Connect with us

International

ड्रैगन की लगाम कसने को तैयार है अमेरिका, चीन से ताइवान को बचाने के लिए बाइडेन बनेंगे आयरन मैन

Published

on


Image Source : INDIA TV
America can impose severe sanctions on China!

Highlights

  • ड्रैगन की लगाम कसने को तैयार है अमेरिका
  • चीन से ताइवान को बचाने के लिए बाइडेन बनेंगे आयरन मैन
  • चीन पर प्रतिबंध लगाना रूस की तरह आसान नहीं है

चीन और ताइवान के बीच बढ़ते युद्ध के खतरे को देखते हुए अमेरिका सतर्क हो गया है। अमेरिका अब खुल कर ताइवान के समर्थन में खड़ा हो गया है। बात तो यहां तक आ गई है कि चीन के हमले से ताइवान को बचाने के लिए जल्द ही अमेरिका चीन पर प्रतिबंधों का बम फोड़ने वाला है। वहीं दूसरी ओर ताइवान यूरोपियन यूनियन पर दबाव बना रहा है कि वह चीन के खिलाफ ऐसे ही प्रतिबंध लगाए। दरअसल, आज के दौर में युद्ध सीधे तौर पर कम लड़े जाते हैं। ज्यादातर देशों की चाहत होती है कि वह अपने विरोधी पर कूटनीतिक जीत हासिल करें, जिससे उस पर आर्थिक और सामाजिक दबाव बढ़े। 

ताइवान चीन की अर्थव्यवस्था पर मार करना चाहता है

ताइवान को पता है कि चीन जैसे बड़े देश को तोड़ने के लिए उस पर आर्थिक दबाव बनाया जाए। यही वजह है कि चीन अब अपने सहयोगी अमेरिका पर दबाव बना रहा है कि वह चीन पर प्रतिबंध लगाए ताकि ड्रैगन को आर्थिक मोर्चे पर नुकसान उठाना पड़े। ताइवान चाहता है कि अमेरिका चीन पर सेमीकंडक्टर और चिप से बढ़कर और भी कई प्रतिबंध लगाए। हालांकि, चीन जिस तरह से पूरी दुनिया में अपनी सप्लाई चेन बनाए हुए है, उसे देखकर ऐसा लगता है कि अगर चीन पर इस तरह के कड़े प्रतिबंध लगाए गए तो दुनियाभर के कई देशों की अर्थव्यवस्था पर बुरा असर पड़ेगा। 

चीन पर प्रतिबंध लगाना रूस की तरह आसान नहीं है

हालांकि, अमेरिका का चीन पर इतने कड़े प्रतिबंध लगाना इतना आसान नहीं है। जानकारों का कहना है कि अमेरिका रूस की तरह चीन पर प्रतिबंध नहीं लगा सकता क्योंकि ऐसा करने पर पूरी दुनिया की अर्थव्यवस्था पर असर पड़ेगा और इनमे अमेरिका के कई दोस्त भी शामिल होंगे। अब यह फैसला अमेरिका को करना है कि एक दोस्त को बचाने के लिए क्या वह अपने कई दोस्तों को मुश्किल में डाल सकता है।

ताइवान का अपने ‘चिप’ पर तने रहना

ताइवान एक ऐसा देश है दुनिया में इस्तेमाल होनी वाली कुल चिप का 90 फीसदी हिस्सा अपने यहां तैयार करता है। वहीं सेमीकंडक्टर भी ताइवान में भारी मात्रा में बनाए जाते हैं। अब ताइवान अपनी इस बेहद एडवांस तकनीक को अमेरिका में सिर्फ इस शर्त पर भेजने की बात कर रहा है कि अमेरिका चीन पर गंभीर प्रतिबंध लगाए।

Latest World News





Source link

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

International

Baba Vanga Predictions 2023: एलियन अटैक, परमाणु हमला, लैब बेबी… बाबा वेंगा ने 2023 के लिए की हैं डराने वाली भविष्यवाणियां

Published

on

By


baba vanga predictions list: बाबा वेंगा की 2023 की भविष्यवाणियों ने पूरी दुनिया को डरा दिया है। उन्होंने बताया था कि अगले साल दुनिया में कुछ ऐसा होगा, जिससे न सिर्फ पृथ्वी की कक्षा बदल सकती है, बल्कि दुनिया में व्यापक तबाही भी देखने को मिल सकती है। उन्होंने लैब बेबी की भी भविष्यवाणी की है, जिसकी त्वचा के रंग और शारीरिक क्षमताओं को माता-पिता पहले ही तय कर सकते हैं।

 



Source link

Continue Reading

International

लश्कर और जैश ने अफगानिस्तान में बनाया सुरक्षित ठिकाना, क्या भारत को धोखा दे रहा तालिबान?

Published

on

By


अफगानिस्तान के पूर्व खुफिया प्रमुख रहमतुल्लाह नबील ने कहा कि अफगानिस्तान में तालिबान शासन के साथ बातचीत के बावजूद, भारत को अपनी सुरक्षाकम नहीं करना चाहिए। उन्होंने चेतावनी दी है कि जैश ए मोहम्मद और लश्कर ए तैयबा जैसे भारत को निशाना बनाने वाले पाकिस्तानी आतंकवादी समूहों ने तालिबान की मदद से अफगानिस्तान में अपने ठिकानों को स्थानांतरित कर दिया है।

 



Source link

Continue Reading

International

पाकिस्तान की सेना से क्यों डरे इमरान ?… पार्टी नेताओं को जारी किया ये फरमान

Published

on

By


Image Source : AP
पाकिस्तान के पूर्व पीएम इमरान खान (फाइल फोटो)

Imran Khan & Pakistan Army: पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान के कट्टर दुश्मन आसिम मुनीर के सेनाध्यक्ष बनते ही देश की राजनीति नया करवट लेने लगी है। इमरान खान ने अपनी पार्टी पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआइ) के नेताओं और सोशल मीडिया टीम को यह सुनिश्चित करने का निर्देश दिया है कि सेना और नए सेनाध्यक्ष (सीओएएस) जनरल आसिम मुनीर की कोई आलोचना न होने पाए। द न्यूज की रिपोर्ट के अनुसार पीटीआइ के एक सूत्र के बताया कि पार्टी नेताओं और सोशल मीडिया प्रबंधकों के एक व्हाट्सऐप ग्रुप में खान ने कहा, “कृपया सुनिश्चित करें कि नए प्रमुख और सेना कर्मियों की कोई आलोचना न हो। जबकि इमरान खान नहीं चाहते थे कि उनके कट्टर दुश्मन आसिम मुनीर को सेना की कमान मिले।

दरअसल पाकिस्तान के प्रधानमंत्री रहते आसिम मुनीर आइएसआइ के प्रमुख थे, मगर नाराजगी के चलते इमरान खान ने मुनीर को चीफ के पद से हटा दिया था। तब से मुनीर और इमरान के रिश्ते खराब हो गए थे। अब आसिम मुनीर पाकिस्तान के मौजूदा पीएम शहबाज शरीफ के करीबी हैं। इमरान खान ने सेनाध्यक्ष की नियुक्ति मनमर्जी से करने का आरोप लगाकर पाकिस्तान के पीएम शहबाज शरीफ की जमकर आलोचना की थी। वह नहीं चाहते थे कि मुनीर को सेनाध्यक्ष बनाया जाए। मगर शहबाज शरीफ ने मुनीर को ही इसके लिए उपयुक्त माना। इसके बाद यह माना जा रहा था कि पाकिस्तान के पूर्व पीएम इमरान खान और अधिक हमलावर हो सकते हैं। मगर मौके की नजाकत को देखते हुए इमरान ने पाला बदल लिया है। अब वह सेना प्रमुख और सेना के खिलाफ कोई भी टिप्पणी करने से खुद तो परहेज कर ही रहे हैं। साथ ही पार्टी के अन्य नेताओं को भी यही निर्देश दिया है।

क्यों बदला इमरान का रवैया


इमरान खान का यह निर्देश सैन्य प्रतिष्ठान के साथ बिगड़े रिश्तों को फिर से बनाने की पार्टी की कोशिश समझी जा रही है। पीटीआई सूत्र ने कहा कि जनरल मुनीर की सेना प्रमुख के रूप में नियुक्ति के बाद खान भी नहीं चाहते कि उनके प्रधानमंत्री रहते सेना से संबंध का साया नए सेनाध्यक्ष पर पड़े। पीटीआइ के वरिष्ठ नेता फवाद चौधरी ने अपने नेताओं और सोशल मीडिया टीम को खान के नए निर्देश की पुष्टि या खंडन नहीं किया, लेकिन कहा कि पार्टी की नीति सेना के साथ टकराव नहीं है। बुधवार को खान ने एक ट्वीट में जनरल साहिर शमशाद मिर्जा को नए सीजेसीएससी और जनरल मुनीर को सीओएएस के रूप में बधाई दी। इमरान जानते हैं कि अब सेना प्रमुख से पंगा लेने का मतलब चुनाव में अपना नुकसान करवाना है। इसलिए अब इमरान ने अपना स्टैंड बदल लिया है.

इमरान ने जताया सेना पर यह भरोसा

इमरान ने उम्मीद जताते कहा, “नया सैन्य नेतृत्व राष्ट्र और राज्य के बीच पिछले 8 महीनों में निर्मित विश्वास की कमी को समाप्त करने के लिए काम करेगा। राज्य की ताकत उसके लोगों से प्राप्त होती है। जबकि खान को शुरू में सेना प्रमुख के रूप में जनरल मुनीर की नियुक्ति के बारे में आपत्ति थी, लेकिन बाद में उन्होंने अपनी नीति बदल दी और कहा कि उन्हें कोई आपत्ति नहीं होगी, भले ही उन्हें सीओएएस बनाया गया हो। द न्यूज की रिपोर्ट के अनुसार, अपने प्रीमियर के दौरान खान ने समय से पहले ही मुनीर को आइएसआइ के महानिदेशक के पद से हटा दिया था, जब मुनीर ने कथित तौर पर खान के करीबी कुछ लोगों के कथित भ्रष्ट आचरण के बारे में सूचित किया था।

Latest World News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। Asia News in Hindi के लिए क्लिक करें विदेश सेक्‍शन





Source link

Continue Reading