Connect with us

TRENDING

क्रिप्टो करेंसी कारोबार के लिये टीडीएस दर में कटौती पर विचार करे सरकार: रिपोर्ट

Published

on



चेज इंडिया और इंडस लॉ ने ‘वर्चुअल डिजिटल संपत्ति’ (वीडीए) पर एक प्रतिशत टीडीएस के प्रभाव’ शीर्षक से अपनी संयुक्त रिपोर्ट में कहा कि क्रिप्टो कारोबार की सुविधा देने वाले मंचों/ बाजारों को अपने ग्राहकों की भी जांच-परख करनी चाहिए. इससे भविष्य में अगर कोई जोखिम की आशंका है, उसे सामने लाया जा सकता है.

रिपोर्ट के अनुसार, ‘‘व्यापक नियमन के अभाव में क्रिप्टो कारोबार पर मौजूदा एक प्रतिशत टीडीएस से एक तरफ जहां पूंजी बाहर जा रही है, वहीं दूसरी तरफ दूसरे देशों के अधिकार क्षेत्रों में आने वाले कारोबारी मंचों तथा अनधिकृत बाजार से ग्राहक बाहर निकल रहे हैं.”

उल्लेखनीय है कि सरकार ने पिछले साल एक अप्रैल से बिटकॉइन, एथेरियम समेत क्रिप्टो करेंसी जैसी ‘वर्चुअल डिजिटल संपत्ति’ के अंतरण पर 30 प्रतिशत आयकर के साथ अधिभार और उपकर लगाया था. 

साथ ही, 10,000 रुपये से अधिक ‘वर्चुअल’ डिजिटल मुद्रा के भुगतान पर एक प्रतिशत टीडीएस लगाया गया.

रिपोर्ट के अनुसार, ‘‘टीडीएस लगाने का मकसद क्रिप्टो में लेनदेन का पता लगाना था. यह लक्ष्य स्रोत पर कर कटौती दर कम कर भी हासिल किया जा सकता है. कम दर से टीडीएस से न केवल लेन-देन का पता चल सकेगा बल्कि अगर भारतीय निवेशक केवाईसी (अपने ग्राहक को जानो) युक्त भारतीय मंचों से कारोबार करते रहते हैं, तो कर संग्रह में भी इजाफा होगा.”

यह रिपोर्ट बजट से पहले जारी की गई है. वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण एक फरवरी को 2023-24 का बजट पेश करेंगी.

इसमें यह भी सुझाव दिया गया है कि सुरक्षा और निगरानी उद्देश्य से, सरकार को आधार नियमों की तरह सभी क्रिप्टो बाजारों/मंचों को निवेशकों/कारोबारियों कर विस्तृत केवाईसी सत्यापन करने को कहना चाहिए.

चेज इंडिया और इंडस लॉ ने रिपोर्ट में यह भी कहा कि कई क्रिप्टो बाजार नियम के दायरे में आने के बावजूद टीडीएस नियमों का पालन नहीं कर रहे हैं. कई मामले में देखा गया है कि गलत तरीके से क्रिप्टो मंच ने छूट प्राप्त की हुई है. इन खामियों को दूर किये जाने की जरूरत है.

Featured Video Of The Day

नवदीप सूरी ने NDTV से कहा – “मुलाकात से और मजबूत होंगे भारक- मिस्र के संबंध”



Source link

TRENDING

पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ का निधन, दुबई में ली आखिरी सांस

Published

on

By



पाकिस्तान की पूर्व राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ का निधन हो गया है। वह लंबी बीमारी से पीड़ित थे। दुबई के निजी अस्पताल में उनका इलाज चल रहा था। पाकिस्तानी मीडिया ने उनके निधन के खबर की पुष्टी की है।



Source link

Continue Reading

TRENDING

VIDEO: वंदे भारत एक्सप्रेस में सर्व हो रहा है ‘खराब क्वालिटी’ का खाना? यात्री ने की शिकायत

Published

on

By


नई दिल्ली:

वंदे भारत एक्सप्रेस को देश के प्रीमियम रेल गाड़ियों में से एक माना जाता है. इसकी सबसे बड़ी वजह ट्रेन में यात्रा करने वाले यात्रियों को मिलने वाली सुविधाएं है. लेकिन इन दिनों वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन गलत वजहों से चर्चाओं में है. दरअसल, इस ट्रेन में सर्व होने वाले खाने का एक वीडियो इन दिनों जमकर वायरल हो रहा है. इस वीडियो में दिख रहा है कि वंदे भारत ट्रेन में किस तरह से खराब क्वालिटी का खाना दिया जा रहा है.

यह भी पढ़ें

इस वीडियो को खुद वंदे भारत एक्सप्रेस में यात्रा कर रहे एक यात्री ने बनाया है. वीडियो करीब एक महीने पहले शुरू हुई वंदे भारत ट्रेन का बताया जा रहा है. यह वीडियो को उस समय बनाया गया है जब ट्रेन विशाखापत्तनम से हैदराबाद जा रही थी. 

वायरल हो रहे इस वीडियो में दिख रहा है कि वंदे भारत से यात्रा कर रहा एक यात्री खाने के पैकेट में मिले समोसे को दबा रहा है औऱ समोसे से काफी तेल निकल रहा है. यात्री ने इस वीडियो को ट्वीट करते हुए लिखा कि वंदे भारत ट्रेन में खाना काफी महंगा है, लेकिन उसकी क्वालिटी उतनी ही खराब है.

यात्री के इस वीडियो पर IRCTC ने भी अपनी प्रतिक्रिया दी है. IRCTC इस वीडियो के लेकर एक ट्वीट किया और लिखा कि आपकी शिकायत को लेकर संबंधित अधिकारी को सूचित किया जा चुका है. उचित कदम उठाया जाएगा. 

बता दें वंदे भारत एक्सप्रेस पिछले साल उस समय भी चर्चाओं में आ गया था जब बेयरिंग में खराबी के कारण ट्रेन के पहिए जाम हो गए थे. नई दिल्ली-वाराणसी रूट पर चलने वाली वंदे भारत ट्रेन (ट्रेन नंबर 22436) में यह तकनीकी गड़बड़ी सामने आई थी. इसके चलते यात्रियों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा था. उत्तर मध्य रेलवे के दनकौर और वैर स्टेशनों के बीच वंदे भारत ट्रेन के C-8 कोच के ट्रैक्शन मोटर में बेयरिंग डिफेक्ट आ गया था. इसके बाद खुर्जा स्‍टेशन पर यात्रियों को शताब्‍दी ट्रेन से रवाना किया गया था. इसके कारण ट्रेन अपने निर्धारित समय से काफी लेट चल रही थी. 

ट्रेन में तकनीकी गड़बड़ी की जानकारी मिलने के बाद एडीआरएम दिल्‍ली ने अपनी टीम के साथ इस ट्रेन का निरीक्षण किया था. इसके बाद एनसीआर टीम की मदद से बेयरिंग जाम को ठीक किया गया था. हालांकि, तकनीकी गड़बड़ी के कारण ट्रेन को खुर्जा स्‍टेशन तक 20 किमी प्रति घंटे की सीमित गति से लाया गया था. 

Featured Video Of The Day

सारा अली खान वीकेंड पर जुहू में आईं नजर





Source link

Continue Reading

TRENDING

कल मार्केट खुले उससे पहले जान लें इस हफ्ते का कौन रहा बाजीगर, मिल जाएगी मालामाल होने की टेक्निक

Published

on

By


Photo:PTI कल मार्केट खुले उससे पहले जान लें इस हफ्ते का बाजीगर

Stock Market Top 10 Share: आज इस हफ्ते का आखिरी दिन है। यह सप्ताह कई मायनों में खास रहा है। बजट पेश होने से सेंसेक्स में हुई उथल-पुथल का गवाह बनने और अडानी ग्रुप के शेयर के डूबने तक सबकुछ इस हफ्ते ने देखा है। कुछ लोग इस दौरान अडानी ग्रुप से भी पैसा कमा लिए तो कुछ अच्छे दिन के इंतजार में अभी दिन गिन रहे हैं। कल वापस से मार्केट खुलेगा। निवेशक अच्छे शेयर की तलाश में फिर से जुट जाएंगे पैसे लगाएंगे और नफा-नुकसान के भागीदार बनेंगे। ऐसे में एक नजर इस बात पर भी डाल लेना जरूरी हो जाता है कि इस हफ्ते किस कंपनी के शेयर की चांदी रही और उसका मार्केट कैप कितना बढ़ा?

ये है टॉप-10 कंपनियों का हाल

सेंसेक्स की टॉप-10 कंपनियों में से नौ के बाजार पूंजीकरण (मार्केट कैप) में बीते सप्ताह सामूहिक रूप से 1.88 लाख करोड़ रुपये की बढ़ोतरी हुई। सबसे अधिक लाभ में आईटीसी रही। बीते सप्ताह बीएसई का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स 1,510.98 अंक या 2.54 प्रतिशत के लाभ में रहा। रिलायंस इंडस्ट्रीज को छोड़कर टॉप-10 कंपनियों में अन्य के बाजार मूल्यांकन में उछाल आया और उनका बाजार पूंजीकरण सामूहिक रूप से बढ़कर 1,88,366.69 करोड़ रुपये तक जा पहुंचा। आईटीसी का बाजार मूल्यांकन 43,321.81 करोड़ रुपये बढ़कर 4,72,353.27 करोड़ रुपये पर पहुंच गया। इन्फोसिस की बाजार हैसियत 34,043.38 करोड़ रुपये बढ़कर 6,72,935.25 करोड़ रुपये रही। आईसीआईसीआई बैंक का बाजार पूंजीकरण 32,239.66 करोड़ रुपये की बढ़ोतरी के साथ 6,02,749 करोड़ रुपये पर और टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज (टीसीएस) का 26,143.92 करोड़ रुपये की वृद्धि के साथ 12,74,026.80 करोड़ रुपये पर पहुंच गया। एचडीएफसी बैंक का बाजार पूंजीकरण 23,900.84 करोड़ रुपये की वृद्धि के साथ 9,25,188.45 करोड़ रुपये तथा भारती एयरटेल का 10,432.23 करोड़ रुपये के उछाल के साथ 4,42,015.45 करोड़ रुपये रहा। 

रिलायंस को हुआ घाटा

हिंदुस्तान यूनिलीवर का बाजार मूल्यांकन 7,988.61 करोड़ रुपये बढ़कर 6,21,678.35 करोड़ रुपये पर पहुंच गया। एचडीएफसी की बाजार हैसियत 6,503.28 करोड़ रुपये की वृद्धि के साथ 4,92,313.07 करोड़ रुपये रही। भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) का बाजार पूंजीकरण 3,792.96 करोड़ रुपये की बढ़ोतरी के साथ 4,85,900.49 करोड़ रुपये रहा। हालांकि, रिलायंस इंडस्ट्रीज का बाजार मूल्यांकन 5,885.97 करोड़ रुपये घटकर 15,75,715.14 करोड़ रुपये रह गया। टॉप 10 कंपनियों की सूची में रिलायंस इंडस्ट्रीज पहले स्थान पर कायम रही। उसके बाद क्रमश: टीसीएस, एचडीएफसी बैंक, इन्फोसिस, हिंदुस्तान यूनिलीवर, आईसीआईसीआई बैंक, एचडीएफसी, एसबीआई, आईटीसी और भारती एयरटेल का स्थान रहा। 

Latest Business News





Source link

Continue Reading