Connect with us

Business

निचले स्तर पर QIP, राइट्स इश्यू

Published

on


पात्र संस्थागत नियोजन (QIP) और राइट्स इश्यू से जुटाए गए इक्विटी फंड साल 2016 के बाद के निचले स्तर पर आ गए, जिसकी वजह बाजार का मुश्किल भरा माहौल और बढ़त वाली पूंजी की दरकार का अभाव थी। साल 2022 में क्यूआईपी व राइट्स इश्यू के जरिये क्रमश: 11,743 करोड़ रुपये व 4,052 करोड़ रुपये जुटाए गए।

सूचीबद्ध‍ कंपनियां नई पूंजी जुटाने के लिए क्यूआईपी को तरजीह देती हैं। अपनी फंडिंग की जरूरत के कारण वित्तीय फर्में क्यूआईपी जारी करने के मामले में सबसे बड़ी हैं। सेंट्रम कैपिटल के पार्टनर (निवेश बैंकिंग) प्रांजल श्रीवास्तव ने कहा, क्यूआईपी का जुड़ाव सीधे तौर पर बाजारों से होता है। बाजारों में उतारचढ़ाव लेनदेन की अंतिम कीमत तय करना मुश्किल बना देता है।

इस साल अब तक बेंचमार्क सेंसेक्स में 4.9 फीसदी की बढ़ोतरी दर्ज हुई लेकिन बाजारों में काफी समय तक झंझावात देखा गया। व्यापक बाजारों का रिटर्न सुस्त रहा और बीएसई मिडकैप इंडेक्स 1 फीसदी चढ़ा जबकि बीएसई स्मॉलकैप में 2.5 फीसदी की गिरावट आई। कई कारकों मसलन वैश्विक केंद्रीय बैंकों की तरफ से ब्याज दर बढ़ोतरी, रुपये में कमजोरी, वैश्विक मंदी का डर और जिंसों की कीमतों में उछाल से इक्विटी में अस्थिरता रही।

सूचीबद्ध‍ फर्मों को मौजूदा शेयरधारकों को नए शेयरों की पेशकश के जरिए रकम जुटाने की व्यवस्था राइट्स इश्यू कहलाती है और इसके तहत मोटे तौर पर छूट पर शेयरों की पेशकश की जाती है। अगर मौजूदा शेयरधारक राइट्स इश्यू में भागीदार नहीं बनने का इरादा जताते हैं तो ये शेयर किसी अन्य के दिए जाने का प्रावधान है।

राइट्स इश्यू का इस्तेमाल अक्सर फर्में तब करती हैं जब प्रवर्तक समूह का इरादा अपनी शेयरधारिता बनाए रखने का होता है। श्रीवास्तव ने कहा, राइट्स इश्यू के जरिए रकम जुटाना कंपनी विशेष की जरूरत से ज्यादा जुड़ाव रखता है। साथ ही क्या प्रवर्तक इस इश्यू को फंड देंगे या नहीं।

यह भी पढ़ें: लगातार सातवें साल सूचकांकों में बढ़त

निवेश बैंकरों ने कहा कि साल 2021 में माहौल ज्यादा तेजी का था और इसने फर्मों को अपनी-अपनी रकम जुटाने की योजनाओं को आगे बढ़ाने के लिए प्रोत्साहित किया। पूंजी की किल्लत और बाजार के उतारचढ़ाव के कारण फर्मों के ज्यादा सतर्क होने से चीजें बदली हैं। इस साल आईपीओ के जरिए काफी छोटी रकम जुटाए गए (अगर हम एलआईसी के इश्यू को छोड़ दें तो)। निवेश बैंकरों ने यह जानकारी दी।

संस्थागत निवेशक आगे बढ़ने का रुख दिख रहे बाजारों में निवेश करना पसंद करते हैं। शेयर कीमतों में उतारचढ़ाव और मंदी के परिदृश्य ने निवेशकों को हतोत्साहित किया। क्यूआईपी की कीमत मोटे तौर पर बाजार कीमत के आसपास होती है। कमजोर बाजार में निवेशकों को मार्क टु मार्केट नुकसान का झटका मिल सकता है।



Source link

Business

सेंसेक्स 400 अंक से अधिक गिर गया, निफ्टी 17,900 के नीचे बंद हुआ

Published

on

By


डिजिटल डेस्क, मुंबई। देश का शेयर बाजार कारोबारी सप्ताह के पांचवे और आखिरी दिन (06 जनवरी 2023, शुक्रवार) गिरावट के साथ बंद हुआ। इस दौरान सेंसेक्स और निफ्टी दोनों ही लाल निशान पर रहे। बंबई स्टॉक एक्सचेंज (BSE) के 30 शेयरों पर आधारित संवेदी सेंसेक्स 452.90 अंक यानी कि 0.75% की गिरावट के साथ 59,900.37 के स्तर पर बंद हुआ।

वहीं नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (NSE) के 50 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक निफ्टी 132.70 अंक यानी कि 0.74% की गिरावट के साथ 17,859.45 के स्तर पर बंद हुआ।

आपको बता दें कि, सुबह बाजार सपाट स्तर पर खुला था। इस दौरान सेंसेक्स 77.23 अंक यानी कि 0.13% बढ़कर 60,430.50 के स्तर पर खुला था। वहीं निफ्टी 24.60 अंक यानी कि 0.14% बढ़कर 18,016.80 के स्तर पर खुला था।

जबकि बीते कारोबारी दिन (05 जनवरी 2023, गुरुवार) बाजार सपाट स्तर पर खुला था और गिरावट के साथ बंद हुआ था। इस दौरान सेंसेक्स 304.18 अंक यानी कि 0.50% गिरावट के साथ 60,353.27 के स्तर पर बंद हुआ था। वहीं निफ्टी 50.80 अंक यानी कि 0.28% गिरावट के साथ 17,992.15 के स्तर पर बंद हुआ था।



Source link

Continue Reading

Business

सेंसेक्स में 77 अंकों की मामूली बढ़त, निफ्टी 18 हजार के पार खुला

Published

on

By


डिजिटल डेस्क, मुंबई। देश का शेयर बाजार कारोबारी सप्ताह के पांचवे और आखिरी दिन (06 जनवरी 2023, शुक्रवार) भी सपाट स्तर पर खुला। इस दौरान सेंसेक्स और निफ्टी दोनों ही हरे निशान पर रहे। बंबई स्टॉक एक्सचेंज (BSE) के 30 शेयरों पर आधारित संवेदी सेंसेक्स 77.23 अंक यानी कि 0.13% बढ़कर 60,430.50 के स्तर पर खुला।

वहीं नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (NSE) के 50 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक निफ्टी 24.60 अंक यानी कि 0.14% बढ़कर 18,016.80 के स्तर पर खुला।

शुरुआती कारोबार के दौरान करीब 1205 शेयरों में तेजी आई, 679 शेयरों में गिरावट आई और 115 शेयरों में कोई बदलाव नहीं हुआ।

आपको बता दें कि, बीते कारोबारी दिन (05 जनवरी 2023, गुरुवार) बाजार सपाट स्तर पर खुला था इस दौरान सेंसेक्स 44.66 अंक यानी कि 0.07% बढ़कर 60702.11 के स्तर पर खुला था। वहीं निफ्टी 17 अंक यानी कि 0.09% ऊपर 18060.00 के स्तर पर खुला था। 

जबकि, शाम को बाजार गिरावट के साथ बंद हुआ था। इस दौरान सेंसेक्स 304.18 अंक यानी कि 0.50% गिरावट के साथ 60,353.27 के स्तर पर बंद हुआ था। वहीं निफ्टी 50.80 अंक यानी कि 0.28% गिरावट के साथ 17,992.15 के स्तर पर बंद हुआ था।



Source link

Continue Reading

Business

पेट्रोल- डीजल की कीमतें हुईं अपडेट, जानें आज बढ़े दाम या मिली राहत

Published

on

By



डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। पेट्रोल- डीजल (Petrol- Diesel) की कीमतों को लेकर लंबे समय से कोई बढ़ा अपडेट देखने को नहीं मिला है। जबकि अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतें कई बार जबरदस्त तरीके से गिर चुकी हैं। हालांकि, जानकारों का मानना है कि, आने वाले दिनों में कच्चा तेल महंगा होने पर इसका असर देश में दिखाई दे सकता है। फिलहाल, भारतीय तेल विपणन कंपनियों (इंडियन ऑयल, भारत पेट्रोलियम और हिंदुस्तान पेट्रोलियम) ने वाहन ईंधन के दाम में किसी तरह का कोई बदलाव नहीं किया है।

बता दें कि, आखिरी बार बीते साल में 22 मई 2022 को आमजनता को महंगाई से राहत देने केंद्र सरकार द्वारा एक्‍साइज ड्यूटी में कटौती की गई थी। जिसके बाद पेट्रोल 8 रुपए और डीजल 6 रुपए प्रति लीटर तक सस्‍ता हो गया था। इसके बाद लगातार स्थिति ज्यों की त्यों बनी हुई है। आइए जानते हैं वाहन ईंधन के ताजा रेट…

महानगरों में पेट्रोल-डीजल की कीमत
इंडियन ऑयल (Indian Oil) की वेबसाइट के अनुसार आज देश की राजधानी दिल्ली में पेट्रोल 96.72 रुपए प्रति लीटर मिल रहा है। वहीं बात करें डीजल की तो दिल्ली में कीमत 89.62 रुपए प्रति लीटर है। आर्थिक राजधानी मुंबई में पेट्रोल 106.35 रुपए प्रति लीटर है, तो एक लीटर डीजल 94.27 रुपए में उपलब्ध होगा। 

इसी तरह कोलकाता में एक लीटर पेट्रोल के लिए 106.03 रुपए चुकाना होंगे जबकि यहां डीजल 92.76 प्रति लीटर है। चैन्नई में भी आपको एक लीटर पेट्रोल के लिए 102.63 रुपए चुकाना होंगे, वहीं यहां डीजल की कीमत 94.24 रुपए प्रति लीटर है।   

ऐसे जानें अपने शहर में ईंधन की कीमत
पेट्रोल-डीजल की रोज की कीमतों की जानकारी आप SMS के जरिए भी जान सकते हैं। इसके लिए इंडियन ऑयल के उपभोक्ता को RSP लिखकर 9224992249 नंबर पर भेजना होगा। वहीं बीपीसीएल उपभोक्ता को RSP लिखकर 9223112222 नंबर पर भेजना होगा, जबकि एचपीसीएल उपभोक्ता को HPPrice लिखकर 9222201122 नंबर पर भेजना होगा, जिसके बाद ईंधन की कीमत की जानकारी प्राप्त की जा सकती है।

 



Source link

Continue Reading