Connect with us

TRENDING

पीएम मोदी आज ईटानगर में अरुणाचल के पहले ग्रीनफील्ड एयरपोर्ट का करेंगे उद्घाटन

Published

on


हवाई अड्डा सभी मौसमों में संचालन के लिए उपयुक्त है.

नई दिल्ली:

प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी आज ईटानगर के होलांगी में अरुणाचल प्रदेश के पहले ग्रीनफील्ड ‘डोनी पोलो हवाई अड्डे’ का उद्घाटन करेंगे. साल 2019 में, पीएम मोदी ने होलोंगी में ग्रीनफील्ड हवाई अड्डे के निर्माण की आधारशिला रखी और रेट्रोफिटेड तेज़ू हवाई अड्डे का उद्घाटन किया. एक आधिकारिक बयान के अनुसार, होलोंगी में टर्मिनल का निर्माण लगभग 955 करोड़ रुपये की लागत से 4100 वर्ग मीटर के क्षेत्र में किया गया है और इसकी अधिकतम क्षमता 200 यात्रियों प्रति घंटे की है.

यह भी पढ़ें

अरुणाचल प्रदेश का पहला ग्रीनफील्ड हवाई अड्डा 640 करोड़ रुपये से अधिक की लागत से बनाया गया है. इसे 690 एकड़ से अधिक क्षेत्र में विकसित किया गया है. 2,300 मीटर रनवे के साथ, ये हवाई अड्डा सभी मौसमों में संचालन के लिए उपयुक्त है. “डोनी पोलो हवाई अड्डा अरुणाचल प्रदेश के लिए तीसरा परिचालन हवाई अड्डा होगा, जो पूर्वोत्तर क्षेत्र में कुल हवाईअड्डे की संख्या को 16 तक ले जाएगा. से 1947 से 2014 तक, उत्तर-पूर्व में केवल नौ हवाई अड्डे बनाए गए थे. तब से आठ साल की छोटी अवधि में, मोदी सरकार ने उत्तर-पूर्व में सात हवाई अड्डे बनाए हैं. “

पांच पूर्वोत्तर राज्यों, मिजोरम, मेघालय, सिक्किम, अरुणाचल प्रदेश और नागालैंड के हवाई अड्डों ने 75 वर्षों में पहली बार उड़ानें भरी हैं. बयान में कहा गया है, “पूर्वोत्तर में विमानों की आवाजाही में भी 2014 के बाद से 113 प्रतिशत की वृद्धि देखी गई है, जो 2014 में 852 प्रति सप्ताह से बढ़कर 2022 में 1817 प्रति सप्ताह हो गई है.” हवाई अड्डे का नाम अरुणाचल प्रदेश की परंपराओं और समृद्ध सांस्कृतिक विरासत और सूर्य (‘डोनी’) और चंद्रमा (‘पोलो’) के प्रति सदियों पुरानी स्वदेशी श्रद्धा को दर्शाता है.

ये भी पढ़ें : केसीआर की बेटी ने BJP MP को कहा- “बीच चौराहे पर चप्पल से मारूंगी”

       

ये भी पढ़ें : श्रद्धा मर्डर केस की पूरी कहानी, जानिए अबतक क्या-क्या हुआ?

Featured Video Of The Day

गुंबद विवाद से बीजेपी में बढ़ी कलह, विधायक ने दी पार्टी छोड़ने की धमकी



Source link

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

TRENDING

“कहीं ऐसा न हो, राहुल गांधी को ‘कांग्रेस खोजो’ यात्रा करनी पड़े…”, गुजरात नतीजों पर शिवराज चौहान ने कसा तंज़

Published

on

By


शिवराज सिंह चौहान ने राहुल गांधी पर कसा तंज

गुजरात में बीजेपी की प्रचंड जीत को लेकर बीजेपी खेमे में काफी उत्साह है. इस जीत के साथ ही कांग्रेस की जीत के दावे भी धूल हो गए. इस पर जब मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की प्रतिक्रिया मांगी गई तो उन्होंने कहा कि राहुल जी भारत जोड़ो यात्रा कर रहे हैं ऐसा ना हो बाद में उन्हें कांग्रेस खोजो यात्रा करनी पड़े. गुजरात के नतीजों में 20 के नीचे समिट जाना अपने आप में कांग्रेस की स्थिति बताता है. अब वे सोचे या ना सोचें, लेकिन सच में यह भारतीय जनता पार्टी के लिए यह विजय अद्भुत और अभूतपूर्व है. 

यह भी पढ़ें

वहीं केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने कहा कि गुजरात में भाजपा की प्रचंड जीत गुजरात की जनता की भाजपा और पीएम मोदी के प्रति अटूट विश्वास और स्नेह की जीत है. गुजरात में भाजपा ने जो विकास की राजनीति की, जनता ने उस पर फिर एक बार मोहर लगाई है. इस विश्वास के लिए गुजरात की जनता का कोटि कोटि धन्यवाद. प्रधानमंत्री मोदी जी, भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा, गृह मंत्री अमित शाह, मुख्यमंत्री भुपेंद्रभाई पटेल, प्रदेश अध्यक्ष सीआर पाटिल समेत पार्टी के सभी कार्यकर्ताओं को हार्दिक बधाई.

केंद्रीय मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि गुजरात चुनावों में भाजपा की ऐतिहासिक विजय विकास, सुशासन और लोक कल्याण के प्रति पार्टी की प्रतिबद्धता की जीत है. इस विजय का सबसे बड़ा श्रेय पीएम मोदी  के नेतृत्व के प्रति जनविश्वास, उनकी लोकप्रियता और विश्वसनीयता को जाता है. उन्हें बधाई एवं जनता के प्रति आभार. वहीं सीआर पाटिल ने कहा कि यह केंद्र और गुजरात में भाजपा सरकार के सुशासन और विकास की जीत है.

बता दें कि गुजरात में तो बीजेपी की प्रचंड लहर दिखी लेकिन वह हिमाचल प्रदेश का किला नहीं बचा सकी. हिमाचल में कांग्रेस ने बहुमत का आंकड़ा पार कर लिया है. 

 

Featured Video Of The Day

कांग्रेस अपने विधायकों को हिमाचल से कर सकती है शिफ्ट : सूत्र



Source link

Continue Reading

TRENDING

आप भी हैं ट्रेडिंग के शौकीन तो ठहर जाएं! RBI ने टाइमिंग में किया है बड़ा बदलाव

Published

on

By


Photo:INDIA TV आप भी हैं ट्रेडिंग के शौकीन तो ठहर जाएं और ये जान लें

Trading Time: भारतीय रिजर्व बैंक ने मनी मार्केट और रुपया ब्याज दर डेरिवेटिव के कुछ सेगमेंट के लिए ट्रेडिंग की टाइमिंग में बदलाव किया है। अब से कोरोना महामारी से पहले की ट्रेडिंग घंटे के हिसाब से कारोबार हो सकेगा। 

अब दो घंटे अधिक मिलेंगे ट्रेडिंग के लिए समय

बता दें, महामारी से पहले ट्रेडिंग के लिए टाइमिंग सुबह 9 बजे से शाम 5 बजे तक हुआ करती थी, जिसे बाद में बदल कर 9 बजे से 3 बजे तक कर दिया गया था। आरबीआई ने कहा कि इंटरबैंक कॉल मनी मार्केट, कमर्शियल पेपर मार्केट, डिपॉजिट सर्टिफिकेट मार्केट, कॉरपोरेट बॉन्ड में रेपो और रुपये की ब्याज दर डेरिवेटिव के लिए आईएसटी को बहाल कर दिया गया है। आरबीआई की घोषणा 12 दिसंबर से प्रभावी हो जाएगी। सरकारी सिक्योरिटी में बाजार रेपो भी सुबह 9 बजे से दोपहर 2:30 बजे के बाद के COVID समय के साथ जारी रहेगा।

7 अप्रैल को हुआ था बदलाव

केंद्रीय बैंक ने कहा कि सरकारी बॉन्ड बाजार और मुद्रा बाजार विदेशी मुद्रा डेरिवेटिव सहित सुबह 9 बजे से दोपहर 3:30 बजे के बाद के समय के साथ जारी रहेगा। रिजर्व बैंक द्वारा विनियमित विभिन्न बाजारों के लिए व्यापारिक घंटों को 7 अप्रैल 2020 से संशोधित किया गया था, जो परिचालन अव्यवस्थाओं और COVID-19 द्वारा उत्पन्न स्वास्थ्य जोखिमों के उच्च स्तर को देखते हुए संशोधित किया गया था।

महामारी से संबंधित समस्याओं को कम करने के साथ 09 नवंबर 2020 से चरणबद्ध तरीके से बाजार के घंटों की बहाली शुरू की गई थी। उस समय सभी मार्केट सेगमेंट के लिए ट्रेड टाइमिंग को संशोधित कर सुबह 10 बजे से दोपहर 2 बजे तक कर दिया गया था।

Latest Business News





Source link

Continue Reading

TRENDING

भगवा आंधी में उड़े गुजरात कांग्रेस के कई दिग्गज, नंबर दो के लिए भी AAP से लड़ाई; मेवाणी डटे

Published

on

By


ऐप पर पढ़ें

Gujarat Chunav 2022 results: गुजरात विधानसभा चुनाव में चली भगवा आंधी के सामने कांग्रेस के कई दिग्गज टिक नहीं पाए। जारी मतगणना के रुझानों में सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) बड़ी ऐतिहासिक जीत हासिल करती दिख रही है। 1985 में कांग्रेस ने 149 सीटें जीतकर इतिहास रचा था। लेकिन अब भाजपा उस रिकॉर्ड को तोड़ते दिख रही है। कांग्रेस का प्रदर्शन 2017 के चुनावों से भी खराब दिख रहा है। यही नहीं, कांग्रेस के बड़े नेताओं को नंबर दो के लिए भी आम आदमी पार्टी (AAP) से फाइट करनी पड़ रही है। Gujarat Election Result 2022 Live Updates

कांग्रेस के दिग्गज व गुजरात में विपक्ष के नेता सुखराम राठवा, पूर्व नेता प्रतिपक्ष परेश धनानी जैसे कांग्रेस के दिग्गज भाजपा के हाथों शिकस्त के लिए तैयार हैं। इनकी हार की एक वजह कांग्रेस और आम आदमी पार्टी (आप) के बीच वोटों के बंटवारे को भी बताया जा रहा है। इन सीटों पर ये नेता दूसरे स्थान के लिए आप से लड़ाई कड़ी फाइट कर रहे हैं। गुजरात प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष व पूर्व केंद्रीय मंत्री भरतसिंह सोलंकी के चचेरे भाई अमित चावड़ा के लिए लड़ाई करीब बनी हुई है। यहां तक कि जिग्नेश मेवाणी भी वडगाम सीट पर भाजपा उम्मीदवार मणिलाल वाघेला से काफी पीछे चल रहे हैं।

एसटी आरक्षित जेतपुर सीट पर बीजेपी के जयंती राठवा को 48,337 वोट मिले हैं, जबकि सुखराम को 17,263 वोट और आप की राधिका राठवा को उनसे ज्यादा 18,504 वोट मिले हैं। वहीं सौराष्ट्र की अमरेली सीट पर परेश धनानी ने 2002 की हिंदुत्व लहर के दौरान भी पहली बार जीत हासिल की थी, लेकिन इस बार कांग्रेस उम्मीदवार बीजेपी के कौशिक वेकार्या से हार रहे हैं और आप यहां तीसरे नंबर पर है। वेकार्या 68478 वोटों से आगे चल रहे हैं, जबकि आप के रवि धनानी को 21352 वोट मिले हैं और कांग्रेस के परेश धनानी को 34679 वोट मिले हैं। अमरेली सीट पर सभी उम्मीदवार पाटीदार हैं।

अंकलाव सीट पर कांग्रेस के अमित चावड़ा (73235 वोट) और बीजेपी के गुलाबसिंह पाढ़ियार (72836 वोट) के बीच मुकाबला कांटे का है और आप 1478 वोटों के साथ काफी पीछे है। इस सीट पर नोटा (2436) के वोट आप से अधिक थे। वडगाम एससी आरक्षित सीट पर मेवानी को वाघेला से कड़ी टक्कर मिल रही है। वाघेला ने 2012 में कांग्रेस उम्मीदवार के रूप में यह सीट जीती थी। लेकिन 2017 में यहां से मेवाणी ने निर्दलीय जीत हासिल की। वे कांग्रेस के समर्थन से निर्दलीय चुनाव लड़े थे। वाघेला फिर भाजपा में चले गए।



Source link

Continue Reading