Connect with us

TRENDING

पहले बसों में विस्फोट, अब हथियारों का जखीरा; अमित शाह के दौरे से पहले कश्मीर में आतंकियों की बड़ी साजिश नाकाम

Published

on


केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के चार अक्टूबर को कश्मीर दौरे से ठीक पहले शुक्रवार को बांदोपार में हथियारों का जखीरा बरामद हुआ है। बरामद हथियारों में खतरनाक AK-47 राइफल के साथ-साथ भारी मात्रा में मैगजीन शामिल है। हथियारों का यह जखीरा उस समय बरामद हुआ जब कश्मीर के उधमपुर में बुधवार और गुरुवार को आठ घंटे के भीतर दो यात्री बसों में विस्फोट की घटना सामने आई थी। एक बस पेट्रोल पंप पर खड़ी थी तो दूसरी बस स्टैंड में पार्क थी।

जम्मू-कश्मीर पुलिस ने कहा, बांदीपोरा पुलिस और सेना ने बांदीपोरा के गुरेज क्षेत्र के नौशेहरा नारद में 7 एके-47 राइफल, 2 पिस्टल, 21 एके मैगजीन, 1190 राउंड, 132 पिस्टल राउंड, 13 ग्रेनेड और अन्य आपत्तिजनक सामग्री सहित भारी मात्रा में हथियार और गोला-बारूद बरामद किया। उदमपुर में बसों में विस्फोट के बाद से सुरक्षाबल और पुलिस हाई अलर्ट पर हैं। चप्पे-चप्पे पर तलाशी अभियान चलाया जा रहा है।

बम विस्फोटों में आतंकी साजिश से भी इनकार नहीं

उधमपुर में धमाकों की आतंकी एंगल से भी जांच की जा रही है। दोनों ही धमाकों में स्टिकी बम का इस्तेमाल किया गया था जो जिनमें टाइमर लगे होने की आशंका है। सुरक्षा एजेंसिया किसी आतंकी साजिश से भी इनकार नहीं कर रही है। पहले धमाके में दो लोग घायल हुए थे जबकि दूसरे में किसी के हताहत होने की खबर नहीं थी।

चार अक्टूबर को कश्मीर दौरे पर जाएंगे शाह

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह चार अक्टूबर को कश्मीर पर दौरे पर रहेंगे। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, पहले उनका दौरा 3 अक्टूबर से शुरू होने वाला था लेकिन अब उसमें बदलाव कर दिया गया है। अमित शाह अब चार अक्टूबर को कश्मीर दौरे पर जाएंगे। गृह मंत्री के दौरे को देखते हुए घाटी में सुरक्षा व्यवस्था और कड़ी कर दी गई है।



Source link

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

TRENDING

WTC Final से पहले शुभमन गिल की ‘रोमांटिक’ डेट हुई वायरल, अब इस लड़की के साथ किया फ्लर्ट

Published

on

By


ऐप पर पढ़ें

टीम इंडिया के सलामी बल्लेबाज शुभमन गिल पिछले कुछ महीनों से सुर्खियों में हैं। आईपीएल 2023 में ऑरेंज कैप जीतने वाले शुभमन गिल की फॉर्म तो चर्चा में है ही, साथ ही साथ उनकी ऑफ फील्ड स्टोरी भी लोगों की जुबान पर है। इसके पीछे का कारण है उनकी लव लाइफ, क्योंकि कभी उनका नाम सचिन तेंदुलकर की बेटी सारा तेंदुलकर के साथ जोड़ा जाता है तो कभी उनको सारा अली खान के साथ डेट करते हुए देखा जाता है। हालांकि, इन दोनों ने शुभमन गिल को सोशल मीडिया पर अनफॉलो कर दिया है। इस बीच अब उनकी एक और रोमांटिक डेट सामने आई है। 

दरअसल, इस बल्लेबाज ने ‘स्पाइडरमैन: एक्रॉस स्पाइडर-वर्स’ के भारतीय संस्करण को अपनी आवाज दी है। ‘स्पाइडरमैन’ के प्रमोशन के मौके पर शुभमन गिल सोशल मीडिया इन्फ्लुएंसर निहारिका एनएम के साथ ‘रोमांटिक’ डेट पर गए। निहारिका ने अपने आधिकारिक यूट्यूब चैनल पर और सोशल मीडिया अकाउंट्स पर उसी का वीडियो शेयर किया है और इसका टाइटल ‘अक्वर्ड फर्स्ट डेट फीट शुभमन गिल’ रखा है। इस क्लिप में देखा जा सकता है कि गिल और निहारिका एक-दूसरे के साथ फ्लर्ट करते नजर आ रहे हैं, लेकिन बाद में ये डेट मस्ती-मजाक का रूप ले लेती है। 

आपको बता दें, शुभमन गिल इस समय आईसीसी वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप 2023 के फाइनल के लिए लंदन में हैं, जहां 7 जून से उन्हें ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खिताबी मैच में उतरना है। इससे पहले वह आईपीएल 2023 में नजर आए और उन्होंने 890 रन गुजरात टाइटन्स के लिए बनाए। वह आईपीएल के इतिहास में सबसे कम उम्र में ऑरेंज कैप हासिल करने वाले खिलाड़ी बने। हालांकि, फाइनल मैच में गुजरात की टीम को चेन्नई सुपर किंग्स के हाथों हार का सामना करना पड़ा। आईपीएल के प्रदर्शन से उनका आत्मविश्वास जरूर बढ़ा है, ये बात उन्होंने खुद स्वीकार की है। 



Source link

Continue Reading

TRENDING

बृजभूषण शरण को सजा और हमें इंसाफ मिलने तक जारी रहेगी लड़ाई..पहलवानों का ऐलान

Published

on

By


Image Source : FILE PHOTO
जारी रहेगा पहलवानों का प्रदर्शन

रेसलिंग फेडरेशन ऑफ इंडिया (WFI) के प्रमुख बृज भूषण सिंह के खिलाफ विरोध करने वाले साक्षी मलिक, विनेश फोगट और बजरंग पुनिया सहित शीर्ष पहलवानों ने सोमवार को अपनी सरकारी सेवाओं को फिर से शुरू कर दिया। हालांकि, उन्होंने विरोध से पीछे हटने की खबरों का खंडन किया।

ओलंपियन साक्षी मलिक ने कहा कि न्याय मिलने तक लड़ाई जारी रहेगी। “हमने अपना विरोध वापस नहीं लिया है और हम ऐसा कभी नहीं करेंगे। जब तक हमें न्याय नहीं मिल जाता है, तब तक हम विरोध करना जारी रखेंगे। जहां तक ​​रेलवे (नौकरी फिर से शुरू करने) का संबंध है, मेरी कुछ जिम्मेदारियां थीं और इसलिए मैं यहां (कार्यालय) आई था।” लेकिन मैं यह साफ कर देना चाहती हूं कि ये अफवाहें हमारे आंदोलन को कमजोर करने के लिए फैलाई जा रही हैं।’

 बृजभूषण शरण को सजा दिलाने तक जारी रखेंगे आंदोलन

बृजभूषण शरण के खिलाफ चल रहे आंदोलन से पीछे हटने की खबरों को पहलवानों ने सिरे से खारिज किया और कहा – बृजभूषण शरण को सजा और पहलवानों को इंसाफ मिलने तक जारी रहेगी उनकी लड़ाई। गृह मंत्री से मुलाकात के बाद विनेश, बजरंग और साक्षी मलिक नौकरी पर वापस लौट गए हैं।

बता दें कि बृजभूषण शरण सिंह पर एक्शन की मांग को लेकर आंदोलन कर रहे पहलवान अब अपनी ड्यूटी पर लौट चुके हैं। गृहमंत्री अमित शाह से मुलाकात के बाद पहलवानों ने ऑफिस ज्वाइन करने का फैसला लिया तो वहीं पहलवानों के ड्यूटी ज्वाइन करने की खबरों को आंदोलन वापसी से जोड़कर अफवाह फैला दिया गया, जिसको लेकर रेसलर्स ने कड़ा विरोध जताया है।

पहलवानों ने महिला रेसलर्स के सेक्सुअल हैरासमेंट के आरोपी बृजभूषण शरण सिंह पर एक्शन लिए जाने तक आंदोलन जारी रखने की बात कही है और अपने सपोर्टर्स से अफवाहों पर ध्यान नहीं देने की अपील करते हुए रेसलर बजरंग पुनिया, विनेश फोगाट और साक्षी मलिक ने ट्वीट कर आंदोलन जारी रखने की बात कही और साथ ही वीडियो भी जारी किया।

ये भी पढ़ें:

ओडिशा ट्रेन हादसे में मारे गए 101 लोगों की नहीं हुई पहचान, 55 शव परिजनों को सौंपे गए

BJP दफ्तर में हुई पार्टी की बड़ी मीटिंग, अमित शाह, जेपी नड्डा और बीएल संतोष रहे मौजूद, बनी ये अहम रणनीति

Latest India News





Source link

Continue Reading

TRENDING

दिन में किस समय खाने चाहिए फल, किसी ने कहा रात, कोई सुबह कहता, आजतक नहीं सुलझा ये मसला, यहां जानें सही जवाब

Published

on

By



दिन के किस समय आपको फल खाने चाहिए यह एक बहस का विषय है. कई लोगों का कहना है कि सुबह सबसे पहले फल खाने से उनमें मौजूद शुगर ठीक से टूट सकती है. कई अन्य लोगों का कहना है कि दोपहर में मील स्नैक्स के रूप में फल खाना सबसे अच्छा समय है. हालांकि भोजन के साथ फल खाने से पाचन क्रिया प्रभावित होती है ऐसा माना जाता है, क्योंकि फल फाइबर से भरे होते हैं इसलिए हमारे पेट के लिए पके हुए भोजन के साथ इसे प्रोसेस करना मुश्किल हो जाता है.

फलों को खाने का सबसे हेल्दी तरीका, जिसे कई लोग मानते हैं वह उन्हें मील के बीच में खाना है. ये स्नैक्स के रूप में काम करेंगे और पोर्शन साइज को कम कर देंगे.

सुबह डेली कर लीजिए ये 5 काम, मोटा पेट महीनेभर में हो जाएगा फुस्स, फिटनेस देख मुड़ मुड़कर देखने लगेंगे लोग

कभी भी भोजन के समय के करीब फल नहीं खाने चाहिए?

भोजन के समय के करीब फल खाने से कोई बड़ा नुकसान नहीं होता है. यह पाचन क्रिया को थोड़ा धीमा कर देता है. सुबह जल्दी फल खाना भी आइडियल माना जाता है या फिर भोजन के बीच में पर्याप्त गैप रखते हुए.

क्या फल और ड्राई फ्रूट्स एक जैसे होते हैं?

जो कुछ भी लंबे समय तक उपयोग के लिए संरक्षित किया जाता है, उसमें ताजा के समान न्यूट्रिशन वैल्यू बरकरार नहीं होती. फलों के लिए भी यही सच है.

बाजार की मांगों को पूरा करने के लिए कई ब्रांड उपयोग के लिए ड्राई फ्रूट्स को बढ़ावा देते हैं. जबकि फलों के इन सूखे रूपों का कभी-कभी उपयोग किया जा सकता है, इसे ताजे फलों के विकल्प के रूप में नहीं माना जाना चाहिए.

बेइंतहा प्यार और लॉन्ग रिलेशनशिप के बाउजूद क्यों धोखा देते हैं लोग? ये रही 5 वजहें कि तोड़ना पड़ता है रिश्ता

क्या डायबिटीज में आपको फल खाने से बचना चाहिए?

फलों में नेचुरल शुगर होती है. ब्लड शुगर लेवल को बदलने में उनकी भूमिका कम प्रभावशाली होती है. ज्यादातर फल ग्लाइसेमिक इंडेक्स के निचले सिरे पर होते हैं, जिसका अर्थ है कि वे आपके ब्लड शुगर लेवल को तेजी से नहीं बढ़ाते हैं.

डायबिटीज वालों के लिए भी फल अच्छे होते हैं, लेकिन यह समझना जरूरी है कि आपके शरीर में उनके लिए जगह कैसे बनाई जाए. आम जैसे फलों के मामले में यह और भी ज्यादा है. फलों को अपनी डाइट में कार्बोहाइड्रेट के रूप में शामिल करना चाहिए. ये ध्यान रखना जरूरी है कि आम को अन्य कार्ब्स जैसे रोटी, चावल या आलू के साथ नहीं खाना चाहिए, बल्कि इन्हें बादाम, अखरोट या बीज जैसे नट्स के साथ स्नैक के रूप में सेवन किया जा सकता है.

आम विटामिन ए, विटामिन बी-कॉम्प्लेक्स (बी12 को छोड़कर), विटामिन सी और पॉलीफेनोल्स का एक बेहतरीन स्रोत हैं. डायबिटीज वाले लोगों को स्नैक्स के रूप में आम के 2 से 3 स्लाइस से ज्यादा न लेने की भी सलाह दी जाती है.

Vitamin D: जानें विटामिन डी के फायदे, सॉर्सेज और कितनी मात्रा में लें

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है. यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है. अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें. एनडीटीवी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है.



Source link

Continue Reading