Connect with us

TRENDING

‘शिवसेना ने हमें भरोसा दिया है कि…’, केंद्र के खिलाफ केजरीवाल को मिला उद्धव का साथ

Published

on


Image Source : INDIA TV
मुंबई में उद्धव ठाकरे के आवास पर अरविंद केजरीवाल एवं अन्य AAP नेता।

मुंबई: दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने बुधवार को कहा कि शिवसेना (यूबीटी) के नेता उद्धव ठाकरे ने राजधानी में सेवाओं के नियंत्रण से जुड़े केंद्र के अध्यादेश के खिलाफ उनका साथ देने का भरोसा दिया है। आम आदमी पार्टी के नेता केजरीवाल ने महाराष्ट्र से पूर्व मुख्यमंत्री से उनके आवास पर मुलाकात के बाद एक प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए कहा कि उद्धव ठाकरे ने हमें अपने परिवार का सदस्य बना लिया है, और हम जीवन भर दोस्ती का ये रिस्ता निभाएंगे। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार ने हमसे हमारी सारी शक्तियां छीन ली हैं।

‘शिवसेना हमारा समर्थन करेगी’

केजरीवाल ने कहा, ‘जनतंत्र में जनता की चलनी चाहिए या गवर्नर की? मतलब ये कह रहे हैं कि हम कोर्ट की बात नहीं मानते हैं। कोर्ट ने जो फैसला दिया है वह लोकतंत्र के हित में है, लेकिन सरकार इसके खिलाफ अध्यादेश लेकर आई है। इनके लोग पूर्व जजों को गालियां देते हैं, ऐसे कैसे देश चलेगा। सबसे बड़ी पीड़ित शिवसेना है जिसकी चुनी हुई सरकार गिरा दी गई। इन्होंने दिल्ली में ऑपरेशन लोटस किया लेकिन हमारे विधायक नहीं टूटे। बहुत अहंकार हो गया है इनको। शिवसेना ने हमें भरोसा दिलाया है कि जब यह बिल आएगा तब वह हमारा समर्थन करेगी।’

संजय सिंह और राघव चड्ढा भी थे साथ
वहीं, उद्धव ठाकरे ने इस मौके पर कहा कि हम उन लोगों को हराने के लिए एक साथ आए हैं, जो लोकतंत्र के खिलाफ हैं। बता दें कि उद्धव से मुलाकात के दौरान पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान, AAP के राज्यसभा सदस्य संजय सिंह और राघव चड्ढा तथा दिल्ली सरकार में मंत्री आतिशी भी केजरीवाल के साथ थीं। राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में सेवाओं के नियंत्रण से जुड़े केंद्र के अध्यादेश के खिलाफ विपक्षी दलों का समर्थन जुटाने के लिए देशभर की यात्रा के तहत केजरीवाल और मान ने मंगलवार को कोलकाता में पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से मुलाकात की थी।

क्या है केंद्र सरकार के अध्यादेश में?
केंद्र सरकार भारतीय प्रशासनिक सेवा (आईएएस) और दानिक्स कैडर के अधिकारियों के तबादले और उनके खिलाफ प्रशासनिक कार्यवाही के लिए राष्ट्रीय राजधानी लोक सेवा प्राधिकरण गठित करने के वास्ते 19 मई को एक अध्यादेश लेकर आई थी। इससे एक हफ्ते पहले ही उच्चतम न्यायालय ने पुलिस, लोक सेवा और भूमि से संबंधित विषयों को छोड़कर बाकी सभी मामलों में सेवाओं का नियंत्रण दिल्ली की चुनी हुई सरकार को सौंप दिया था। किसी अध्यादेश को छह महीने के भीतर संसद की मंजूरी मिलना आवश्यक होता है। माना जा रहा है कि केंद्र सरकार संसद के मानसून सत्र में इस अध्यादेश से संबंधित विधेयक पेश कर सकती है।

Latest India News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। Politics News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन





Source link

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

TRENDING

Panda Pizza Parlor: कस्टमर को तय समय में डिलीवर करें पिज्जा, जानें कैसे खेलें और गेम से जुड़ी सभी जानकारी

Published

on

By


Panda Pizza Parlor

नई दिल्ली:

कई लोगों को ऑनलाइन गेम्स खेलना पंसद होता है और ऐसे गेम्स के फैन्स के लिए NDTV Games एकदम सही जगह है. इस साइट पर आकर आप कार रेसिंग से लेकर स्टैक तक के कई गेम्स खेल सकते हैं. इस साइट पर मौजूद पांडा पिज़्ज़ा पार्लर एक ऐसा ही मजेदार गेम हैं, जिसमें आपको कस्टमर्स को पिज्जा देने का मौका मिलेगा. इस गेम का कंट्रोल और गेमप्ले काफी आसान है, लेकिन टाइमिंग इस गेम को काफी मजेदार बनाती है, क्योंकि आपको एक समय सीमा के अंदर ही कस्टमर को आपको पिज्जा देना होगा.

यह भी पढ़ें

पांडा पिज़्ज़ा पार्लर

पिज्जा लवर्स के लिए, हमारे पास ‘पांडा पिज्जा पार्लर’ गेम है. अब अपनी पसंद का पिज्जा बनाएं. एक प्यारा पांडा न सिर्फ आपके लिए पिज्जा बनाएगा, बल्कि कस्‍टमर को सर्व भी करेगा. आपको इस गेम में 35 स्‍टेज मिलेंगे, जो निश्चित रूप से आपको बिजी रखेंगे और नेक्‍स्‍ट ऑर्डर के लिए उत्साहित करेंगे.

कैसे खेलें:

गेम शुरू करने के लिए सबसे पहले स्क्रीन पर टैप करें. अगर डेस्कटॉप/लैपटॉप पर खेल रहे हैं, तो आपको खाना बनाने के स्टेशन के चारों ओर जाने के लिए माउस के साथ लेफ्ट/राइट क्लिक करना होगा, सही इंग्रेडिएंट्स चुनें, किचन टूल्‍स और इंस्‍ट्रूमेंट का उपयोग करें, कस्‍टमर के जाने से पहले समय पर ऑर्डर डिलीवर करें.

कंट्रोल

यदि आप मोबाइल फोन पर खेल रहे हैं, तो सेम स्‍टेप के लिए स्क्रीन पर लेफ्ट/राइट स्क्रॉल करें. अगर आप डेस्कटॉप या लैपटॉप पर खेल रहे हैं तो आपको माउस के क्लिक का इस्तेमाल करना है.



Source link

Continue Reading

TRENDING

लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला की संवेदनशीलता, घायल युवक को अस्पताल पहुंचाया

Published

on

By


लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला (फाइल फोटो).

नई दिल्ली :

लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला की संवेदनशीलता तब देखने को मिली जब आज उन्होंने सड़क पर घायल पड़े एक युवक को अस्पताल पहुंचाया. उन्होंने सड़क पर हादसे में घायल युवक को देखा तो अपने साथ ड्यूटी पर तैनात डॉक्टर के साथ उसे अस्पताल पहुंचाया.

यह भी पढ़ें

लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला इन दिनों अपने संसदीय क्षेत्र कोटा के दौरे पर हैं. स्पीकर बिरला देर रात में थेकड़ा क्षेत्र में कार्यक्रम से भाग लौट रहे थे. रास्ते में मोटरसाइकिल फिसलने से बोरखेड़ा निवासी शुभम राजपुरोहित घायल हो गया था. उस पर बिरला की नजर पड़ी तो उन्होंने तत्काल कारवां रुकवाकर घायल शुभम को संभाला. 

लोकसभा अध्यक्ष ने अपनी एंबुलेंस से शुभम को तत्काल अस्पताल पहुंचाने की व्यवस्था की. उन्होंने ड्यूटी में लगे डॉक्टर से कहा कि वे तुरंत घायल युवक का इलाज करें. उन्होंने डॉक्टर को भी घायल युवक के साथ अस्पताल भेज दिया.



Source link

Continue Reading

TRENDING

कांग्रेस पार्टी में क्यों शामिल हुए शशि थरूर, बीजेपी कैसी राजनीति करती है? यहां जानें

Published

on

By


Image Source : FILE
शशि थरूर

नई दिल्ली: कांग्रेस सांसद शशि थरूर ने इंडिया टीवी के कार्यक्रम ‘आप की अदालत’ में इंडिया टीवी के चेयरमैन एवं एडिटर-इन-चीफ रजत शर्मा के सवालों के खुलकर जवाब दिए। उन्होंने बताया कि बीजेपी किस तरह की राजनीति करती है और उन्होंने कांग्रेस क्यों ज्वाइन की! शशि थरूर ने कहा, ‘मैंने अपने कनविक्शन के आधार पर एक पार्टी को चुन लिया। मेरी पहले की किताबों को देखिए तो उसमें मैंने सभी (पार्टियों) की आलोचना की है, कांग्रेस की भी। लेकिन मनमोहन सिंह और नरसिम्हा राव कांग्रेस में बदलाव लेकर आए, उदारीकरण लेकर आए। वहीं बीजेपी देश में हिंदुत्व के नाम पर बांटने लगी तो मुझे लगा कि हमारे देश की एकता के लिए कांग्रेस की राजनीति अच्छी है जो सबको एक साथ, एक ही नजर से देखती है। इसलिए मैं कांग्रेस में आया।’

अध्यक्ष पद के चुनाव लड़ने को लेकर थरूर ने कही ये बात 

आप की अदालत कार्यक्रम में रजत शर्मा ने सवाल किया कि आपने राहुल गांधी और सोनिया गांधी की मर्जी के बगैर कांग्रेस अध्यक्ष पद का चुनाव लड़ा? तो थरूर ने जवाब में कहा कि हां मैंने चुनाव लड़ा क्योंकि मैं कुछ बदलाव लाना चाहता था। मैं उनकी मर्जी के खिलाफ चुनाव लड़ा और मैं उनकी मर्जी का उम्मीदवार नहीं था। चुनाव लड़ने से पहले मैंने राहुल गांधी, प्रियंका गांधी और सोनिया गांधी से मिला था। चुनाव लड़ने पर मैंने कहा था कि मैं आप लोगों के खिलाफ नहीं हूं। तीनों ने मुझे प्रोत्साहित करके कहा कि आप चुनाव लड़िए जोकि पार्टी के लिए अच्छा है। आधिकारिक रूप से कैंडिडेट था लेकिन एक बार जब मैंने कदम बढ़ा लिया तो उसे पूरा किया। सोनिया जी ने मुझसे कहा कि आपके चुनाव लड़ने से पार्टी को मजबूती मिलेगी।

थरूर ने राजनीति में मिसफिट होने सवाल के जवाब में कहा कि राजनीति में आजकल ऐसे लोग एक्टिव हो गए हैं जिनका बैकग्राउंड अलग है। उन्होंने कहा कि आज कई लोग हैं जो राजनीति में पैसा बनाने आते हैं। इस तरह की राजनीति में मुझे कोई दिलचस्पी नहीं है। राजनीति में तो मुझे मेरे ही पैसे खर्च करने पड़ते हैं।

ये भी पढ़ें: 

जब कॉलेज में ‘लड़की’ वाले केस में ‘फंस’ गए थे शशि थरूर, ‘आप की अदालत’ में बताया तो लगे ठहाके; VIDEO

Aap ki Adalat: जब शशि थरूर ने लोन लेकर खरीदा था प्लेन का टिकट, सिर्फ ’60 रुपये’ लेकर गए थे विदेश

Latest India News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। National News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन





Source link

Continue Reading