Connect with us

TRENDING

“ड्रग्स बेचता था आफताब, रात में भी आते थे ग्राहक” : मारपीट के बाद मदद करने वाले शख्स से श्रद्धा ने बताया था

Published

on


नई दिल्ली:

श्रद्धा मर्डर केस ने हर किसी को बुरी तरह से हिला दिया है. अब इस मामले में रोज कुछ न कुछ नए खुलासे हो रहे हैं. श्रद्धा वालकर और आफताब के रिश्तों को लेकर गॉडविन रोड्रिग्स नाम के एक शख्स ने कई राजे खोले हैं. गॉडविन वह शख्स है, जिसने दावा किया है कि श्रद्धा के साथ आफताब काफी मारपीट करता था. इसका दावा है कि इसने एक बार मारपीट के बाद श्रद्धा की मदद की थी. श्रद्धा की अपने दोस्तों के साथ व्हॉट्सऐप चेट पर हुई बातचीत के कई स्क्रीनशॉट भी सामने आए हैं. जिनमें श्रद्धा अपने दोस्तों से मारपीट करने का जिक्र करती हुई दिख रही हैं. गॉडविन ने NDTV को बताया कि उसने साल 2020 में श्रद्धा की मदद की थी. 

यह भी पढ़ें

एनडीटीवी से विशेष बातचीत में गॉडविन ने दावा किया कि श्रद्धा ने उन्हें बताया था कि आफताब ड्रग्स बेचता था और खरीदने वाले उसके पास रात में भी आते थे. इतना ही नहीं, जब आफताब घर पर नहीं होता था तो ग्राहकों को श्रद्धा ड्रग्स बेचती थी. इसके लिए श्रद्धा ने कहा था कि उसके पास इसके सबूत हैं. गॉडविन ने बताया कि नवंबर 2020 में भी आफताब ने श्रद्धा की गला दबाकर हत्या करने की कोशिश की थी. इसके बाद श्रद्धा ने अपने ऑफिस में कॉल करके मदद मांगी थी, उसी ऑफिस में गॉडविन का भाई काम करता था. श्रद्धा का ऑफिस दूर था. इसलिए गॉडविन के भाई ने उसे कॉल करके कहा था कि आप श्रद्धा की मदद कीजिए, क्योंकि आप उसके पास में ही रहते हैं.

गॉडविन ने बताया कि इसके बाद मैंने श्रद्धा को कॉल कर अपने पास बुलाया और अपने घर लेकर गया. उसके शरीर पर गहरी चोट के निशान थे. मामले की पूरी जानकारी लेने के बाद मैं उसे अपने दोस्त के साथ पुलिस थाने लेकर गया और शिकायत दर्ज करवाई. गॉडविन का दावा है कि श्रद्धा की अपने परिवार या किसी रिश्तेदार से कोई बातचीत नहीं होती थी.  युवक ने बताया कि पुलिस में शिकायत के बाद श्रद्धा को अपने घर पर ले गया था, इसके बाद आफताब के श्रद्धा के पास की कॉल आए. आफताब ने माता-पिता से बात करने के बाद श्रद्धा वापस चली गई थी. आफताब ने गॉडविन के साथ भी फोन पर बदसलूकी की थी. 

गॉडविन ने बताया कि आफताब के खिलाफ श्रद्धा ने अपनी शिकायत वापस क्यों ले ली, इसकी जानकारी नहीं. हालांकि, नई नौकरी मिलने पर गॉडविन से एक बार फिर श्रद्धा की बातचीत हुई. उस वक्त श्रद्धा दुबई शिफ्ट होने की बात कह रही थी. बाद में आफताब और श्रद्धा दोनों ने शहर बदल लिया और मुझसे उसका संपर्क खत्म हो गया.  श्रद्धा के सहकर्मी करण ने भी एनडीटीवी को बताया कि नवंबर 2020 में पहली बार मुझे श्रद्धा के साथ होने वाले दुर्व्यवहार के बारे में पता चला. वह इससे पहले अक्सर बीमार रहती थी. तब मैंने उसकी मदद करने की कोशिश की थी और कुछ हफ्तों तक उसकी निगरानी करता रहा.

श्रद्धा मुंबई में जिस कॉल सेंटर में काम करती थी, उसमें करण उसका टीम मैनेजर था.  करण ने NDTV को बताया, “मैंने श्रद्धा से चोट की तस्वीरें मंगवाई थी, उन्हें देखकर मैं टूट गया और सोचने लगा कि उसके साथ कोई इस कदर कैसे मारपीट कर सकता है. करण ने बताया कि मैंने श्रद्धा को सलाह दी कि वह तत्काल सुरक्षा के लिए अपनी मां और बहन के पास चली जाए या पुलिस से संपर्क करे. मैं श्रद्धा और आफताब को शादीशुदा समझता था, क्योंकि श्रद्धा ने आफताब को अपना पति बताया था.

ये भी पढ़ें : छत से गिरी पार्टी कर रही युवती, अस्पताल ले जाने की बजाय घर के बाहर छोड़कर भागा बॉयफ्रेंड, अरेस्ट

       

ये भी पढ़ें : भारतीय सेना के जवान को TTE ने चलती ट्रेन से दिया धक्का, टांग कटी



Source link

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

TRENDING

DWC अध्यक्ष स्वाति मालीवाल समेत 4 के खिलाफ आरोप तय, नियुक्ति में गड़बड़ी का है मामला

Published

on

By


(फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल की मुश्किलें बढ़ गई हैं. डीडब्लूसी में नियुक्तियों में अनियमितताओं के मामले में कोर्ट ने स्वाति पर आरोपत तय किया. राउज एवेन्यू कोर्ट ने स्वाति मालीवाल, प्रोमिला गुप्ता, सारिका चौधरी और फरहीन मलिक के खिलाफ आरोप तय किया है. 

यह भी पढ़ें



Source link

Continue Reading

TRENDING

PAK vs ENG: इंग्लैंड टीम की सुरक्षा दांव पर! मुल्तान टेस्ट से पहले होटल के पास चली गोली

Published

on

By


Image Source : GETTY
इंग्लैंड क्रिकेट टीम

PAK vs ENG: पाकिस्तान और इंग्लैंड के बीच मुल्तान में होने वाले दूसरे टेस्ट मैच से पहले मेहमान टीम की सुरक्षा में भारी चूक हुई है। रिपोर्ट्स के मुताबिक इंग्लैंड के टीम होटल के पास गोलीबारी हुई है। ऐसा तब हुआ है जब पाकिस्तान में सुरक्षा को लेकर लगातार सवाल उठ रहे हैं और यही वजह है कि भारत भी अगले साल एशिया कप के लिए टीम इंडिया को पाकिस्तान भेजने के खिलाफ है।

गौरतलब है कि इंग्लैंड की टीम 17 साल के लंबे अंतराल के बाद पाकिस्तान में टेस्ट सीरीज खेलने पहुंची है। इंग्लैंड ने रावलपिंडी में खेले गए पहले मैच में पाकिस्तान के खिलाफ रोमांचक जीत हासिल की और तीन मैचों की सीरीज में 1-0 की बढ़त बना ली है।

दोनों टीमों के बीच अब शुक्रवार (9 दिसंबर) को मुल्तान में सीरीज का दूसरा मुकाबला खेला जाएगा। इस दौरान इंग्लैंड की नजर सीरीज जीत पर होगी तो वहीं पाकिस्तान की टीम पलटवार करते हुए सीरीज में बने रहने की कोशिश करेगी।

इंडिपेंडेंट की रिपोर्ट के मुताबिक, पाकिस्तान पुलिस ने गोलीबारी के संबंध में चार गिरफ्तारियां की हैं। बताया जा रहा है कि यह गोलीबारी इंग्लैंड टीम के ट्रेनिंग के लिए होटल छोड़ने से कुछ घंटे पहले हुई थी, लेकिन उससे इंग्लैंड की ट्रेनिंग सेशन पर कोई फर्क नहीं पड़ा और स्टोक्स एंड टीम ने तय समय पर जरूरी अभ्यास सत्र में हिस्सा लिया।

बता दें कि पाकिस्तानी मीडिया के रिपोर्ट के अनुसार इंग्लैंड की टीम को इस दौरे पर राष्ट्रपति स्तर की सुरक्षा मिली हुई है। इंग्लैंड की टीम ने भी पाकिस्तान का दौरा करने से पहले मेजबान देश की सुरक्षा व्यवस्था को लेकर संतोष जताया था।

बात करें सीरीज की तो इंग्लैंड की टीम ने दूसरे टेस्ट के लिए अपने तेज गेंदबाज मार्क वुड को शामिल किया है। उन्हें चोट की वजह से सीरीज से बाहर हुए ऑलराउंडर लियाम लिविंगस्टोन की जगह पर टीम से जोड़ा गया है।

Latest Cricket News





Source link

Continue Reading

TRENDING

“अभी भी हिमाचल को अपना घर समझें पीएम मोदी”, कांग्रेस की जीत पर NDTV से बोले विक्रमादित्य सिंह

Published

on

By


विक्रमादित्य सिंह की मां रानी प्रतिभा सिंह हिमाचल कांग्रेस की अध्यक्ष हैं.

नई दिल्ली:

हिमाचल प्रदेश के विधानसभा चुनावों (Himachal Pradesh Assembly Elections Result 2022) में कांग्रेस (Congress) ने प्रचंड बहुमत के साथ जीत दर्ज की है. प्रदेश की 68 विधानसभा सीटों में से कांग्रेस ने 40 सीटों पर जीत हासिल की. वहीं, पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह के बेटे विक्रमादित्य सिंह (Vikramaditya Singh) ने भी शिमला ग्रामीण सीट पर 13,860 वोटों से जीत हासिल की है. जीत के बाद विक्रमादित्य सिंह ने पीएम मोदी से हिमाचल में कांग्रेस सरकार के लिए सहयोग की अपील की है.

NDTV से बातचीत में विक्रमादित्य सिंह ने कहा, ‘पीएम मोदी ने हिमाचल में चुनावी अभियान के दौरान मंडी में एक जनसभा की थी. वहां उन्होंने हिमाचल को अपना घर बताया था. मैं चाहूंगा की पीएम अभी भी हिमाचल को अपना उतना ही घर मानें. कांग्रेस शासित हिमाचल प्रदेश को उतना ही प्रेम, सम्मान और सहयोग दें, जितना कि बीजेपी शासित राज्यों को मिलता है.’

अटल बिहारी वाजपेयी की बात को किया याद

उन्होंने कहा, ‘मैं ये बात इसलिए कह रहा हूं, क्योंकि जब मेरे पिता 2003 में प्रदेश के सीएम थे और उस समय अटल बिहारी वाजपेयी देश के पीएम थे. तब वाजपेयी जी रिज मैदान में आए थे और उन्होंने कहा था कि कांग्रेस की सरकार हिमाचल में है, लेकिन वीरभद्र सिंह मेरे पर्सनल फ्रेंड हैं. मैं चाहूंगा कि इस तरह की सहृदयता पीएम मोदी भी दिखाएं.’    

इस जीत से कैडर को बढ़ेगा मनोबल

उन्होंने कहा, ‘इस जीत के मायने बहुत बड़े हैं. क्योंकि इस जीत के मायने सिर्फ हिमाचल प्रदेश तक ही सीमित नहीं हैं. इस जीत के मायने 2024 के चुनाव में हमारी पार्टी के कैडर को पूरे देश में पुर्नजीवित करने के लिए भी बहुत महत्वपूर्ण है.’ 

हर वादें पूरे करेगी कांग्रेस

उन्होंने कहा, ‘राहुल गांधी कश्मीर से कन्याकुमारी तक एक बहुत ही महत्वपूर्ण पद यात्रा पर जा रहे हैं. जिस वजह से हमें हिमाचल में अच्छे संकेत देखने को मिले हैं. इसमें कोई दो राय नहीं है. आने वाले समय में हिमाचल प्रदेश कांग्रेस पार्टी के लिए मुख्य स्रोत साबित होगा. हिमाचल में कांग्रेस पार्टी की सरकार चलेगी. चुनाव में कांग्रेस पार्टी ने जो वादें किए थे, उन्हें हम एक के बाद एक पूरा करके. इस काम में हम केंद्र सरकार का भी सहयोग चाहेंगे. क्योंकि हम एक कंस्ट्रक्टिव संघीय सरकार में विश्वास रखते हैं.’

2021 में विक्रमादित्य सिंह बने राजा

विक्रमादित्य के पिता वीरभद्र सिंह 6 बार हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री रहे. 2021 में उनके निधन के बाद विक्रमादित्य को राजा बनाया गया. विक्रमादित्य सिंह की मां रानी प्रतिभा सिंह हिमाचल कांग्रेस की अध्यक्ष हैं. इस साल मंडी लोकसभा उपचुनाव में वीरभद्र की पत्नी और रानी प्रतिभा सिंह ने बीजेपी को हराया था.

मां को सीएम बनते देखना चाहते हैं

शिमला (ग्रामीण) से मौजूदा कांग्रेस विधायक विक्रमादित्य सिंह ने बीजेपी के अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी रवि कुमार मेहता को 13,860 मतों से हराकर अपनी सीट बरकरार रखी. इस सीट से छह उम्मीदवार मैदान में थे. यह पूछे जाने पर कि क्या वह अपनी मां और कांग्रेस की हिमाचल प्रदेश इकाई की अध्यक्ष प्रतिभा सिंह को मुख्यमंत्री के रूप में देखना चाहेंगे, विक्रमादित्य ने कहा, ‘बेटे के रूप में, मैं अपनी मां को मुख्यमंत्री के रूप में देखना चाहूंगा, लेकिन इस संबंध में फैसला विजेता उम्मीदवारों और आलाकमान द्वारा लिया जाएगा.’

ये भी पढ़ें:-

Election Results Updates :गुजरात की रिकॉर्ड जीत के बाद पीएम मोदी ने जनता जनार्दन का जताया आभार

Himachal Election Result: ‘हर वादा जल्द से जल्द निभाएंगे’… हिमाचल चुनाव में जीत के बाद राहुल गांधी का ट्वीट

Featured Video Of The Day

कांग्रेस नेता विक्रमादित्य सिंह ने कहा-“हिमाचल के लिए विकास के लिए केंद्र का…”



Source link

Continue Reading