Connect with us

TRENDING

कोविड के बाद इस देश में फैली नई रहस्यमयी बीमारी, सख्त लॉकडाउन लागू, दिए गए ये निर्देश

Published

on


Image Source : FILE PHOTO
उत्तर कोरिया की राजधानी में लॉकडाउन

उत्तर कोरिया की राजधानी प्योंगयांग में सांस से जुड़ी बीमारी बढ़ने के मामले सामने आ रहे हैं। इसे लेकर अधिकारियों ने प्योंगयांग में 5 दिनों का सख्त लॉकडाउन का ऐलान किया है। इस दौरान सभी नागरिकों को घर से बाहर निकलने पर रोक लगा दी गई है। इसके साथ ही राजधानी में मौजूद विदेशी दूतावासों को भी सरकार के आदेश का पालन करने की हिदायत दी गई है।

हालांकि, लॉकडाउन को लेकर जारी सरकारी नोटिस में कोविड-19 का जिक्र नहीं है। इसमें कहा गया है कि शहर के निवासियों को रविवार के अंत तक अपने घरों में रहने की जरुरत है। इसके साथ लोगों को रोजाना कई बार अपनी बॉडी टेम्परेचर की जानकारी देनी होगी। स्थानीय न्यूज एजेंसी की एक रिपोर्ट के मुताबिक, प्योंगयांग में एक अज्ञात सांस की बीमारी के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। इसके बाद शहर में लॉकडाउन लगा दिया गया है।

सामानों को स्टॉक करते देखे गए लोग

स्थानीय वेबसाइट में मंगलवार को बताया गया कि प्योंगयांग के लोगों में सख्त लॉकडाउन का डर है। इसके चलते लोग सामानों को स्टॉक करते देखे गए। हालांकि, अभी इस बात का पता नहीं चल पाया है कि उत्तर कोरिया के दूसरे क्षेत्रों में लॉकडाउन लगा है या नहीं। बता दें कि उत्तर कोरिया ने पिछले साल अपने पहले कोरोना की लहर की पुष्टि की थी, लेकिन अगस्त तक ऐलान कर दिया गया था कि उसने वायरस पर जीत हासिल कर ली है। हालांकि, इस देश ने कोरोना की वजह से कितने लोगों की अब तक मौत हुई है, इसकी पुष्टि कभी नहीं की।

गौरतलब है कि उत्तर कोरिया ने कभी ये नहीं बताया कि देश में कितने लोग कोरोना वायरस से संक्रमित हुए थे। उत्तर कोरिया में कोरोना टेस्टिंग मशीनों का भी अभाव था। प्योंगयांग ने कभी कोरोना के पॉजिटिव मामलों की दैनिक सूचना नहीं दी। हालांकि, इसने बताया था कि कोरोना की चपेट में इसके करीब 47 लाख नागरिक आए थे। 29 जुलाई के बाद ऐसी कोई जानकारी नहीं दी गई।

ये भी पढ़ें-

आज रिपब्लिक डे का जश्न बिगाड़ सकती है बारिश, मौसम विभाग ने जारी किया बड़ा अपडेट

मुजफ्फरपुर, हावड़ा, पुणे, लखनऊ, गाजियाबाद समेत इन रूट्स की 371 ट्रेनें कैंसिल, जारी हुई List

Latest World News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। Asia News in Hindi के लिए क्लिक करें विदेश सेक्‍शन





Source link

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

TRENDING

72 साल के दादाजी करते हैं पावर लिफ़्टिंग, 115Kg भार उठाते हैं, राष्ट्रीय स्तर पर जीते हैं कई मेडल

Published

on

By


सोचिए, अगर कोई पूरी ज़िंदगी नौकरी करने के बाद जब रिटायर होते हैं तो क्या करते हैं? यही न कि आराम से परिवार के साथ ज़िदगी गुजारते हैं. घूमते हैं, बच्चों के साथ समय बिताते हैं. मगर केरल के एल ऐसे शख्स हैं, जिन्होंने रिटायरमेंट के बाद एक अलग काम चुना. उन्होंने  पावर लिफ़्टिंग को अपना करियर बनाया. आपकी जानकारी के लिए बता दूं कि  पावर लिफ़्टिंग करने की सही उम्र 20-25 साल है. मगर 72 साल के एक शख्स की कहानी ज़रा हटके है.

यह भी पढ़ें

कौन हैं?

इनका नाम के सी श्रीनिवासन है. ये केरल के रहने वाले हैं. वैसे तो 19 साल की उम्र से ही इन्होंने बॉडी बिल्डिंग शुरु कर दी थी, मगर नौकरी के कारण इसपर ज़्यादा ध्यान नहीं दे पाए. हालांकि newindianexpress की रिपोर्ट के अनुसार, 1972 से 1984 के बीच उन्होंने कई बॉडी बिल्डिंग प्रतियोगिताओं में हिस्सा लिया.

रिटायरमेंट के बाद पावर लिफ़्टिंग की शुरुआत

रिटायर होने के बाद एक बार  के सी श्रीनिवासन ने अपना पैशन फॉलो किया. उन्होंने 60 साल की उम्र में बॉडी बिल्डिंग की शुरुआत की. उस समय उनके परिजन और दोस्त मना कर रहे थे, मगर उन्होंने इसे एक चैलेंज के तौर पर लिया. आज वो एक सफल प्रोफेशन पावर लिफ्टर हैं. 

कई राष्ट्रीय पावरलिफ़्टिंग प्रतियोगिताओं में हिस्सा ले चुके हैं

जिस उम्र में लोग शरीर से रिटायर हो जाते हैं उस उम्र में के सी श्रीनिवासन ने पूरी दुनिया को एक अलग ही राह दिखाई है. सोशल मीडिया पर लोग इनकी कहानी को जानकर बेहद खुश हैं. newindianexpress से बात करते हुए श्रीनिवासन बताते हैं वे कई राष्ट्रीय पावरलिफ़्टिंग प्रतियोगिताओं में हिस्सा ले चुके हैं. उन्होंने आंध्र प्रदेश, झारखंड, पंजाब, हिमाचल प्रदेश और जम्मू कश्मीर जाकर कई मेडल्स जीते हैं. इस उम्र में यह बहुत बड़ी उपलब्धि है.

2017 में श्रीनिवासन ने केरल में हुए एशियन पावरलिफ़्टिंग चैंपियनशिप में हिस्सा लेकर सबको चौंका दिया था. इस प्रतियोगिता में श्रीनिवासन ने गोल्ड मेडल जीता. उन्होंने स्क्वॉट और बेंचप्रेस में 85Kg और डेडलिफ़्ट में 115Kg भार उठाकर सबको पूरी तरह से हैरान कर दिया था.

बॉडी ऐसी की आज के युवा शरमा जाए

72 साल की उम्र में श्रीनिवासन की बॉडी बहुत ही ज्यादा फिट है. ऐसा लगता है कि कोई 25 साल के युवा की बॉडी है. खान-पान के बारे में वो बताते हैं कि वो बिल्कुल घर का खाना खाते हैं. 

Featured Video Of The Day

सोनिया गांधी ने कहा- “गरीबों पर मोदी सरकार का ‘मौन प्रहार’ है बजट”



Source link

Continue Reading

TRENDING

बिहार के छपरा में आज से इंटरनेट बंद, छपरा के मांझी और एकमा में धारा 144 लागू

Published

on

By


Image Source : ANI
बिहार के एडीजी जेएस गंगवार

बिहार के छपरा में जाति विवाद में एक शख्स की हत्या के बाद जबरदस्त टेंशन है। बिहार के छपरा में जिला प्रशासन ने इंटरनेट सेवाएं बंद करने का फैसला लिया है। छपरा में इंटरनेट सेवाएं आज से 8 फरवरी तक बंद रहेंगी। वहीं छपरा के मांझी और एकमा में धारा 144 भी लगायी गयी है। इतना ही नहीं बिहार सरकार ने “शांति और ला एंड ऑर्डर बनाए रखने” के लिए सारण जिले में 8 फरवरी रात 11 बजे तक 23 सोशल नेटवर्किंग और मैसेजिंग एप्लिकेशन पर भी अस्थायी रूप से प्रतिबंध लगा दिया है।

पिटाई से मौत के बाद उपद्रव और आगजनी

बता दें कि सोमवार को बिहार के सारण जिले के मांझी थाना अंतर्गत मुबारकपुर गांव में बंधक बनाकर तीन युवकों की बेरहमी से पिटाई किए जाने का मामला सामने आया था। बुरी तरह पिटाई के कारण एक युवक की मौत हो गई और दो अन्य लोग जख्मी हैं। ये विवाद इतना बड़ा कि इलाके में उपद्रव, आगजनी और तोड़फोड़ हो गई। इसी के मद्देनजर इलाके में तनाव को देखते हुए धारा 144 के तहत निषेधाज्ञा लागू कर दी गई है। 

धारा 144 लागू, हत्या कांड में दो गिरफ्तार
पुलिस मुख्यालय से सोमवार को जारी एक बयान के अनुसार सारण के मांझी थाना में वर्तमान स्थिति को देखते हुए विधि व्यवस्था बनाए रखने के लिए धारा 144 के तहत निषेधाज्ञा लागू की गई है। उल्लंघन करने वालों पर कानूनी कार्रवाई की जाएगी। बयान के मुताबिक़ वीडियोग्राफर भी रखे गए हैं, जो किसी भी तरह की गड़बड़ी मे संलिप्त लोगों का लगातार वीडियो बनाएंगे। जिले के बाहर से भी अतिरिक्त सुरक्षा बल मंगाया गया है। हत्या कांड में दो आरोपी गिरफ्तार किए जा चुके हैं। बाकियों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस उपाधीक्षक (मुख्यालय) के नेतृत्व में विशेष जांच दल का गठन किया गया है। 

फरार आरोपियों की संपत्ति की जा रही कुर्क 
पुलिस ने बताया कि दोनों मामलों (हत्या व उपद्रव/उन्माद फैलाना) के दोषियों के फरार रहने की स्थिति में तुरंत उनकी संपत्ति कुर्क करने के लिए आवश्यक कदम उठाए जा रहे हैं। सोशल मीडिया पर भड़काऊ और भ्रामक पोस्ट करने वालों के विरुद्ध मामला दर्ज किया गया है। गांव के मुखिया प्रतिनिधि विजय यादव और उसके समर्थकों पर दो फरवरी को तीन युवकों अमितेश सिंह, राहुल सिंह और आलोक सिंह को बंधक बना कर उनकी बेरहमी से पिटाई किये जाने का आरोप है, जिसमें से अमितेश की मौत हो गई है जबकि अन्य दो युवकों को इलाज के लिए पटना मेडिकल कॉलेज अस्पताल में भर्ती कराया गया है। घटना के विरोध में रविवार को उक्त गांव में आगजनी और तोड़फोड़ के बाद दोनों पक्षों के बीच तनाव व्याप्त होने की सूचना है। 

ये भी पढ़ें-

अगड़े-पिछड़े की खूनी लड़ाई…छपरा में टेंशन हाई! मॉब लिंचिंग पर बवाल, जांच के लिए SIT गठित

बिहार के छपरा में एक पार्टी में खाना खाने के बाद 50 से ज्यादा लोग हुए बीमार, कई की हालत गंभीर

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। News in Hindi के लिए क्लिक करें बिहार सेक्‍शन





Source link

Continue Reading

TRENDING

खत्म नहीं हो रही तुर्की की मुश्किल, 24 घंटे के अंदर भूकंप का तीसरा झटका; 6 रही रिक्टर स्केल पर तीव्रता

Published

on

By



तुर्की के लिए मुश्किलें खत्म होने का नाम नहीं ले रही हैं। 24 घंटे से भी कम समय के अंदर तीसरी बार तुर्की की धरती हिली है। इस बार रिक्टर स्केल पर भूकंप की तीव्रता 6 की मापी गई। यूएसजीएस ने जानकारी दी।



Source link

Continue Reading