बात करते हुए कहा. 

यह भी पढ़ें –

— स्कूलों में छात्राओं को मुफ्त सैनिटरी पैड देने की याचिका पर SC ने केंद्र को जारी किया नोटिस

— आंध्र सरकार को SC से बड़ी राहत, अमरावती को ही राजधानी बनाने के HC के आदेश पर लगाई रोक

यह भी पढ़ें

       

Featured Video Of The Day

FIFA World Cup: Brazil ने Switzerland को हराकर राउंड ऑफ -16 में बनाई जगह



Source link

Continue Reading