Connect with us

TRENDING

मस्कट में रनवे पर धुआं-धुआं हो गया एयर इंडिया का विमान, इमरजेंसी में निकाले गए यात्री

Published

on

TRENDING

आप भी हैं ट्रेडिंग के शौकीन तो ठहर जाएं! RBI ने टाइमिंग में किया है बड़ा बदलाव

Published

on

By


Photo:INDIA TV आप भी हैं ट्रेडिंग के शौकीन तो ठहर जाएं और ये जान लें

Trading Time: भारतीय रिजर्व बैंक ने मनी मार्केट और रुपया ब्याज दर डेरिवेटिव के कुछ सेगमेंट के लिए ट्रेडिंग की टाइमिंग में बदलाव किया है। अब से कोरोना महामारी से पहले की ट्रेडिंग घंटे के हिसाब से कारोबार हो सकेगा। 

अब दो घंटे अधिक मिलेंगे ट्रेडिंग के लिए समय

बता दें, महामारी से पहले ट्रेडिंग के लिए टाइमिंग सुबह 9 बजे से शाम 5 बजे तक हुआ करती थी, जिसे बाद में बदल कर 9 बजे से 3 बजे तक कर दिया गया था। आरबीआई ने कहा कि इंटरबैंक कॉल मनी मार्केट, कमर्शियल पेपर मार्केट, डिपॉजिट सर्टिफिकेट मार्केट, कॉरपोरेट बॉन्ड में रेपो और रुपये की ब्याज दर डेरिवेटिव के लिए आईएसटी को बहाल कर दिया गया है। आरबीआई की घोषणा 12 दिसंबर से प्रभावी हो जाएगी। सरकारी सिक्योरिटी में बाजार रेपो भी सुबह 9 बजे से दोपहर 2:30 बजे के बाद के COVID समय के साथ जारी रहेगा।

7 अप्रैल को हुआ था बदलाव

केंद्रीय बैंक ने कहा कि सरकारी बॉन्ड बाजार और मुद्रा बाजार विदेशी मुद्रा डेरिवेटिव सहित सुबह 9 बजे से दोपहर 3:30 बजे के बाद के समय के साथ जारी रहेगा। रिजर्व बैंक द्वारा विनियमित विभिन्न बाजारों के लिए व्यापारिक घंटों को 7 अप्रैल 2020 से संशोधित किया गया था, जो परिचालन अव्यवस्थाओं और COVID-19 द्वारा उत्पन्न स्वास्थ्य जोखिमों के उच्च स्तर को देखते हुए संशोधित किया गया था।

महामारी से संबंधित समस्याओं को कम करने के साथ 09 नवंबर 2020 से चरणबद्ध तरीके से बाजार के घंटों की बहाली शुरू की गई थी। उस समय सभी मार्केट सेगमेंट के लिए ट्रेड टाइमिंग को संशोधित कर सुबह 10 बजे से दोपहर 2 बजे तक कर दिया गया था।

Latest Business News





Source link

Continue Reading

TRENDING

भगवा आंधी में उड़े गुजरात कांग्रेस के कई दिग्गज, नंबर दो के लिए भी AAP से लड़ाई; मेवाणी डटे

Published

on

By


ऐप पर पढ़ें

Gujarat Chunav 2022 results: गुजरात विधानसभा चुनाव में चली भगवा आंधी के सामने कांग्रेस के कई दिग्गज टिक नहीं पाए। जारी मतगणना के रुझानों में सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) बड़ी ऐतिहासिक जीत हासिल करती दिख रही है। 1985 में कांग्रेस ने 149 सीटें जीतकर इतिहास रचा था। लेकिन अब भाजपा उस रिकॉर्ड को तोड़ते दिख रही है। कांग्रेस का प्रदर्शन 2017 के चुनावों से भी खराब दिख रहा है। यही नहीं, कांग्रेस के बड़े नेताओं को नंबर दो के लिए भी आम आदमी पार्टी (AAP) से फाइट करनी पड़ रही है। Gujarat Election Result 2022 Live Updates

कांग्रेस के दिग्गज व गुजरात में विपक्ष के नेता सुखराम राठवा, पूर्व नेता प्रतिपक्ष परेश धनानी जैसे कांग्रेस के दिग्गज भाजपा के हाथों शिकस्त के लिए तैयार हैं। इनकी हार की एक वजह कांग्रेस और आम आदमी पार्टी (आप) के बीच वोटों के बंटवारे को भी बताया जा रहा है। इन सीटों पर ये नेता दूसरे स्थान के लिए आप से लड़ाई कड़ी फाइट कर रहे हैं। गुजरात प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष व पूर्व केंद्रीय मंत्री भरतसिंह सोलंकी के चचेरे भाई अमित चावड़ा के लिए लड़ाई करीब बनी हुई है। यहां तक कि जिग्नेश मेवाणी भी वडगाम सीट पर भाजपा उम्मीदवार मणिलाल वाघेला से काफी पीछे चल रहे हैं।

एसटी आरक्षित जेतपुर सीट पर बीजेपी के जयंती राठवा को 48,337 वोट मिले हैं, जबकि सुखराम को 17,263 वोट और आप की राधिका राठवा को उनसे ज्यादा 18,504 वोट मिले हैं। वहीं सौराष्ट्र की अमरेली सीट पर परेश धनानी ने 2002 की हिंदुत्व लहर के दौरान भी पहली बार जीत हासिल की थी, लेकिन इस बार कांग्रेस उम्मीदवार बीजेपी के कौशिक वेकार्या से हार रहे हैं और आप यहां तीसरे नंबर पर है। वेकार्या 68478 वोटों से आगे चल रहे हैं, जबकि आप के रवि धनानी को 21352 वोट मिले हैं और कांग्रेस के परेश धनानी को 34679 वोट मिले हैं। अमरेली सीट पर सभी उम्मीदवार पाटीदार हैं।

अंकलाव सीट पर कांग्रेस के अमित चावड़ा (73235 वोट) और बीजेपी के गुलाबसिंह पाढ़ियार (72836 वोट) के बीच मुकाबला कांटे का है और आप 1478 वोटों के साथ काफी पीछे है। इस सीट पर नोटा (2436) के वोट आप से अधिक थे। वडगाम एससी आरक्षित सीट पर मेवानी को वाघेला से कड़ी टक्कर मिल रही है। वाघेला ने 2012 में कांग्रेस उम्मीदवार के रूप में यह सीट जीती थी। लेकिन 2017 में यहां से मेवाणी ने निर्दलीय जीत हासिल की। वे कांग्रेस के समर्थन से निर्दलीय चुनाव लड़े थे। वाघेला फिर भाजपा में चले गए।



Source link

Continue Reading

TRENDING

हिमाचल प्रदेश इलेक्शन रिजल्ट्स 2022: 9 सीटों पर घमासान, ये सीटें तय करेंगी किसकी बनेगी सरकार, जानिए पूरी डिटेल

Published

on

By


Image Source : INDIA TV
हिमाचल प्रदेश इलेक्शन रिजल्ट्स 2022

हिमाचल प्रदेश की 9 सीटों पर इस वक्त कांटे की टक्कर चल रही है। ये सीटें हैं-बिलासपुर, भट्टियाट, धर्मपुर, इंदौरा, झंडूटा, रामपुर, शिल्लई, श्री रेमुकाजी और सुजानपुर।


 बिलासपुर में बीजेपी अपनी प्रतिद्वंद्वी कांगेस से सिर्फ 790 वोट से आगे है।वहीं भट्टियाट में बीजेपी कांग्रेस से सिर्फ 210 वोट से आगे चल रही है।  इसी तरह धर्मपुर में बीजेपी के रजत ठाकुर कांग्रेस से सिर्फ 800 वोट से आगे है। इंदौरा में कांग्रेस और बीजेपी से सिर्फ 580 वोटों का अंतर है। यहां भी कांग्रेस को बढ़त है।

 वहीं झंडूटा में बीजेपी कांग्रेस से सिर्फ 578 वोट से आगे है। यहां बीजेपी के बागी को 4,252 वोट मिले हैं। रामपुर में कांग्रेस बीजेपी से सिर्फ 64 वोटों के अंतर से आगे है। दोनों पार्टियों के बीच कांटे की टक्कर है। कांग्रेस को 17,629 और बीजेपी 17565 वोट अब तक मिले हैं।

 

शिल्लई में कांग्रेस बीजेपी से सिर्फ 349 मतों से बढ़त बनाए हुए है।   कांग्रेस को अब तक 30,295 और बीजेपी 29,946 वोट हासिल हुए हैं।

वहीं श्रीरेणुकाजी में कांग्रेस बीजेपी से सिर्फ 417 वोट से आगे है। यहां राष्ट्रीय देवभूमि पार्टी  तीसरे स्थान पर है। सुजानपुर में कांग्रेस बीजेपी से सिर्फ 634 मतों से आगे है। ये 9 सीटें हिमाचल विधानसभा चुनाव का अन्तिम परिणाम तय करेंगी।

बीजेपी को बागियों ने पहुंचाया नुकसान 

हिमाचल प्रदेश के उपचुनाव में जहां कांग्रेस को भारी बढ़त मिलती दिख रही है। वहीं बीजेपी को उसके बागिय़ों ने कम से कम 12 सीटों पर भारी नुकसान पहुंचाया है।

विधायक दलबदल न करें, इसलिए कांग्रेस महासचिव को हिमाचल भेजा

हिमाचल प्रदेश चुनाव की मतगणना के बीच एआईसीसी के महासचिव को हिमाचल प्रदेश भेजा गया है ताकि वहां जीते हुए विधायक दलबदल न कर सकें। इस वक्त हिमाचल प्रदेश में मतगणना चल रही है और कांटे की टक्कर जारी है। बीजेपी पर कांग्रेस को अच्छी बढ़त है। 

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। News News in Hindi के लिए क्लिक करें इलेक्‍शन सेक्‍शन





Source link

Continue Reading