Connect with us

Sports

वाइजैग में रोहित शर्मा के नाम दर्ज हुआ अनचाहा रिकॉर्ड, एमएस धोनी को भी छोड़ दिया पीछे

Published

on


Image Source : AP
रोहित शर्मा

भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच विशाखापट्टनम में वनडे सीरीज का दूसरा मुकाबला खेला गया। इस मुकाबले में टीम इंडिया को 10 विकेट से शर्मनाक हार झेलनी पड़ी। वनडे क्रिकेट के इतिहास में टीम इंडिया की यह बची हुई गेंदों के लिहाज से सबसे बुरी हार रही। भारतीय टीम इस मैच में 26 ओवर ही खेल पाई और महज 117 रनों पर सिमट गई। जवाब में ऑस्ट्रेलिया ने मात्र 11 ओवर में ही बिना कोई विकेट खोए लक्ष्य हासिल किया और मुकाबला जीत लिया। इस मुकाबले में भारतीय कप्तान रोहित शर्मा के नाम एक अनचाहा रिकॉर्ड दर्ज हो गया है।

आपको बता दें कि साल 2021 के अंत में रोहित शर्मा को टीम इंडिया का नियमित कप्तान घोषित किया गया था। वह कुल 25 वनडे मैचों में टीम इंडिया की कप्तानी कर चुके हैं। हालांकि, उनकी कप्तानी में टीम इंडिया को 19 जीत मिली हैं और सिर्फ 6 बार ही हार का सामना करना पड़ा है। लेकिन वाइजैग में कुछ ऐसा हुआ जिससे उनके नाम एक ऐसा रिकॉर्ड जुड़ा जो वो शायद जानकर खुश नहीं होंगे। खास बात यह भी है कि इस अनचाहे रिकॉर्ड के मामले में उन्होंने टीम इंडिया के सबसे सफल कप्तानों में से एक एमएस धोनी को भी पीछे छोड़ दिया है। 

क्या है वो अनचाहा रिकॉर्ड?

दरअसल रोहित शर्मा की कप्तानी में ऐसा तीसरी बार हुआ है कि भारतीय टीम वनडे मैच में 150 रनों के अंदर सिमट गई हो। ऐसा सिर्फ उनके 25वें मैच में ही हो गया है। जबकि एमएस धोनी की कप्तानी में टीम इंडिया ने 200 वनडे मुकाबले खेले जिसमें से सिर्फ दो बार ही ऐसा हुआ कि टीम 150 के अंदर ऑलआउट हुई हो। इस मामले में विराट कोहली का शानदार रिकॉर्ड है। उनकी कप्तानी में भारत ने कुल 95 वनडे मैच खेले और एक बार भी ऐसा नहीं हुआ कि टीम 150 के अंदर ऑलआउट हुई हो। जबकि कोई एक नहीं इन तीनों की गिनती टीम इंडिया के सफल कप्तानों में होती है। एमएस धोनी तो वो कप्तान रहे हैं जिनकी कप्तानी में टीम इंडिया 2011 में वनडे की वर्ल्ड चैंपियन भी बनी थी।

विराट कोहली और एमएस धोनी

Image Source : GETTY IMAGE

विराट कोहली और एमएस धोनी

लिमिटेड ओवर में 10 विकेट से हारने वाले भारतीय कप्तान

वहीं लिमिटेड ओवर में भारत की 10 विकेट से हार की बात करें कप्तान रोहित शर्मा और विराट कोहली की कप्तानी में दो-दो बार ऐसा हुआ है। इसके अलावा राहुल द्रविड़, सौरव गांगुली, सचिन तेंदुलकर और सुनील गावस्कर की कप्तानी में 1-1 बार ऐसा हुआ है। वाइजैग में टीम इंडिया का बेहद खराब प्रदर्शन देखने को मिला। भारतीय बल्लेबाजी यहां पूरी तरह से फ्लॉप नजर आई। मुंबई वनडे में भी टॉप ऑर्डर ढह गया था। वहां लक्ष्य छोटा था तो केएल राहुल और रवींद्र जडेजा ने संभाल लिया था। लेकिन वाइजैग में पहले बल्लेबाजी करते हुए पूरी टीम 117 रनों पर ही सिमट गई। अब सीरीज 1-1 की बराबरी पर पहुंच गई है। अब सीरीज डिसाइडर यानी निर्णायक मुकाबला 22 मार्च को चेन्नई में खेला जाएगा।

यह भी पढ़ें:-

Latest Cricket News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। Cricket News in Hindi के लिए क्लिक करें खेल सेक्‍शन





Source link

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Sports

Sunil Gavaskar expects big decisions to be taken in awake of World Cup 2023 defeat – वर्ल्ड कप हार से निराश सुनील गावस्कर बोले- अगले कुछ हफ्तों में सिलेक्टर्स को बड़े फैसले लेने होंगे, क्रिकेट न्यूज

Published

on

By


ऐप पर पढ़ें

वर्ल्ड कप 2023 में दमदार प्रदर्शन करने के बावजूद भारतीय टीम ट्रॉफी जीतने से दूर रह गई। फाइनल में भारत को ऑस्ट्रेलिया के हाथों हार का सामना करना पड़ा। भारत ने सेमीफाइनल तक लगातार 10 मैच जीते थे, लेकिन फाइनल में ऑस्ट्रेलिया ने 6 विकेट से जीत हासिल की और छठी ट्रॉफी अपने नाम की। भले ही टीम ने अच्छा खेला, लेकिन पूर्व कप्तान सुनील गावस्कर का मानना है कि भारत को उन गलतियों से सीखना होगा, जो 19 नवंबर को वर्ल्ड कप फाइनल में की थीं। उन्होंने ये भी कहा है कि ट्रॉफी ना जीत पाना निराशा भरा है। 

सुनील गावस्कर ने मिड-डे को लिखे अपने कॉलम में कहा, “अगर भारत आगे बढ़ना चाहता है और ट्रॉफी जीतना चाहता है तो उसे फाइनल में की गई कुछ गलतियों को स्वीकार करना होगा। एकजुटता दिखाने की कोशिश करना एक बात है, लेकिन अगर गलतियां स्वीकार नहीं की जाएंगी तो प्रगति धीमी हो जाएगी। अगले कुछ हफ्तों में अधिकारियों और चयन समिति को बड़े फैसले लेने होंगे। 2007 के बाद भारत का टी20 विश्व कप ना जीत पाना एक बड़ी निराशा है, क्योंकि खिलाड़ियों और युवाओं को आईपीएल में खेलने का फायदा मिल रहा है।” 

गुजरात टाइटन्स का कप्तान बनते ही क्या शुभमन गिल ने साधा हार्दिक पांड्या पर निशाना? वीडियो हुआ वायरल

भारतीय टीम ने वर्ल्ड कप 2011 में जीता था, चैंपियंस ट्रॉफी 2013 में जीती थी और टी20 वर्ल्ड कप 2007 में जीता था। इसके बाद से भारत की आईसीसी ट्रॉफी की झोली खाली है। ऐसे में टीम मैनेजमेंट और अधिकारियों को ये सोचना है कि आखिर कमी कहां रह रही है। गावस्कर ने इस बारे में लिखा, “इसमें कोई शक नहीं कि भारत का विश्व कप नहीं जीतना निराशाजनक था, लेकिन अब यह खत्म हो गया है और खेल आगे बढ़ेगा। पिछले चार विश्व कप में भारतीय टीम एक जीत के साथ दो बार फाइनल में पहुंची और बाकी दो बार सेमीफाइनल में पहुंची। जब आप इसकी तुलना अन्य टीमों से करते हैं तो यह एक शानदार प्रदर्शन है और केवल ऑस्ट्रेलिया का ही प्रदर्शन दो ट्रॉफी जीतकर बेहतर रहा है।” 



Source link

Continue Reading

Sports

Shan Masood: PCB ने किया बड़ा ऐलान, टेस्ट कप्तान शान मसूद के लिए लिया ये फैसला

Published

on

By


Image Source : TWITTER
Shan Masood

Pakistan Test Captain: टी20 वर्ल्ड कप 2023 में पाकिस्तान ने बहुत ही खराब प्रदर्शन किया और टीम सेमीफाइनल में नहीं पहुंच पाई। वर्ल्ड कप 2023 में पाकिस्तान ने 9 मुकाबले खेले और टीम सिर्फ चार मैचों में ही जीत हासिल कर पाई। वहीं पांच मैचों में टीम को हार का सामना करना पड़ा। इसके बाद पाकिस्तान के कप्तान बाबर आजम ने इस्तीफा दे दिया। उनकी जगह टेस्ट में शान मसूद और टी20 में शाहीन अफरीदी को कप्तान बनाया गया। अब PCB ने शान मसूद को लेकर बड़ा फैसला लिया है। 

PCB ने लिया ये फैसला 

टेस्ट कप्तान बनने से पहले शान मसूद पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड के सेंट्रल कॉन्ट्रेक्ट में डी ग्रेड में थे। अब पीसीबी ने बड़ा फैसला लेते हुए उन्हें डी से बी ग्रेड में कर दिया है। यह फैसला बोर्ड की नीति के अनुरूप लिया गया था कि यदि ए या बी ग्रेड से नीचे के सेंट्रल कॉन्ट्रेक्ट खिलाड़ी को कप्तान नियुक्त किया जाना है तो उनके ग्रेड को अपग्रेड करके बी कर दिया जाता है और ये उनके कार्यकाल तक लागू रहता है। 

पाकिस्तान के लिए खेले तीनों फॉर्मेट 

शान मसूद ने पाकिस्तान के लिए तीनों फॉर्मेट में क्रिकेट खेला है। उन्होंने पाकिस्तान के लिए उन्होंने 30 टेस्ट मैचों में 28.5 की औसत से 1597 रन बनाए हैं, जिसमें उनके नाम चार शतक भी हैं। इसके अलावा उन्होंने 9 वनडे मैचों में 163 रन और 19 टी20 मैचों में 395 रन बनाए हैं। 

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेलेगी तीन टेस्ट सीरीज 

शान मसूद पहली बार ऑस्ट्रेलिया दौरे पर पाकिस्तान के लिए तीन टेस्ट मैचों में कप्तानी करेंगे। जुलाई में श्रीलंका को सीरीज में 2-0 से हराकर पाकिस्तान वर्तमान में विश्व टेस्ट चैंपियनशिप अंक तालिका में नंबर 1 पर है। पाकिस्तानी टीम ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पहला टेस्ट 14 से 18 दिसंबर तक पर्थ में शुरू होगा। उसके बाद 26 दिसंबर से मेलबर्न में बॉक्सिंग डे टेस्ट होगा और सीरीज 3 से 7 जनवरी 2024 तक सिडनी में तीसरे टेस्ट के साथ समाप्त होगी।

यह भी पढ़ें: 

रायपुर के मैदान पर पहली बार होगा T20 इंटरनेशनल मैच, जानिए कैसी होगी पिच रिपोर्ट

संजू सैमसन को मिला था CSK का कप्तान बनने का ऑफर? रविचंद्रन अश्विन ने बता दी सच्चाई

Latest Cricket News





Source link

Continue Reading

Sports

Did Shubman Gill target Hardik Pandya after becoming the captain of Gujarat Titans Video went viral – गुजरात टाइटन्स का कप्तान बनते ही क्या शुभमन गिल ने साधा हार्दिक पांड्या पर निशाना? वीडियो हुआ वायरल, क्रिकेट न्यूज

Published

on

By


ऐप पर पढ़ें

इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) 2024 के मिनी ऑक्शन से पहले ही काफी ड्रामा हो चुका है और इसमें सबसे बड़ा ड्रामा हुआ हार्दिक पांड्या को लेकर। गुजरात टाइटन्स की दो सीजन में कप्तानी कर चुके हार्दिक पांड्या की मुंबई इंडियंस में वापसी हो चुकी है। फ्रेंचाइजी टीमों को जिस दिन रिटेन्ड खिलाड़ियों की लिस्ट सौंपनी थी, उस दिन पहले हार्दिक पांड्या गुजरात टाइटन्स की रिटेन्ड खिलाड़ियों की लिस्ट में थे और शाम तक उन्हें मुंबई इंडियंस को ट्रेड कर दिया गया। हार्दिक को लेकर गुजरात टाइटन्स और हार्दिक पांड्या के बीच फुल कैश डील हुई है। खैर इन सबके बाद गुजरात टाइटन्स ने शुभमन गिल को अपना नया कप्तान नियुक्त किया। कप्तान बनने के दो दिन बाद शुभमन का पहला मैसेज आया है। गुजरात टाइटन्स के सोशल मीडिया अकाउंट से शुभमन का मैसेज शेयर किया गया है और यह वीडियो देखते ही फैन्स इस तरह के कमेंट्स करने लगे कि उन्होंने इस वीडियो में हार्दिक पर निशाना साधा है।

शुभमन ने इस वीडियो में कहा, ‘अभी यह अहसास पूरी तरह से समा नहीं पाया है मुझे लगता है जब तक मैं कप्तान के तौर पर पहला मैच खेलने नहीं उतरूंगा तब तक यह अहसास ऐसे ही रहेगा। यह बहुत अच्छा अहसास है, मैं जब सात-आठ साल का था, तब आईपीएल शुरू हुआ था। मुझे लगता है कि जो भी बच्चा क्रिकेटर बनने का सोचता है या आईपीएल खेलने का सोचता है, उसका सपना होता है कि वह अपनी टीम की कप्तानी करे। जिस तरह से यह टीम जुड़कर चलती है, वह देखकर काफी अच्छा लगता है।’

इसे भी पढ़ेंः बुमराह की नजर में हार्दिक-MI डील सरासर गलत, पूर्व क्रिकेटर का दावा

इसे भी पढ़ेंः WC फाइनल को लेकर पीटरसन कह गए बड़ी बात, भारत का दुर्भाग्य था कि….

गिल ने आगे कहा, ‘जैसा कि हम सभी जानते हैं कि कप्तानी के साथ काफी सारी चीजें आती हैं, कमिटमेंट उनमें से एक चीज है, अनुशासन एक चीज है, कड़ी मेहनत एक चीज है और लॉयलटी (निष्ठा) उसमें से एक चीज है। मुझे लगता है कि मैं महान लीडर्स के अंडर खेल चुका हूं, तो मैंने उनसे काफी कुछ सीखा है। मुझे लगता है कि इस अनुभव का मुझे फायदा मिलेगा। हमारी टीम में महान लीडर्स हैं, जिसमें केन विलियमसन, राशिद खान, मोहम्मद शमी शामिल हैं। डेविड मिलर भी है और ऋद्धिमान साहा भी टीम का हिस्सा हैं। इस शुभ शुरुआत के लिए मुझे आप सबकी दुआएं और साथ चाहिए।’



Source link

Continue Reading