Connect with us

TRENDING

गुजरात चुनाव के पहले फेज में 167 उम्मीदवार ‘दागी’, AAP के सबसे ज्यादा, 100 पर रेप-हत्या के मामले

Published

on


Image Source : REPRESENTATIONAL IMAGE
बीजेपी, कांग्रेस उम्मीदवारों पर गंभीर मामले दर्ज

अहमदाबाद: गुजरात विधानसभा चुनाव के पहले चरण के लिए 1 दिसंबर को वोटिंग है और इस वक्त वहां प्रचार-प्रसार अपने चरम पर है लेकिन इसी बीच चुनाव में अपनी किस्मत आजमा रहे नेताओं की कुंडली सामने आई है जिसमें चौंकाने वाले खुलासे हुए हैं। एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स यानी ADR ने गुजरात चुनाव में खड़े उम्मीदवारों को लेकर चौंकाने वाले खुलासे किए हैं।

गुजरात में पहले चरण में 89 सीटों पर कुल 788 उम्मीदवारों में से 167 उम्मीदवार ऐसे है जो आपराधिक मामलों का सामना कर रहे हैं इनमें सबसे ज्यादा 32 उम्मीदवार उस आम आदमी पार्टी (AAP) के हैं जो राजनीति में ईमानदारी का दंभ भरते हैं। आम आदमी पार्टी के 32 उम्मीदवार आपराधिक मामलों का सामने कर रहे हैं। दूसरे नंबर पर कांग्रेस के 31 उम्मीदवार हैं जबकि आपराधिक छवि वाले 14 उम्मीदवारों के साथ तीसरे नंबर पर बीजेपी है।

100 उम्मीदवारों पर रेप और हत्या जैसे गंभीर मामले


ADR की रिपोर्ट के मुताबिक 167 दागी उम्मीदवारों में से 100 उम्मीदवारों पर तो हत्या और दुष्कर्म जैसे गंभीर मामले दर्ज हैं। इसके साथ ही कुल उम्मीदवारों में 21 फीसदी पर आपराधिक मामले हैं, जबकि 13 फीसदी पर गंभीर आरोप हैं। पहले चरण के तहत, AAP कुल 89 में से 88 सीट पर चुनाव लड़ रही है और वह इस सूची में सबसे ऊपर है जिसके 36% उम्मीदवारों के खिलाफ आपराधिक मामले दर्ज हैं। बीजेपी भी पहले चरण के चुनाव में सभी सीट पर चुनाव लड़ रही है। एडीआर की रिपोर्ट के अनुसार बीजेपी ने आपराधिक अतीत वाले 14 उम्मीदवारों को मैदान में उतारा है। प्रतिशत के लिहाज से यह संख्या 16% है।

क्या कहती है ADR रिपोर्ट

भारतीय ट्राइबल पार्टी (BTP) पहले चरण में 14 सीट पर चुनाव लड़ रही है और उसके चार उम्मीदवारों (29%) के खिलाफ आपराधिक मामले हैं। उसके सात प्रतिशत उम्मीदवारों के खिलाफ गंभीर आपराधिक मामले हैं। रिपोर्ट के अनुसार 2017 के विधानसभा चुनावों में, पहले चरण के 15% उम्मीदवारों के खिलाफ आपराधिक मामले थे, जबकि 8% उम्मीदवारों के खिलाफ गंभीर आपराधिक मामले थे। गंभीर आपराधिक मामलों वाले उम्मीदवारों में जनक तलविया (बीजेपी), वसंत पटेल (कांग्रेस), अमरदास देसानी (स्वतंत्र) शामिल हैं। आपराधिक रिकॉर्ड वाले अन्य उम्मीदवारों में बीजेपी के पुरुषोत्तम सोलंकी, कांग्रेस के गनीबेन ठाकोर और जिग्नेश मेवानी, आप के गोपाल इटालिया और अल्पेश कठेरिया शामिल हैं।

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। News News in Hindi के लिए क्लिक करें इलेक्‍शन सेक्‍शन





Source link

TRENDING

चिंताजनक: भारत से क्यों भाग रहे करोड़पति? यूएई, ऑस्ट्रेलिया, सिंगापुर को बना रहे नया ठिकाना

Published

on

By



इस साल दुनियाभर में करीब 88 हजार मिलेनियर्स ने अपना मुल्क छोड़ा है। भारत दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा मुल्क हैं, जहां से 8000 करोड़पति देश छोड़कर जा चुके हैं। चीन से सर्वाधिक 15 हजार तो रूस से 10 हजार ।



Source link

Continue Reading

TRENDING

चीन के हालात देख अमेरिका बोला, शांतिपूर्ण प्रदर्शन करना सबका अधिकार, गलत कर रहा ड्रैगन

Published

on

By



अमेरिका का यह बयान चीन में उसकी 'शून्य कोविड नीति' के खिलाफ होते प्रदर्शनों के बीच आया है। व्हाइट हाउस के राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद ने कहा, 'हम अमेरिका में शून्य कोविड नीति का पालन नहीं करते।



Source link

Continue Reading

TRENDING

बच्चे के रूप में किडनैप हुई थी अमेरिकी महिला, 51 साल बाद फिर परिवार से मिली

Published

on

By


अमेरिका के टेक्सास से एक हैरान करने वाली खबर सामने आई है. यहां 51 साल पहले बच्चे के रूप में एक एक महिला लापता हो गई थी. लेकिन अब वह फिर से अपने अपने परिवार को फिर से मिल गई है. द गार्जियन की एक रिपोर्ट के अनुसार, 23 अगस्त, 1971 को, मेलिसा हाईस्मिथ को फोर्ट वर्थ, टेक्सास से अपहरण कर लिया गया था.

उसकी मां, अल्टा अपेंटेंको ने एक समाचार पत्र में दाई को लेकर एक विज्ञापन पोस्ट किया था. उसने बिना मिले ही एक महिला को काम पर रख लिया क्योंकि किसी को उसकी बेटी को देखने की जरूरत थी, जबकि वह काम कर रही थी क्योंकि वह खुद ही छोटे बच्चे की परवरिश कर रही थी. एपेटेंको की रूममेट ने मेलिसा को दाई को दिया था, जिसने कथित तौर पर उसका अपहरण कर लिया और उसके साथ गायब हो गई.

इस साल सितंबर में, हाईस्मिथ के रिश्तेदारों को एक सूचना मिली कि वह चार्ल्सटन के पास है, जो फोर्ट वर्थ से 1,100 मील से अधिक दूर है. डीएनए परीक्षण के परिणाम, मेलिसा के जन्मचिह्न और उसके जन्मदिन सभी ने परिवार को यह साबित करने में मदद की कि मेलिसा वह बच्चा था जिसे 51 साल पहले उनसे अपहरण कर लिया गया था.

द गार्जियन द्वारा किए गए समूह के एक बयान के अनुसार, मेलिसा शनिवार को फोर्ट वर्थ में परिवार के चर्च में एक समारोह में अपनी मां, पिता और अपने चार भाई-बहनों से मिलीं. मेलिसा की बहन, शेरोन हाईस्मिथ के अनुसार, उनके परिवार ने महत्वपूर्ण डीएनए और मेलिसा को खोजने के लिए सार्वजनिक रूप से जानकारी खोजने में सहायता के लिए, एक नैदानिक ​​​​प्रयोगशाला वैज्ञानिक और शौकिया वंशावली विशेषज्ञ, लिसा जो शिएले से संपर्क किया.

शेरोन हाईस्मिथ ने कहा, “हमारा परिवार उन एजेंसियों के हाथों पीड़ित है जिन्होंने इस मामले को गलत तरीके से प्रबंधित किया है.” फिलहाल, हम सिर्फ मेलिसा को जानना चाहते हैं, उसका परिवार में स्वागत करते हैं और 50 साल के खोए हुए समय को पूरा करते हैं,” उसने द गार्जियन से बात करते हुए कहा. 

यह भी पढ़ें –

— स्कूलों में छात्राओं को मुफ्त सैनिटरी पैड देने की याचिका पर SC ने केंद्र को जारी किया नोटिस

— आंध्र सरकार को SC से बड़ी राहत, अमरावती को ही राजधानी बनाने के HC के आदेश पर लगाई रोक

यह भी पढ़ें

       

Featured Video Of The Day

FIFA World Cup: Brazil ने Switzerland को हराकर राउंड ऑफ -16 में बनाई जगह



Source link

Continue Reading