Connect with us

Politics

1 जनवरी 2023 से बंद होने जा रहे हैं Water Heater! खरीदने से पहले जान लें वजह

Published

on


नई दिल्ली। क्या आप अपने घर में Electric Water Heater का इस्तेमाल करते हैं या फिर आप नया गीजर खरीदने का प्लान कर रहे हैं? अगर हां, तो आज की ये खबर आपके लिए है। बता दें कि जल्द ही मार्केट से वॉटर हीटर गायब होने वाले हैं। यह जानकारी ऊर्जा मंत्रालय के जरिए दी गई है। मंत्रालय ने कहा है कि 1 जनवरी 2023 से जो भी वॉटर हीटर 1 स्टार रेटिंग वाले होंगे उन्हें वैध नहीं माना जाएगा। यानी कि अगर आप 1 स्टार रेटिंग वाले वॉटर हीटर खरीदने का प्लान कर रहे हैं तो अगले साल से ये हीटर मान्य नहीं होंगे।

मंत्रायल ने इसके लिए एक नोटिफिकेशन जारी की है जिसमें एक टेबल भी दी गई है। इस टेबल में इस पूरे प्लान की जानकारी दी गई है। मंत्रालय ने कुछ वॉटर हीटर्स की लिस्ट जारी की है जिसमें स्टार रेटिंग वाले वॉटर हीटर हैं। यहां बताया गया है कि इन वॉटर हीटर्स की वैधता 1 जनवरी 2023 से 31 दिसंबर 2025 तक होगी।

इसके साथ ही यह साफ होता है कि जो वॉटर हीटर इस लिस्ट में अपनी जगह नहीं बना पाए हैं वो अगले साल से वैध नहीं माना जाएगा। जिन्हें वैधता से बाहर रखा गया है वो सभी 1 स्टार रेटिंग के साथ आते हैं। ये सभी वॉटर हीटर 6 लीटर से 200 लीटर की स्टोरेज वाले हैं। इसका सीधा मतलब यह है कि इस तरह के इलेक्ट्रिक वॉटर हीटर आने वाले समय में वैध नहीं होंगे। इस तरह के हीटर्स की एनर्जी परफॉर्मेंस लेवल को अपग्रेड करने की जरूरत होती है।



Source link

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Politics

Uric Acid Control करने में मदद करती हैं ये मोबाइल ऐप! फिटनेस में भी निभाती हैं अहम रोल

Published

on

By


नई दिल्ली।Uric Acid बढ़ने की वजह से शरीर को काफी परेशानी होने लगती है। इसकी वजह से जोड़ों में दर्द होना शुरू हो जाता है। यही वजह है कि आपको समय रहते ही इसे कंट्रोल करने पर काम करना चाहिए। Uric Acid बढ़ने के पीछ कई वजहें होती हैं। डॉक्टर्स की मानें तो अगर आप समय के साथ वर्कआउट करना शुरू कर देते हैं तो आपको कोई परेशानी नहीं होने वाली है। आज हम आपको कुछ ऐसी तकनीक के बारे में बताएंगे जिसकी मदद से आप आसानी से Uric Acid कंट्रोल कर सकते हैं।

GOUT DIET- ACID URIC TABLE इन दिनों काफी ट्रेंड में हैं। ये ऐप प्ले स्टोर पर उपलब्ध है। आप आसानी से इसे डाउनलोड भी कर सकते हैं। ये ऐप आपकी अलग-अलग तरीके से मदद करती है। साथ ही ये डाइट चार्ट भी बनाकर देती है। इसमें 700 से ज्यादा फूड आइटम की डिटेल शामिल है। यहां से आप आसानी से फूड के बारे में जानकारी हासिल कर सकते हैं। ऐप बनाने वाली कंपनी की मानें तो ये प्यूरीन नाम के केमिकल को तोड़ने में काफी मदद करती है।

Uric Acid का सीधा कनेक्शन डाइट से भी होता है। डॉक्टर्स बताते हैं कि यूरिक एसिड की मात्रा बढ़ने की स्थिति में आपको प्रोटीन का सेवन कम कर देना चाहिए। क्योंकि प्रोटीन का पाचन करने में बॉडी को ज्यादा काम करना पड़ता है।

Gout Central Mobile App भी आपकी काफी मदद कर सकती है। ये ऐप Android, iPhone यूजर्स के लिए उपलब्ध है। ये ऐप ब्लड प्रेशर और वजन तक कंट्रोल करने में मदद करता है। यही वजह है कि ज्यादातर लोग इस ऐप को डाउनलोड भी करते हैं। इस ऐप की खासियत है कि ये आपको डाइट तक की भी जानकारी देती है। साथ ही ये यूरिक एसिड को कंट्रोल करने में मदद करने वाली एक्सरसाइज के बारे में भी बताती हैं। ऐसे में Uric Acid बढ़ने की स्थिति में आपको इस ऐप की मदद लेनी चाहिए।



Source link

Continue Reading

Politics

Google गाएगा आपके लिखे गाने, टेक्स्ट खुद ब खुद बन जाएगा मजेदार म्यूजिक

Published

on

By


नई दिल्ली। गूगल की तरफ से एक मजेदार फीचर पेश किया है, जो कि आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (AI) टूल है। यह टूल टेक्स्ट को म्यूजिक में बदल देगा। साधारण शब्दों में कहें, तो गूगल आपके लिखे गानों पर सुर और ताल लगाकर मजेदार गाना बनाएगा। इस फीचर को गूगल के रिसर्चर ने काफी रिचर्च के बाद पेश किया है। गूगल ने इसे MusicLM के नाम से पेश किया गया है। गूगल का फीचर टेक्स्ट यानी लिखे हुए गानों को म्यूजिक की शक्ल में पेश कर देगा। मतलब आपके लिखा गाना गिटार और बाकी म्यूजिक के साथ पेश कर दिया जाएगा, जो सुनने में काफी अच्छा लगेगा। हालांकि यह फीचर कितनी भाषाओं में उपलब्ध होगा, फिलहाल इस बारे में कोई जानकारी मौजूद नहीं है।

बना पाएंगे 30 सेकेंड से लेकर 5 मिनट के वीडियो
गूगल के म्यूजिक टूल को बेहतर ढ़ंग से तैयार किया गया है। इसके कुछ सैंपल भी गूगल की तरफ से पेश किए गए हैं, जिसमें टेक्स्ट को गानों में तब्दील करके दिखाया गया है। इस सैंपल में 30 सेकेंडे से लेकर 5 मिनट के म्यूजिक वीडियो तैयार किए गए हैं। इस म्यूजिक को कस्टमाइज भी करने का विकल्प दिया जाएगा। हालांकि अभी शुरुआती दौर है। ऐसे में आने वाले दिनों में AI सुर और ताल लगाएगा।

AI से हो जाएगा काम
बता दें कि अभी तक टेक्स्ट को AI की मदद से सिंपल वॉइस में बदला जा सकता था। मौजूदा वक्त में कई न्यूज कंपनियां अपनी वेबसाइट के टेक्स्ट को वॉइस में AI की मदद से बदलने का का काम किया जा रहा है। हालांकि अब गूगल एक कदम आगे बढ़कर टेक्स्ट को म्यूजिक की शक्ल में पेश कर रहा है। इससे पहले AI बेस्ड ChatGPT को लेकर काफी चर्चा रही है, जो आपको सवालों को वेबसाइट की जगह एक पैराग्राम में उपलब्ध कराता है। इससे यूजर्स को अलग-अलग वेबसाइट नहीं खंगालनी पड़ती हैं।



Source link

Continue Reading

Politics

Apple यूजर्स को सरकार की चेतावनी! क्या आप भी करते हैं iPhone इस्तेमाल?

Published

on

By


नई दिल्ली। केंद्र सरकार की तरफ से Apple यूजर्स को चेतावनी जारी की है। अगर आप भी ऐपल डिवाइज जैसे iphone, iMac, iPad का इस्तेमाल करते हैं, तो आपको भारी नुकसान उठाना पड़ सकता है। ऐपल प्रोडक्ट को सबसे सुरक्षित डिवाइस माना जाता है। लेकिन सरकार ने इसके इस्तेमाल को लेकर अलर्ट जारी किया है। ऐसे में ऐपल डिवाइस इस्तेमाल करने वाले सभी यूजर्स जान लें कि आखिर कौन सा iPhone, Macbook या फिर iPad आपके इस्तेमाल के लिए खतरनाक साबित हो सकता है?

हैकर्स कर सकते हैं साइबर अटैक
दरअसल इंडियन कंप्यूटर रिस्पांस टीम (CERT-In) की तरफ से एक एडवाइजरी जारी की गई है। बता दें कि यह एक राष्ट्रीय साइबर सुरक्षा एजेंसी है, जो समय-समय पर इलेक्ट्रॉनिक प्रोडक्ट से होने वाले खतरों को लेकर यूजर्स को आगाह करती रहती है. ऐसे ही एक एडवाइजरी में Apple की तरफ से कहा गया है कि पुरानी Apple डिवाइस में हैकर्स टारगेटेड हमला कर सकते हैं। ऐसा इसलिए क्योंकि इसमें हैकर्स मनमाना कोड एग्जीक्यूट कर सकते हैं।

कौन सी डिवाइस हैं खतरनाक
CERT-In की एडवाइजरी के मुताबिक 12.5.7 और उससे पहले के Apple iOS वर्जन में सिक्योरिटी ब्रीज पाया गया है, जिससे इस डिवाइस पर हैकर्स आसानी से हमला कर सकते हैं। इन डिवाइस में iPhone 5s, iPhone 6, iPhone 6 Plus, iPad Air, iPad mini2, iPad Mini 3 और 6th जनरेशन iPod शामिल हैं।

ऐपल डिवाइस को तुरंत कर लें अपडेट

बता दें कि Apple की तरफ से iOS 12.5.7 सिक्योरिटी पैच अपडेट जारी किया जा चुका है। ऐसे में ऐपल यूजर्स को सलाह दी जाती है कि वो iPhone, iPad जैसी डिवाइस में लेटेस्ट सॉफ्टवेयर अपडेट कर लें। वरना उनकी डिवाइस हैक हो सकती है। यूजर्स Setting ऑप्शन में जाकर iPhone, ipad और iPod को अपडेट कर सकते हैं।



Source link

Continue Reading