Connect with us

Politics

Amazon या Flipkart? कौन दे रहा है 100 रुपये से भी कम में सबसे सस्ता गैजेट, यहां मिलेगा जवाब

Published

on


नई दिल्ली। ई-कॉमर्स वेबसाइट Amazon और Flipkart पर फेस्विट सीजन सेल चल रही है। दोनों ही सेल 23 सितंबर से शुरू हुई हैं और खत्म होने की तारीख अभी तक नहीं बताई गई है। स्मार्टफोन्स, लैपटॉप्स और बाकी महंगे गैजेट्स के अलावा आपको आप यहां से 100 रुपये से कम कीमत की मोबाइल या इलेक्ट्रॉनिक एक्सेसरीज भी मिल जाएंगी। अब यह भी कंफ्यूजन है कि आपको Amazon या Flipkart कहां से सही डील मिल सकती है। तो आपका ये कंफ्यूजन हम दूर कर देते हैं। चलिए आपको बताते हैं कि Amazon और Flipkart में से कौन सी सेल में सस्ती एक्सेसरीज मिल रही हैं और वो भी 100 रुपये से कम में।

मोबाइल कवर: Amazon पर आपको 50 रुपये की शुरुआती कीमत में मोबाइल कवर्स मिल जाएंगे। यहां से कई विकल्प मिलेंगे जो 100 रुपये से कम में आते हैं। आपको बस अपने फोन के हिसाब से कवर ढूंढना होगा। Flipkart की बात करें तो यहां से आपको 53 रुपये की शुरुआती कीमत में मोबाइल कवर मिल सकते हैं।

फोन स्टैंड: Amazon से आप 37 रुपये की शुरुआती कीमत में फोन स्टैंड खरीद सकते हैं। यहां पर आपको कई विकल्प मिल जाएंगे। फोन स्टैंड आपको वीडियो देखते समय या फिर कार या बाइक में नेविगेशन के समय काफी काम आता है। बात करें Flipkart की यहां से आप फोन स्टैंड को 39 रुपये में खरीद पाएंगे।

चार्जिंग केबल:
आजकल चार्जिंग केबल बेहद जरूरी है क्योंकि इसके बिना फोन चार्ज करना लगभग असंभव है। Amazon से चार्जिंग केबल को 44 रुपये की शुरुआती कीमत में खरीदा जा सकता है। वहीं, Flipkart की बात करें तो यहां से चार्जिंग केबल्स को 52 रुपये की शुरुआती कीमत में खरीदा जा सकता है।

एलईडी लाइट्स:
यह टॉर्च की तरह काम करती हैं। अगर लाइट चली जाती है तो यह बेहद काम आती है। Amazon से मिनी एलईडी लाइट्स को 44 रुपये की शुरुआती कीमत में खरीदा जा सकता है। वहीं, Flipkart की बात करें तो यहां से मिनी एलईडी लाइट्स को 55 रुपये की शुरुआती कीमत में खरीदा जा सकता है।

वेब कैम कवर: अगर आप ऑफिस जाते हैं तो आपके लिए यह एक अच्छा आइटम है। आप अपने लैपटॉप के कैमरा को इससे कवर कर पाएंगे। Amazon से आपको वेब कैम कैमरा 79 रुपये की शुरुआती कीमत में और Flipkart से इसे 119 रुपये की शुरुआती कीमत में खरीदा जा सकेगा।



Source link

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Politics

महंगाई की मार! 30 लाख यूजर्स ने छोड़ा Jio का साथ, सिंगल SIM और फीचर फोन चलाने को हैं मजबूर!

Published

on

By


नई दिल्ली। टेलिकॉम इंडस्ट्री को जबरदस्त नुकसान का सामना करना पड़ा है। पिछले साल नवंबर में 45 लाख लोगों ने अपने सिम कार्ड बंद कर दिए। यह आंकडें काफी चौकाने वाले हैं। बता दें कि नवंबर 2022 में सबसे ज्यादा एक्टिव यूजर्स की कमी हुई है, जिसने पिछले 9 माह के रिकॉर्ड को पीछे छोड़ दिया है। ऐसे में सवाल उठता है कि आखिर क्या वजह है कि लोगों जियो से दूरी बना रहे हैं। आइए जानते हैं विस्तार से…

इस वजह से कम हो रहे जियो यूजर्स
रिपोर्ट की मानें, तो बढ़ती महंगाई की वजह से लोग ड्यूल सिम की जगह सिंगल सिम में शिफ्ट हो रहे हैं। साथ ही स्मार्टफोन की बजाय फीचर फोन चला रहे हैं। साथ ही फीचर फोन से स्मार्टफोन में शिफ्ट होने की दर काफी स्लो हो गई है। ऐसा अगले कुछ माह तक जारी रह सकता है। इसकी वजह से आने वाले दिनों में टैरिफ में बढ़ोतरी में देरी हो सकती है। बता दें कि लंबे वक्त से रिचार्ज प्लान महंगे होने की खबरें आ रही हैं। हाल ही में एयरटेल की तरफ से अपने सबसे सस्ते रिचार्ज प्लान को बंद कर दिया गया है। हालांकि जियो के रिचार्ज प्लान में बढ़ोतरी की संभावना से इनकार किया जा रहा है।

जियो को 30 लाख एक्टिव यूजर्स का नुकसान

अगर नवंबर 2022 के आंकड़ों की बात करें, तो जियो को सबसे ज्यादा 30 लाख एक्टिव यूजर्स का नुकसान हुआ है। जबकि एयरटेल के एक्टिव यूजर्स की संख्या में इसी दौरान 10 लाख का इजाफा हुआ है। जबकि इसी दौरान वोडाफोन-आइडिया के एक्टिव यूजर्स की संख्या में 20 लाख की कमी दर्ज की गई है। जबकि नवंबर 2022 में कुल एक्टिव यूजर्स की संख्या में 45 लाख की कमी दर्ज की गई है।

जियो के एक्टिव यूजर्स
45 लाख यूजर्स घटे
एयरटेल के एक्टिव यूजर्स
10 लाख यूजर्स बढ़े
वोडाफोन-आइडिया के एक्टिव यूजर्स
220 लाख यूजर्स घटे



Source link

Continue Reading

Politics

हर भारतीय के फोन में होनी चाहिए ये 5 ऐप्स, घर बैठे मिलेगा हर सरकारी सर्विस का बेनिफिट

Published

on

By


नई दिल्ली। 5 Government Apps: कई ऐसी सरकारी ऐप्स हैं जो आपको घर बैठे सरकारी सर्विसेज का लाभ उठाने में मदद करती हैं। भारत सरकार ने इन ऐप्स को पेश किया है जिनके जरिए ऐप सरकारी सेवाओं का बेनिफिट ले सकते हैं। यहां हम आपको ऐसी ही 5 ऐप्स के बारे में बता रहे हैं।

Digilocker:
यह ऐप एक डिजिटल लॉकर की तरह काम करता है। आप इसका उपयोग अपने डिजिटल डॉक्यूमेंट्स को स्टोर करने के लिए कर सकते हैं। इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय (MeitY) ने इस ऐप को डिजिटल इंडिया पहल के तौर पर पेश किया है। एक बार जब आप अपने डिजिटल डॉक्यूमेंट्स को ऐप में सेव कर लेते हैं तो आप उन्हें कहीं भी इस्तेमाल कर सकते हैं। आपको उनकी हार्ड कॉपी रखने की जरूरत नहीं होगी।

mAadhaar App:
आधार कार्ड एक अहम दस्तावेज बन चुका है। इस ऐप से आपको अपना आधार कार्ड हर जगह अपने साथ ले जाने की जरूरत नहीं है। इस ऐप का उपयोग डिजिटल वर्जन या आपके आधार कार्ड की सॉफ्ट कॉपी को स्टोर करने के लिए किया जा सकता है। इस ऐप की मदद से अपना एड्रेस अपडेट करने के साथ-साथ अन्य अपडेट भी करा सकते हैं। यह ऐप कई भाषाओं जैसे हिंदी, बांग्ला, कन्नड़ आदि को सपोर्ट करता है।

mPassport Sewa App:
mPassport Sewa ऐप भारत सरकार के विदेश मंत्रालय के कॉउंसलर, पासपोर्ट और वीजा (सीपीवी) प्रभाग द्वारा पेश किया जाता है। इस ऐप के साथ, आप पासपोर्ट से संबंधित विभिन्न सर्विसेज का लाभ उठा सकते हैं जैसे कि पासपोर्ट सेवा केंद्र का पता लगाना, अपने आवेदन की स्थिति की डिटेल्स चेक करना आदि।

Umang App:
UMANG का मतलब यूनिफाइड मोबाइल एप्लिकेशन फॉर न्यू-एज गवर्नेंस है। सरकारी सेवाओं को एक्सेस करने के लिए आप इस ऐप का उपयोग कर सकते हैं। यह ऐप विभिन्न सरकारी सेवाओं को एक प्लेटफॉर्म के नीचे लाता है। यहां से आप कई सरकारी सेवाओं का लाभ ले सकते हैं।

mParivahan App:
आप यहां से अपना नया ड्राइविंग लाइसेंस बनवा सकते हैं। परिवहन से संबंधित आप यहां से कई काम कर सकते हैं। यह ऐप नजदीकी आरटीओ या प्रदूषण जांच केंद्र का पता लगाने के काम आता है। यहां से आप मॉक ड्राइविंग लाइसेंस टेस्ट का भी लाभ उठा सकते हैं। अगर आप सेकेंड हैंड वाहन खरीद रहे हैं तो यह ऐप आपकी काफी मदद कर सकता है।



Source link

Continue Reading

Politics

क्या अगले 5 साल में आपको बेरोजगार कर देगी यह तकनीक??

Published

on

By


नई दिल्ली। Chat GPT, अगर पिछले कुछ दिनों में आप ने इस टर्म को काफी बार सुन लिया है और लाख बार इसके बारे में पढ़ने पर भी इतना ही पता चला है की यह AI से सम्बंधित है तो चलिए हम आसान शब्दों में इसके बारे में समझा देते हैं। Chat GPT भाषा पर आधारित एक मॉडल है। मतलब यह की आप इससे कुछ पूछेंगे और यह एक इंसान की तरह आपसे बात करेगा, आपको इससे बात कर के ऐसा लगेगा की आप रोबोट नहीं किसी इंसान से ही बात कर रहे हैं। यह मॉडल आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस पर आधारित है।

इसे खासतौर से कस्टमर सर्विस के लिए लाया गया था। लेकिन अब चर्चा में आने के बाद लोग इसे कई चीजों के लिए इस्तेमाल करने लगे हैं। इसके बारे में अधिक जानना है तो आगे पढ़ते रहें।

क्या है Chat GPT?

इसे आप एक AI चैट बॉट की तरह समझें। इसे ऑनलाइन कस्टमर केयर के लिए बनाया गया है। इसे पहले से इस तरह से ट्रेन किया गया है की यह अलग-अलग नेचुरल लैंग्वेज प्रोसेसिंग का इस्तेमाल करता है।

इसने सीखा कहां से है?

इस चैटबॉट को जो भी पता है उसका सोर्स टेक्स्टबुक, वेबसाइट्स और कई आर्टिकल हैं। यह अपने मॉडल का इस्तेमाल कर के इंसानों को जवाब देता है।

Chat GPT के फीचर्स

इसका सबसे जरूरी फीचर है इंसानों की तरह रिस्पॉन्स करना। इसलिए यह चैटबॉट्स, AI सिस्टम कन्वर्सेशन और वर्चुअल असिसटेंट के लिए बेस्ट है। यह आपसे बातचीत कर रहा हो ऐसे रिस्पॉस कर सकता है, स्टोरीज लिख सकता है, कविताएं लिख सकता है, कोड लिख सकता है, आर्टिकल्स लिख सकता है, ट्रांसलेशन कर सकता है आदि।

कैसे कर सकते हैं इसका इस्तेमाल?

अब इसका असली काम और इसके बारे में समझने के बाद अगर आप भी चाहते हैं की इसे एक बार ट्राई किया जाए तो इन स्टेप्स को फॉलो करें।

  1. ब्राउजर में लॉगइन पेज पर जाएं।
  2. AI अकाउंट बनाएं और साइन-अप कर लें।
  3. उसके बाद आपसे वेरिफिकेशन के लिए नंबर मांगा जाएगा।
  4. उसके बाद मोबाइल पर कोड आएगा। इसके एसएमएस का चार्ज भी लग सकता है।
  5. एसएमएस एक्टिवेशन पर जाएं। रजिस्टर कर के लॉग-इन कर लें।
  6. टॉप राइट में बैलेंस में रिचार्ज के विकल्प में जाएं।
  7. रिचार्ज करें और सर्च बॉक्स में AI सर्विसेज को ढूंढे।
  8. शॉपिंग कार्ट बटन को प्रेस करें। वहां, आपके मोबाइल नंबर का कंट्री कोड लिखा होगा।
  9. उस मोबाइल नंबर को कॉपी कर के Chat GPT मोबाइल नंबर वेरिफिकेशन सेक्शन में एंटर कर दें।
  10. आपको एक कोड आएगा वो आपका वेरिफिकेशन कोड होगा। इस कोड को Open AI बॉक्स में डालें।
  11. इसके बाद अपने कारण का चयन करें की आपने रजिस्टर क्यों किया।



Source link

Continue Reading