Connect with us

Business

कारोबारी मंदी और जंग से तिरुपुर हुआ तंग

Published

on


शाइन जैकब / चेन्नई, September 29, 2022






 देश में परिधान के सबसे बड़े ठिकाने तिरुपुर को चालू वित्त वर्ष के दौरान निर्यात मांग में 30 से 40 फीसदी गिरावट आने की आशंका है। अमेरिका में मंदी और यूरोप में युद्ध के कारण निर्यात को असली झटका लगा है। वित्त वर्ष 2021-22 में तिरुपुर से निर्यात 34 फीसदी बढ़ गया था। मगर इस समय तिरुपुर की कुछ इकाइयां कुछ समय के लिए बंद कर दी गई हैं और बाकी इकाइयों में सात के बजाय पांच दिन ही काम हो रहा है। काम हो भी रहा है तो केवल एक पाली में।

पिछले वित्त वर्ष में देश के कुल कपड़ा निर्यात में तिरुपुर का योगदान करीब 54.2 फीसदी था। अप्रैल से अगस्त के बीच यहां से 15,800 करोड़ रुपये का निर्यात हुआ था, जो पिछले वित्त वर्ष की समान अवधि से अधिक है। फिर भी निर्यात में गिरावट की आशंका जताई जा रही है। वित्त वर्ष 2021-22 के दौरान तिरुपुर से निर्यात बढ़कर 33,525 करोड़ रुपये हो गया, जो 2020-21 में 25,000 करोड़ रुपये ही था।

तिरुपुर एक्सपोर्टर्स एसोसिएशन (टीईए) के अध्यक्ष राजा एम षणमुगम ने कहा, ‘अधिक कीमत के बावजूद पहले पांच महीनों में मांग बढ़ गई। लेकिन अब अगले महीनों के लिए ऑर्डरों में काफी गिरावट दिख रही है। हालिया वैश्विक परिस्थितियां देखते हुए हमें लगता है कि पूरे वित्त वर्ष में कुल निर्यात 30 से 40 फीसदी गिर सकता है।’ निर्यात ऑर्डर के लिहाज से चरम इसी महीने आने की उम्मीद थी। टीईए का कहना है कि पिछले साल तिरुपुर से सबसे ज्यादा 40 फीसदी निर्यात अमेरिका को किया गया था और 35 फीसदी यूरोप को हुआ था।

तिरुपुर एक्सपोर्टर्स ऐंड मैन्युफैक्चरर एसोसिएशन (टीईएएमए) के अध्यक्ष एमपी मुतुरत्नम ने कहा, ‘कच्चे माल के दाम बढ़ गए हैं। रूस-यूक्रेन युद्ध का यूरोप से आने वाली मांग पर काफी असर पड़ा है। अमेरिका में आर्थिक मंदी की आशंका से भी अग्रिम ऑर्डर प्रभावित हो रहे हैं।’

विनिर्माताओं का कहना है कि खपत घटने के कारण देसी बाजार में भी हालात अच्छे नहीं दिख रहे हैं। मुतुरत्नम ने कहा, ‘भारतीय बाजार में खरीद की क्षमता कम है। साथ ही धागे की कीमतें भी 400 रुपये प्रति किलोग्राम हो गई हैं, जो 2020 में 220 रुपये किलो ही थीं। इससे हमारे मुनाफे में बहुत कमी आई है।’

कपास की कीमतों में तेजी जारी रहने के कारण धागा मिलों को भी झटका लगा है। तमिलनाडु ​स्पिनिंग मिल्स एसोसिएशन (टस्मा) के मुख्य सलाहकार के वेंकटचलम ने कहा, ‘मांग में गिरावट के कारण कपड़ा उद्योग धागा नहीं ले रहा है और इसलिए हमारा स्टॉक बढ़ गया है। लोग नया स्टॉक लेने को तैयार नहीं हैं। कपास की ऊंची कीमत भी हमारे लिए चिंता का विषय है।’ कपास की कीमतें करीब 1 लाख रुपये प्रति गांठ से घटकर अब 75,000 रुपये गांठ ही रह गई हैं मगर 2021 की 46,000 रुपये प्रति गांठ के मुकाबले अब भी दाम बहुत अधिक हैं।

भारत दुनिया का सबसे बड़ा कपास उत्पादक देश है लेकिन परिधान निर्यात के मामले में वह चीन, बांग्लादेश, वियतनाम, कंबोडिया और श्रीलंका के बाद छठे पायदान पर मौजूद है।

मुतुरत्नम ने कहा, ‘मुख्य समस्या यह है कि सरकार सूक्ष्म, लघु एवं मझोले उद्यमों को प्राथमिकता नहीं दे रही है। सभी योजनाएं बड़ी कंपनियों के लिए तैयार की जा रही हैं। यदि हमारी समस्याओं का समाधान नहीं किया गया तो हमें वैश्विक मांग के मोर्चे पर बड़ी समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है।’



Source link

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Business

सेंसेक्स 400 अंक से अधिक गिर गया, निफ्टी 17,900 के नीचे बंद हुआ

Published

on

By


डिजिटल डेस्क, मुंबई। देश का शेयर बाजार कारोबारी सप्ताह के पांचवे और आखिरी दिन (06 जनवरी 2023, शुक्रवार) गिरावट के साथ बंद हुआ। इस दौरान सेंसेक्स और निफ्टी दोनों ही लाल निशान पर रहे। बंबई स्टॉक एक्सचेंज (BSE) के 30 शेयरों पर आधारित संवेदी सेंसेक्स 452.90 अंक यानी कि 0.75% की गिरावट के साथ 59,900.37 के स्तर पर बंद हुआ।

वहीं नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (NSE) के 50 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक निफ्टी 132.70 अंक यानी कि 0.74% की गिरावट के साथ 17,859.45 के स्तर पर बंद हुआ।

आपको बता दें कि, सुबह बाजार सपाट स्तर पर खुला था। इस दौरान सेंसेक्स 77.23 अंक यानी कि 0.13% बढ़कर 60,430.50 के स्तर पर खुला था। वहीं निफ्टी 24.60 अंक यानी कि 0.14% बढ़कर 18,016.80 के स्तर पर खुला था।

जबकि बीते कारोबारी दिन (05 जनवरी 2023, गुरुवार) बाजार सपाट स्तर पर खुला था और गिरावट के साथ बंद हुआ था। इस दौरान सेंसेक्स 304.18 अंक यानी कि 0.50% गिरावट के साथ 60,353.27 के स्तर पर बंद हुआ था। वहीं निफ्टी 50.80 अंक यानी कि 0.28% गिरावट के साथ 17,992.15 के स्तर पर बंद हुआ था।



Source link

Continue Reading

Business

सेंसेक्स में 77 अंकों की मामूली बढ़त, निफ्टी 18 हजार के पार खुला

Published

on

By


डिजिटल डेस्क, मुंबई। देश का शेयर बाजार कारोबारी सप्ताह के पांचवे और आखिरी दिन (06 जनवरी 2023, शुक्रवार) भी सपाट स्तर पर खुला। इस दौरान सेंसेक्स और निफ्टी दोनों ही हरे निशान पर रहे। बंबई स्टॉक एक्सचेंज (BSE) के 30 शेयरों पर आधारित संवेदी सेंसेक्स 77.23 अंक यानी कि 0.13% बढ़कर 60,430.50 के स्तर पर खुला।

वहीं नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (NSE) के 50 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक निफ्टी 24.60 अंक यानी कि 0.14% बढ़कर 18,016.80 के स्तर पर खुला।

शुरुआती कारोबार के दौरान करीब 1205 शेयरों में तेजी आई, 679 शेयरों में गिरावट आई और 115 शेयरों में कोई बदलाव नहीं हुआ।

आपको बता दें कि, बीते कारोबारी दिन (05 जनवरी 2023, गुरुवार) बाजार सपाट स्तर पर खुला था इस दौरान सेंसेक्स 44.66 अंक यानी कि 0.07% बढ़कर 60702.11 के स्तर पर खुला था। वहीं निफ्टी 17 अंक यानी कि 0.09% ऊपर 18060.00 के स्तर पर खुला था। 

जबकि, शाम को बाजार गिरावट के साथ बंद हुआ था। इस दौरान सेंसेक्स 304.18 अंक यानी कि 0.50% गिरावट के साथ 60,353.27 के स्तर पर बंद हुआ था। वहीं निफ्टी 50.80 अंक यानी कि 0.28% गिरावट के साथ 17,992.15 के स्तर पर बंद हुआ था।



Source link

Continue Reading

Business

पेट्रोल- डीजल की कीमतें हुईं अपडेट, जानें आज बढ़े दाम या मिली राहत

Published

on

By



डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। पेट्रोल- डीजल (Petrol- Diesel) की कीमतों को लेकर लंबे समय से कोई बढ़ा अपडेट देखने को नहीं मिला है। जबकि अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतें कई बार जबरदस्त तरीके से गिर चुकी हैं। हालांकि, जानकारों का मानना है कि, आने वाले दिनों में कच्चा तेल महंगा होने पर इसका असर देश में दिखाई दे सकता है। फिलहाल, भारतीय तेल विपणन कंपनियों (इंडियन ऑयल, भारत पेट्रोलियम और हिंदुस्तान पेट्रोलियम) ने वाहन ईंधन के दाम में किसी तरह का कोई बदलाव नहीं किया है।

बता दें कि, आखिरी बार बीते साल में 22 मई 2022 को आमजनता को महंगाई से राहत देने केंद्र सरकार द्वारा एक्‍साइज ड्यूटी में कटौती की गई थी। जिसके बाद पेट्रोल 8 रुपए और डीजल 6 रुपए प्रति लीटर तक सस्‍ता हो गया था। इसके बाद लगातार स्थिति ज्यों की त्यों बनी हुई है। आइए जानते हैं वाहन ईंधन के ताजा रेट…

महानगरों में पेट्रोल-डीजल की कीमत
इंडियन ऑयल (Indian Oil) की वेबसाइट के अनुसार आज देश की राजधानी दिल्ली में पेट्रोल 96.72 रुपए प्रति लीटर मिल रहा है। वहीं बात करें डीजल की तो दिल्ली में कीमत 89.62 रुपए प्रति लीटर है। आर्थिक राजधानी मुंबई में पेट्रोल 106.35 रुपए प्रति लीटर है, तो एक लीटर डीजल 94.27 रुपए में उपलब्ध होगा। 

इसी तरह कोलकाता में एक लीटर पेट्रोल के लिए 106.03 रुपए चुकाना होंगे जबकि यहां डीजल 92.76 प्रति लीटर है। चैन्नई में भी आपको एक लीटर पेट्रोल के लिए 102.63 रुपए चुकाना होंगे, वहीं यहां डीजल की कीमत 94.24 रुपए प्रति लीटर है।   

ऐसे जानें अपने शहर में ईंधन की कीमत
पेट्रोल-डीजल की रोज की कीमतों की जानकारी आप SMS के जरिए भी जान सकते हैं। इसके लिए इंडियन ऑयल के उपभोक्ता को RSP लिखकर 9224992249 नंबर पर भेजना होगा। वहीं बीपीसीएल उपभोक्ता को RSP लिखकर 9223112222 नंबर पर भेजना होगा, जबकि एचपीसीएल उपभोक्ता को HPPrice लिखकर 9222201122 नंबर पर भेजना होगा, जिसके बाद ईंधन की कीमत की जानकारी प्राप्त की जा सकती है।

 



Source link

Continue Reading