Connect with us

Sports

शोएब अख्तर की भविष्यवाणी हो गई सच, एक साल पुराने वीडियो में पीठ की चोट को जसप्रीत बुमराह के लिए बताया था खतरा

Published

on


टी20 वर्ल्ड कप के शुरू होने से कुछ हफ्ते पहले भारत को एक और बड़ा झटका लगा है। स्टार ऑलराउंडर रविंद्र जडेजा के बाद अब जसप्रीत बुमराह चोटिल होने के कारण टी20 विश्व कप से बाहर हो गए हैं। भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) के एक अधिकारी ने पीटीआई से कहा कि बुमराह पीठ दर्द की गंभीर समस्या (स्ट्रेस फ्रैक्चर) से परेशान हैं और उन्हें महीनों तक टीम से बाहर रहना पड़ सकता है।

बीसीसीआई अधिकारी ने गोपनीयता की शर्त पर पीटीआई से कहा,” यह तय है कि बुमराह टी20 विश्व कप में नहीं खेल पाएंगे। उन्हें पीठ दर्द की गंभीर परेशानी है और उन्हें छह महीने तक बाहर रहना पड़ सकता है।”

स्ट्रेस फ्रैक्चर में हड्डी में एक छोटी सी दरार हो जाती है, यह समस्या खिलाड़ियों में आम है। हड्डी की चोट पर अगर शुरू से ध्यान न दिया जाए, जो यह स्ट्रेस फ्रैक्चर में बदल सकता है। बुमराह के चोटिल होने पर क्रिकेट एक्सपर्ट अपनी अलग-अलग राय दे रहे हैं। कई कह रहे हैं कि बुमराह को बीसीसीआई ने फिट होने का पूरा मौका नहीं दिया, तो कुछ लोगों की राय है कि बुमराह को टीम में शामिल करने में बीसीसीआई ने जल्दबाजी दिखाई। 

हालांकि एक एंगल ये भी सामने निकलकर आ रहा है कि बुमराह के गेंदबाजी एक्शन की वजह से उनकी मुश्किलें बढ़ रही हैं। पाकिस्तान के पूर्व तेज गेंदबाज शोएब अख्तर का पिछले साल का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है, जिसमें शोएब ने बुमराह को पीठ की समस्या और गेंदबाजी एक्शन को लेकर आगाह किया था। उन्होंने ये भी बताया था कि अगर ध्यान नहीं दिया गया तो बुमराह की पीठ की समस्या अगले एक साल में और बढ़ जाएगी और ये उनके करियर के लिए खतरा बन सकती है। 

टी20 विश्व कप से पहले हारिस राउफ ने भारत को चेताया- MCG मेरा घरेलू मैदान, मुझे खेल पाना आसान नहीं होगा

बीसीसीआई ने अभी तक बुमराह की चोट या उनके रिप्लेसमेंट पर आधिकारिक अपडेट नहीं दिया है, लेकिन मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक मोहम्मद सिराज या मोहम्मद शमी में से एक को मौका मिल सकता है।

शोएब अख्तर ने एक साल पहले स्पोर्ट्स तक पर कहा था, ”उनकी (बुमराह की) गेंदबाजी फ्रंटल एक्शन पर बेस है। उस तरह के एक्शन वाले खिलाड़ी अपनी पीठ और कंधे से गति पैदा करते हैं। फ्रंट-ऑन एक्शन वाले गेंदबाजों की पीठ चोटिल होती है, तो उनके लिए इससे छुटकारा पाना मुश्किल रहता है। आप कितनी भी कोशिश कर लें, आप इससे बच नहीं सकते हैं।”

रावलपिंडी एक्सप्रेस ने वेस्टइंडीज के पूर्व तेज गेंदबाज इयान बिशप और न्यूजीलैंड के पूर्व तेज गेंदबाज शेन बॉन्ड का उदाहरण देते हुए कहा कि जसप्रीत बुमराह भारत के लिए तीनों प्रारूपों में नहीं खेल सकता है। उन्होंने इसकी वजह भी बताई।

BCCI के एक गलत फैसले से WC जीतने का सपना हुआ धुंधला, क्या ‘अनफिट’ जसप्रीत बुमराह को शामिल करने की

उन्होंने कहा था, ”मैंने बिशप अपनी शेन बॉन्ड को पीठ की समस्या से जूझते देखा और इन दोनों का फ्रंटल एक्शन था। बुमराह को अब इस तरह से सोचने की जरूरत है, ‘मैंने एक मैच खेला, एक छुट्टी ली और फिर रिहैब के लिए’। उसे मैनेज करने की जरूरत है। यदि आप उसे हर मैच खिलाते हैं, तो एक साल में वह पूरी तरह से टूट जाएगा। उसे पांच में से तीन मैच खिलाएं और उसे बाहर निकालें। बुमराह को यह एक चीज का प्रबंधन करना होगा यदि वह हमेशा के लिए रहना चाहता है।”



Source link

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Sports

IND vs NZ 2nd T20I: क्या अर्शदीप होंगे बाहर, पृथ्वी को मिलेगा मौका… दूसरे टी20 में बदलाव के साथ उतरेगी टीम इंडिया!

Published

on

By


लखनऊ: भारत और न्यूजीलैंड (IND vs NZ) के बीच टी20 सीरीज का दूसरा मुकाबला आज खेला जाएगा। यह मैच लखनऊ के भारत रत्न श्री अटल बिहारी वाजपेयी एकाना क्रिकेट स्टेडियम में खेला जाएगा। न्यूजीलैंड ने पहले मैच को 21 रनों से अपने नाम किया था। इस मैच को जीतकर टीम सीरीज को अपने नाम करना चाहेगी। पहले मैच में भारतीय बल्लेबाजी के साथ ही गेंदबाजी भी पूरी तरह फेल रही थी।


पृथ्वी को मिल सकता है मौका

भारतीय टीम प्लेइंग इलेवन में ईशान किशन की जगह पृथ्वी साव को मौका दे सकती है। पिछले 12 टी20 मुकाबले में भारत के लिए ईशान ने 15 की औसत और 116 की स्ट्राइक रेट से 180 रन बनाए थे। पिछली तीन पारी में तो उनका स्कोर 2, 1 और 4 रहा है। न्यूजीलैंड के खिलाफ वनडे सीरीज में भी उनका बल्ला नहीं चला। ईशान की जगह टीम में पृथ्वी साव को शामिल किया जा सकता है। पृथ्वी और गिल पारी की शुरुआत कर सकते हैं।

राहुल त्रिपाठी को भी टीम से बाहर होने पड़ सकता है। उनकी जगह विकेटकीपर बल्लेबाज जितेश शर्मा डेब्यू कर सकते हैं। वह टॉप ऑर्डर में खेलने के साथ ही फिनिशर की भूमिका भी निभा सकते हैं। चौथे नंबर पर सूर्यकुमार यादव और 5वें पर हार्दिक पंड्या का खेलना तय है। वहीं ऑलराउंडर के रूप में सुंदर ने पहले मैच में कमाल किया था। उन्होंने अक्षर पटेल की कमी महसूस नहीं होने दी।

गेंदबाजी में भी होगा बदलाव

भारतीय टीम गेंदबाजी में भी बदलाव कर सकती है। उमरान मलिक ने पहले मैच में सिर्फ एक ओवर डाले थे। उनकी जगह स्पिनर युजवेंद्र चहल टीम में आ सकते हैं। जिससे फैंस को एक बार फिर टी20 में चहल और कुलदीप को जोड़ी मैदान पर दिख सकती है। हालांकि अर्शदीप सिंह को टीम इस मैच में भी मौका दे सकती है। अर्शदीप ने पहले मुकाबले के आखिरी ओवर में 27 रन खर्च किये थे।

भारत की संभावित प्लेइंग इलेवन: पृथ्वी साव, शुभमन गिल, सूर्यकुमार यादव, जितेश शर्मा (विकेटकीपर), हार्दिक पंड्या (कप्तान), दीपक हुड्डा, वॉशिंगटन सुंदर, कुलदीप यादव, युजवेंद्र चहल, शिवम मावी, अर्शदीप सिंह।

Ind vs Nz 2nd T20I: भारत के लिए करो या मरो का मैच, न्यूजीलैंड के खिलाफ वापसी के लिए क्या करेंगे हार्दिक पंड्या?IND vs NZ: तीन ओवर में न्यूजीलैंड ने निकाली टीम इंडिया के टॉप ऑर्डर की हवा, नहीं चला लोकल बॉय का जादूIND vs NZ: 2 ओवरों में ही हार्दिक और अर्शदीप की ऐसी जमकर धुनाई, गेंद का बना भरता!



Source link

Continue Reading

Sports

मिताली के बाद झूलन गोस्वामी को WPL में मिला ऑफर, इस टीम की बॉलिंग कोच बन सकती हैं

Published

on

By



टीम इंडिया की पूर्व कप्तान मिताली राज को गुजरात जायंट्स की मेंटॉर चुना गया है। अब उनकी साथी खिलाड़ी और पेसर झूलन गोस्वामी को भी WPL से ऑफर मिला है और वे दिल्ली की बॉलिंग कोच बन सकती हैं। 



Source link

Continue Reading

Sports

आर अश्विन ने ICC इवेंट में टीम इंडिया के फेल होने पर की बात, बोले- हर कोई धोनी नहीं हो सकता

Published

on

By


ऐप पर पढ़ें

अनुभवी ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन ने ICC इवेंट जीतने में असमर्थता को लेकर टीम इंडिया की लगातार आलोचना पर सवाल उठाया है। उन्होंने कहा कि सचिन तेंदुलकर जैसे दिग्गज को भी एक विश्व कप जीतने के लिए छह विश्व कप खेलने की जरूरत पड़ी थी। उन्होंने ये भी कहा कि लोग भूल जाते हैं कि विराट कोहली और रोहित शर्मा ने भी आईसीसी इवेंट जीते हैं।

भारत ने आखिरी बार घर में 2011 में विश्व कप जीता था। ICC इवेंट में उनकी पिछली जीत 2013 में चैंपियंस ट्रॉफी में आई थी। दोनों जीत एमएस धोनी के नेतृत्व में आईं। टीम इंडिया पिछले साल ऑस्ट्रेलिया में टी20 विश्व कप के सेमीफाइनल में पहुंची थी, लेकिन एडिलेड में नॉकआउट मुकाबले में इंग्लैंड से उसे दस विकेट से हार का सामना करना पड़ा था।

आर अश्विन ने आईसीसी इवेंट्स में टीम इंडिया के असफल होने पर अपने यूट्यूब चैनल पर कहा, “यहां तक कि सचिन तेंदुलकर ने भी अपने छठे प्रयास में विश्व कप जीता था। भारतीय क्रिकेट के एक दिग्गज के लिए यही स्थिति थी। सिर्फ इसलिए कि एमएस धोनी के रूप में एक और दिग्गज आया और कार्यभार संभालते ही उन्होंने विश्व कप जीत लिया, इसका मतलब यह नहीं है कि यह सभी के लिए होगा, है ना?” 

अब नहीं चलेगा हार का बहाना, सीरीज में करनी होगी वापसी

उन्होंने आगे कहा, “विराट कोहली ने 2011 (विश्व कप) में आईसीसी टूर्नामेंट जीता, और 2013 में जब हमने चैंपियंस ट्रॉफी जीती। रोहित शर्मा ने भी चैंपियंस ट्रॉफी जीती थी। इसलिए हम उन्हें कुछ जगह दे सकते हैं। वे द्विपक्षीय सीरीज, आईपीएल और कई अन्य मैच खेल रहे हैं, लेकिन जब आईसीसी टूर्नामेंट की बात आती है, तो आपको अपना रास्ता तय करने के लिए उन महत्वपूर्ण पलों की जरूरत होती है।” रोहित 2007 टी20 वर्ल्ड कप का भी हिस्सा थे। 



Source link

Continue Reading