Connect with us

Sports

आकाश चोपड़ा बोले- हमें अश्विन ने ये एहसास करा दिया कि WTC फाइनल में न खिलाकर गलती कर दी

Published

on


ऐप पर पढ़ें

आकाश चोपड़ा ने दावा किया है कि रविचंद्रन अश्विन ने भारतीय टीम मैनेजमेंट को ये एहसास दिलाया है कि विश्व टेस्ट चैंपियनशिप फाइनल के लिए उन्हें बाहर करके उन्होंने शायद गलती की थी। अश्विन ने WTC फाइनल के बाद पहले ही टेस्ट मैच की पहली पारी में वेस्टइंडीज की सरजमीं पर 24.3 ओवरों में 60 रन देकर 5 विकेट हासिल किए और बुधवार 12 जुलाई को रोसेउ वेस्टइंडीज को 150 रन पर समेट दिया। भारत ने बिना कोई विकेट खोए 80 रन बना लिए हैं। 

पहले दिन के खेल की समीक्षा करते हुए आकाश चोपड़ा ने अपने यूट्यूब चैनल पर कहा कि अश्विन ने आलोचकों को गलत साबित कर दिया। उन्होंने कहा, “पहले बल्लेबाजी करने उतरी वेस्टइंडीज की टीम 150 रन पर आउट हो गई। अश्विन ने पांच विकेट लिए। क्या हमने डब्ल्यूटीसी फाइनल में गलती की, उन्होंने हमें इसका थोड़ा एहसास कराया।” ऑफ स्पिनर अश्विन को आकाश ने प्री-सीरीज प्रिडिक्शन में प्लेयर ऑफ द सीरीज घोषित किया था, जो सही लग रहा है। 

उन्होंने आगे कहा, “डोमिनिका या वेस्टइंडीज में जिस तरह की पिचें हैं, सीरीज से पहले मैंने भविष्यवाणी की थी कि रविचंद्रन अश्विन प्लेयर ऑफ द सीरीज होंगे और वह फिलहाल ट्रैक पर हैं। यदि ऐसे ही चलता रहा तो वह प्लेयर ऑफ द सीरीज बन जाएंगे।” अश्विन का रिकॉर्ड वैसे भी वेस्टइंडीज के खिलाफ दमदार है। वे चार शतक इस टीम के खिलाफ जड़ चुके हैं। वे 65 विकेट भी इस टीम के खिलाफ चटका चुके हैं। इससे साफ लगता है कि वे इस टीम के खिलाफ खेलना पसंद करते हैं। 

आर अश्विन ने टेस्ट क्रिकेट में लगाई रिकॉर्ड्स की झड़ी, दमदार गेंदबाजी कर रचा इतिहास

आकाश चोपड़ा ने रविचंद्रन अश्विन की सटीकता को उनकी ताकत बताया और कहा, “लगातार एक ही स्पॉट पर गेंदबाजी करते रहना उनकी खूबी है। ये काम पहले बहुत आसान हुआ करता था, लेकिन आजकल लोग ऐसा नहीं करते। केवल तीन या चार स्पिनर हैं जो गेंद को एक स्पॉट पर पिच करने में सक्षम हैं, एक हैं अश्विन, दूसरे हैं नाथन लियोन, तीसरे हैं रविंद्र जडेजा और चौथा ढूंढने में आपको थोड़ा अधिक समय लगेगा।” उन्होंने अश्विन के बारे में कहा गया कि वे वैराइटी से गेंदबाजी करते हैं।  



Source link

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Sports

Asian Games : भारतीय हॉकी टीम ने रिकॉर्ड अंतर से पाकिस्तान को हराकर सेमीफाइनल में बनाई जगह, 41 साल पुराना हिसाब किया चुकता

Published

on

By



भारत ने शनिवार को एकतरफा मुकाबले में पाकिस्तान को 10-2 से हराकर सेमीफाइनल के लिए क्वालीफाई कर लिया है। गोल के अंतर से हॉकी के इतिहास में पाकिस्तान के खिलाफ भारत की ये सबसे बड़ी जीत है।



Source link

Continue Reading

Sports

Asian Games 2023: एथलेटिक्स में भारत ने रचा इतिहास, एक ही इवेंट में जीते दो मेडल

Published

on

By


Image Source : PTI
एशियन गेम्स

Asian Games 2023: हांगझू में चल रहे 19वें एशियाई खेलों में शनिवार, 30 सितंबर को सातवें दिन की समाप्ति तक भारत की झोली में कुछ और पदक जुड़ गए, जब मेंस 10,000 मीटर दौड़ के फाइनल में कार्तिक कुमार और गुलवीर सिंह क्रमशः दूसरे और तीसरे स्थान पर रहे। बहरीन के बिरहानु यमाताव बालेव ने 28:13:62 का समय लेकर स्वर्ण पदक जीता, जबकि कार्तिक और गुलवीर ने भारत को 37वां और 38वां पदक जीतने में मदद की। कार्तिक कुमार ने सिल्वर और गुलवीर सिंह ने ब्रांज मेडल अपने नाम किया।

कार्तिक 28:15:38 के टाइमस्टैम्प के साथ दूसरे स्थान पर रहे और गुलवीर 28:17:21 के टाइमस्टैम्प के साथ अपने हमवतन से कुछ सेकंड पीछे थे। शुक्रवार को महिला शॉटपुट में किरण बलियान के ऐतिहासिक कांस्य पदक के बाद मौजूदा एशियाई खेलों में एथलेटिक्स में यह भारत का दूसरा और तीसरा पदक था।

गोल्ड से चूके कार्तिक 

कार्तिक और गुलवीर दोनों ने 10 किमी दौड़ में अपना व्यक्तिगत सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करते हुए भारत के लिए डबल पोडियम फिनिश सुनिश्चित की। कार्तिक और गुलवीर काफी पीछे थे क्योंकि बलेव और दावित फिकाडु की बहरीन जोड़ी दौड़ में सबसे आगे थी। हालांकि, यह जोड़ी अंतिम 100 मीटर में पदक की दौड़ में आ गई, जब एक के बाद एक तीन एथलीटों के बीच टक्कर से उन्हें इसका फायदा उठाने में मदद मिली। कार्तिक ने आखिरी कुछ सेकंड में काफी मेहनत की लेकिन गोल्ड मेडल जीतने से सिर्फ दो सेकंड पीछे रह गए। भारत के पास अब 10 गोल्ड, 14 सिल्वर और 14 ब्रांज मेडल के साथ 38 पदक हो गए हैं।

भारत के लिए रहा शानदार दिन

भारत रविवार को आठवें दिन कुछ और पदक जोड़ेगा, जिसमें सुतीर्था और अयहिका की मुखर्जी जोड़ी ने विश्व चैंपियन चीन को हराकर पहली बार महिला डबल्स टेबल टेनिस में पदक पक्का किया। यह कोर्ट पर भारत के लिए पहले से ही एक यादगार दिन था क्योंकि रोहन बोपन्ना और रुतुजा भोसले की मिक्स्ड डब्ल्स टेनिस जोड़ी ने स्वर्ण पदक जीता, जबकि मेंस स्क्वैश टीम ने रोमांचक फाइनल में पाकिस्तान पर जीत हासिल की और अभय सिंह ने अंतिम गेम 12-10 से जीत लिया।





Source link

Continue Reading

Sports

एशियाड में भारत की पुरुष बैडमिंटन टीम ने रचा इतिहास, 72 साल में पहली बार हुआ ऐसा

Published

on

By


Image Source : TWITTER
Indian Men Badminton Team, Asian Games 2023

हांगझोउ में खेले जा रहे 19वें एशियन गेम्स में सातवां दिन भारत के लिए काफी यादगार रहा। आज के दिन भारत के लिए दो गोल्ड मेडल आए तो भारत की पुरुष हॉकी टीम ने पाकिस्तान के खिलाफ ऐतिहासिक 10-2 की जीत दर्ज की। वहीं टेबल टेनिस में महिला जोड़ी ने विश्व चैंपियन चीनी जोड़ी को हराया। स्क्वैश में पाकिस्तान को हराकर भारत ने गोल्ड जीता। इसके बाद शाम होते-होते भारत की पुरुष बैडमिंटन टीम ने इतिहास रच दिया। भारतीय टीम ने रिपब्लिक ऑफ कोरिया को 3-2 से हराया और पहली बार एशियन गेम्स के इतिहास में फाइनल में जगह बनाई।

भारत को मिलेगा एशियाड का चौथा मेडल

1951 में पहली बार एशियन गेम्स आयोजित हुए थे। उसके 72 साल बाद अब पहली बार भारत की पुरुष बैडमिंटन टीम ने फाइनल में जगह बनाई है। यानी भारतीय टीम ने अब अपना सिल्वर मेडल पक्का कर लिया है। यह पुरुष बैडमिंटन टीम इवेंट में भारत का चौथा मेडल होगा और पहला सिल्वर कम से कम होगा या पहला गोल्ड भी हो सकता है। पहली बार भारत की पुरुष बैडमिंटन टीम ने 1986 में सियोल में सैय्यद मोदी के नेतृत्व में ब्रॉन्ज मेडल जीता था। जबकि 1982 और 1974 में भी भारत ने इस प्रतियोगिता में कांस्य अपने नाम किया था।

 

सेमीफाइनल में हुई रोमांचक जंग

सेमीफाइनल मुकाबले में पांच मैच खेले गए जिसमें 3-2 से भारत ने कोरिया को मात दी। पहले मैच में वर्ल्ड चैंपियनशिप के ब्रॉन्ज मेडलिस्ट एचएस प्रणय ने कोरियाई प्रतिद्वंद्वी को पुरुष एकल में 18-21, 21-16, 21-19 से हराया। इसके बाद भारत की स्टार जोड़ी सात्विक साईराज रैंकीरेड्डी और चिराग शेट्टी के हाथ निराशा लगी और भारत 2-0 की लीड नहीं ले पाया। भारतीय जोड़ी यहां 18-21, 21-16, 21-19 से हार गई। 

kidambi srikanth

Image Source : PTI

kidambi srikanth

फिर लक्ष्य सेन ने युंग्यू ली को 21-7, 21-9 से सीधे गेम में हराकर लीड को 2-1 कर दिया। उसके बाद अर्जुन मदाथिल रामचंद्रन और ध्रुव कपिला की भारतीय जोड़ी डबल्स में 16-21 और 11-21 से हार गई। स्कोर 2-2 था। अंत में भारत के किदांबी श्रीकांत ने 12-21, 21-16 और 21-14 से मैच जीतकर भारत को 3-2 से जीत दिला दी। अब फाइनल में भारत का सामना चीन से होगा जिसने सेमीफाइनल में जापान को 3-1 से मात दी।

यह भी पढ़ें:-

Asian Games 2023: टेबल टेनिस में भारत की ऐतिहासिक जीत, एक और मेडल हुआ पक्का

वनडे वर्ल्ड कप में इन 5 खिलाड़ियों ने बनाया सबसे बड़ा स्कोर, सिर्फ दो ने ही लगाई डबल सेंचुरी





Source link

Continue Reading