Connect with us

Tech

सरकार ने लॉन्च किया ‘एंटीवायरस ऐप’ जानें कैसे होगा डाउनलोड, क्या होंगे फीचर्स?

Published

on


Image Source : फाइल फोटो
इस सरकारी एंटीवायर एप्लीकेशन से आपको अपने डाटा को सुरक्षित रखने में भी मदद मिलेगी।

Indian government malware detections app: अगर आप स्मार्टफोन यूजर हैं तो कभी न कभी एंटीवायरस का भी इंस्तेमाल किया होगा। एंटीवायरस हमारे फोन को वायरस से बचाते हैं। अच्छा एंटीवायरस इस्तेमाल करने के लिए हमें पेड वर्जन लेना पड़ता है। अगर आप पेड एंटीवायरस नहीं लेना चाहते तो आपके लिए एक गुड न्यूज है। भारत सरकार की तरफ से स्मार्टफोन यूजर्स के लिए एंटीवायरस लॉन्च किया गया है। इस एंटीवायरस को आप गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड कर सकते हैं। 

आपको बता दें कि भारत सरकार के साइबर स्वच्छता केंद्र जिसे बोटनेट क्लीनिंग एंड मालवेयर एनालिसिस सेंटर के नाम से भी जाना जाता है की तरफ से एक फ्री बॉटनेट डिटेक्शन और रिमूवल टूल जारी किया गया है। आप वेबसाइट पर जाकर ऐप्लीकेशन की जानकारी ले सकते हैं। यह ऐप किसी भी तरह के मैलवेयर और वायरस को बहुत तेजी से डिटेक्ट करता है। 

डेटा को सेफ करने में भी करेगा मदद

सरकार ने इस एंटीवायर ऐप्लीकेशन को बनाने के लिए इंटरनेट सर्विस प्रवाइडर, एंटीवायरस बनाने वाले कंपनी और इंडियन कंप्यूटर रिस्पांस टीम के साथ साझेदारी की है। बता दें कि Bot एक तरह का मॉलवेयर होता जिसकी मदद से कोई हैकर आपके स्मार्टफोन का डाटा कॉपी कर सकता है। ऐसे मॉलवेयर को डिटेक्ट करने और उन्हें फोन से हटाने के लिए सरकार ने eScan CERT-In Bot Removal एप लॉन्च किया है।

गूगल प्ले स्टोर से कर सकते हैं डाउनलोड

 eScan CERT-In Bot Removal  ऐप्लीकेशन को आप गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड कर सकते  हैं। अगर आप किसी ऐसी वेबसाइट को एक्सेस करते हैं जिसमें वायरस होने की संभावना है तो यह एह ऐप्लीकेशन आपको उसमें जाने से रोकेगा। इसके साथ ही इस ऐप आपके फोन को पूरा स्कैन करके यह भी बता देंगा कि स्मार्टफोन में वायरस या फिर मैलवेयर है या नहीं। 

मिलेगा ये बड़ा फीचर

इस ऐप्लीकेशन का सबसे बड़ा फायदा यह है कि यह आपको यह भी बता देगा कि आपके स्मार्टफोन में मौजूद कौन कौन से ऐप्लीकेशन माइक, कैमरा, लोकेशन, मैसेज और कॉल का एक्सेस ले रहे हैं। सबसे पहले आपको ऐप डाउनलोड करना होगा और फिर यह आपके स्मार्टफोन को फुल स्कैन करेगा। इसके बाद डिस्प्ले में आपको पूरी जानकारी मिल जाएगी। 

यह भी पढ़ें- Whatsapp Channel फीचर हुआ लॉन्च, अब यूजर्स क्रिएट कर पाएंगे पर्सनल चैनल, जानें इसके बारे में





Source link

Tech

माइक्रोसॉफ्ट ला रहा है नया फीचर, स्मार्टफोन का कैमरा बनेगा लैपटॉप का वेबकैम

Published

on

By


Image Source : फाइल फोटो
माइक्रोसॉफ्ट के इस फीचर से लाखों लोगों को हेल्प मिलेगी।

माइक्रोसॉफ्ट दुनिया की दिग्गज कंपनियों में शुमार है। कंपनी अपने विंडोज यूजर्स के लिए समय समय पर नए नए फीचर्स और अपडेट लाती रहती है। अब माइक्रोसॉफ्ट की तरफ से एक कमाल का फीचर आने वाला है जो लाखों यूजर्स के काम आएगा। कंपनी विंडोज सिस्टम और एंड्रॉयड डिवाइस को आपस में जोड़ने के लिए फोन लिंक टूल पर काम कर रही है। 

अगर आप भी अपने लैपटॉप और या फिर डेस्कटॉप में विंडोज सिस्टम इस्तेमाल करते हैं और अपने सिस्टम के वेबकैम से परेशान हैं तो अब आपको टेंशन लेने की जरूरत नहीं है। माइक्रोसॉफ्ट का फोन लिंक फीचर आपकी बड़ी मदद करने वाला है। 

माइक्रोसॉफ्ट ला रहा है फोन लिंक फीचर

आपको बता दें कि माइक्रोसॉफ्ट अपने फोन लिंक फीचर को इस तरह से डिजाइन कर रहा है कि आप इससे अपने विंडोज सिस्टम को एंड्रॉयड के कनेक्ट करके अपने स्मार्टफोन के कैमरे को ही वेबकैम की तरह इस्तेमाल कर पाएंगे। इससे एक बड़ा फायदा यह होगा कि अगर आपका वेबकैम खराब भी है तो आप आसानी से अपने एंड्रॉयड फोन के कैमरे से काम चला पाएंगे। 

एप्पल यूजर्स को मिलती है यह सुविधा

आपको बता दें कि स्मार्टफोन के कैमरे को वेब कैम की तरह इस्तेमाल करना कोई नया फीचर नहीं है। बड़ी बड़ी टेक कंपनियां पिछले 2-3 साल से इस फीचर पर काम कर रही है। टेक जायंट एप्पल भी अपने ग्राहकों को ऐसा ही फीचर देता है। मैकओएस पर यूजर्स आसानी से आईफोन के कैमरे को वेब कैमरा की तरह यूज कर सकते हैं। अब एप्पल के बाद माइक्रोसॉफ्ट भी अपने लाखों यूजर्स को यह सुविधा देने जा रहा है। 

यह भी पढ़ें- कल से बदल जाएंगे Sim खरीदने के नियम, जान लें ये 6 जरूरी बातें नहीं तो लगेगा 10 लाख का झटका





Source link

Continue Reading

Tech

WhatsApp पर आपका कोई खास कर रहा है वॉयस कॉल, बिना फोन छुए ही चल जाएगा पता

Published

on

By


Image Source : फाइल फोटो
बिना फोन छुए पता चलेगा कि कौन कर रहा है आपको कॉल।

दुनियाभर में एक दूसरे से कनेक्ट रहने के लिए लोग सबसे ज्यादा वॉट्सऐप का इस्तेमाल करते हैं। वॉट्सऐप आज लोगों की आम जरूरत बन चुका है। आज इस प्लेटफॉर्म में 2बिलियन से ज्यादा लोग हैं। इसलिए यूजर्स की सहूलियत क लिए कंपनी नए नए फीचर्स और अपडेट लाती रहती है। चैटिंग के साथ साथ वीडियो कॉलिंग और वॉयस कॉलिंग के लिए वॉट्सऐप का जमकर इस्तेमाल किया जाता है। 

हमारी कॉन्टैक्ट लिस्ट के साथ साथ कोई भी दूसरा यूजर आसानी से आपको वॉट्सऐप पर कॉल कर सकता है। लेकिन जब किसी अनजान नंबर या फिर ऐसे लोगों की कॉल आती है जिनसे हम बात नहीं करना चाहते तो जरूर एक बड़ी परेशानी होती है। लेकिन एक ऐसा तरीका भी है जिससे आप आसानी से जान सकते हैं कि वॉट्सऐप पर आने वाली कॉल आपके किसी खास की हैं या फिर अननोन नंबर की है। 

दरअसल वॉट्सऐप हमें कई तरह की प्राइवेसी सेटिंग देता है। कंपनी हमें साइलेंस अननॉन नंबर की सेटिंग मिलती है। इसे इनेबल करके हम अनजान नंबर से आने वाली कॉल से बच सकते हैं। लेकिन अब आप इस फीचर को डिसेबल रखने हुए भी बिना फोन छुए यह जान सकते हैं कि वॉट्सऐप पर आपके किसी अपने की कॉल आ रही है। 

Custom Notifications से मिलेगी बड़ी मदद

मेटा का यह पॉपुलर ऐप अपने यूजर्स को Custom Notifications की सुविधा देता है। इस सेटिंग में आप अपने कॉल नॉटिफिकेशन को मैनेज कर सकते हैं। इसमें आपको एक बड़ी यह सुविधा मिलती है कि आप किसी खास कॉन्टैक्ट के लिए एक अलग से रिंगटोन लगा सकते हैं। इससे जब उस कॉन्टैक्ट से कॉल आएगी तो आपको बिना फोन छुए ही पता चल जाएगा कि कौन कॉल कर रहा है। 

यह भी पढ़ें- साइबर फ्रॉड से बचना है तो सरकारी एजेंसी के ये टिप्स जरूर फॉलो करें, कभी नहीं होगा नुकसान





Source link

Continue Reading

Tech

साइबर फ्रॉड से बचना है तो सरकारी एजेंसी के ये टिप्स जरूर फॉलो करें, कभी नहीं होगा नुकसान

Published

on

By


Image Source : फाइल फोटो
गूगल पर कुछ भी सर्च करते समय बेहद सावधान रहने की जरूरत है।

टेक्नोलॉजी के दौर में पिछले कुछ समय में साइबर फ्रॉड और स्कैम के मामले तेजी से बढ़े हैं। इसलिए स्मार्टफोन या फिर लैपटॉप में इंटरनेट का इस्तेमाल करते समय काफी सावधान रहने की जरूरत है। लोग फ्रॉड का शिकार न हो इसके लिए सरकारी एजेंसी भी समय समय पर अलर्ट जारी करती रहती है। इतना ही नहीं सरकार इंटरने से होने वाले नुकसान को लेकर भी लोगों को जागरूक करती रहती है। 

इंटरनेट हमारी जिंदगी की कई परेशानियों को चुटकी में दूर कर देता है लेकिन यह इंटरनेट कई बार बड़े नुकसान का भी कारण बन जाता है। इसलिए हमें बेहद सावधान रहने की जरूरत रहती है। अगर आप भी इंटरनेट का इस्तेमाल करते हैं तो गृह मंत्रालय के अधीन काम करने वाली साइबर दोस्त के कुछ टिप्स आपके बेहद काम आ सकते हैं। 

साइबर दोस्त की तरफ से कुछ टिप्स बताए गए हैं ताकि इंटरनेट में सर्च करते समय लोग फ्रॉड या फिर स्कैम का शिकार न हों। साइबर दोस्त के ये टिप्स बेहद उपयोगी हैं और आपको इंटरनेट के जोखिम से बचा सकते हैं। 

  1. साइबर दोस्त ने पहले टिप्स में ये बताया कि अगर आप कुछ सर्च करते हैं और उसमें जो रिजल्ट आता है अगर उसके साथ Sponsored लिखा है तो उस पर क्लिक न करें।
  2. अगर आप गूगल से सर्च में किसी का कस्टमर केयर नंबर तलाश करके कॉल करते हैं तो आप बड़ी गलती करते हैं। इस तरह के नंबर आपको मुसीबत में डाल सकते हैं। 
  3. अगर किसी भी वेबसाइट को सर्च कर रहे हैं लेकिन उसके यूआरएल पर https नहीं लिखा है तो उस साइट पर कभी भी क्लिक करने की गलती न करें। 
  4. कभी भी किसी एक साइट की जानकारी पर भरोसा न करें। हमेंशा एक से ज्यादा साइट को जरूर चेक करें। 
  5. समय समय पर गूगल अकाउंट की हिस्ट्री को जरूर चेक करते रहा करें। इससे एक बड़ा फायदा यह होगा कि अगर कोई आपका जीमेल इस्तेमाल करता है तो आपको इसकी जानकारी मिल जाएगी। 

यह भी पढ़ें- Jio-Airtel के इन सस्ते प्लान्स में मिलता है NetFlix का सब्सक्रिप्शन, अब फ्री में देखें लेटेस्ट मूवीज





Source link

Continue Reading